Connect with us

आध्यात्म

KarvaChauth2018 : जानें आज आपके शहर में कितने बजे निकलेगा चांद

Published

on

करवा चौथ के व्रत का इंतजार हर विवाहित महिला को रहता हैं। इस व्रत में सूर्योदय से लेकर चांद दिखने तक महिलाएं निर्जल व्रत रखती है। करवाचौथ पर पूजा के बाद रात में चांद निकलने के बाद ही महिलाएं अन्न-जल ग्रहण करती हैं। इसलिए कई बार चांद निकलने में नखरे दिखते हैं। इस साल करवा चौथ आज यानी कि शनिवार 27 तारीख को है। इस बार करवा चौथ पर पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 6 बजकर 4 मिनट से लेकर 7 बजकर 19 मिनट तक रहेगा। आइये आपको बताते हैं कि आज करवा चौथ पर शाम को चांद कब निकलेगा यानि चंद्र दर्शन का समय क्या रहेगा?

IMAGE COPYRIGHT : GOOGLE

चंद्रमा निकलने का समय – रात 7.28 से 8:14 बजे तक (संपूर्ण भारत)

पूजन का शुभ मुहूर्त – शाम 5:40 से शाम 6:47 बजे।

कहां – कितने बजे चंद्र दर्शन
दिल्ली – 7.55
लखनऊ – 7.43
पटना – 7.28
रांची – 7.31
मुरादाबाद – 7.49
बरेली – 7.49

IMAGE COPYRIGHT : GOOGLE

सहारनपुर – 7.52
मुजफ्फरनगर – 7.52
बिजनौर – 7.52
उत्तर प्रदेश – 8:31
आगरा –
7.55
गाजियाबाद –
7.56
उत्तराखंड  – 
8:35
प्रयागराज – 7.42
कानपुर – 7.46
 मेरठ-नोएडा – 7.53

सबसे पहले करवा चौथ पर चंद्रमा कोलकाता शहर में शाम को 7 बजकर 22 मिनट पर ही निकल जाएंगे।

Continue Reading

आध्यात्म

गणेश चतुर्थीः इस शुभ मुहूर्त में करें मूर्ति स्थापना

Published

on

नई दिल्ली। गणेश चतुर्थी आज यानी 2 सितम्बर धूमधाम से पूरे देश में मनाया जा रहा है। आज के दिन शुभ मुहूर्त में पूजा करने पर भगवान गणेश प्रसन्न होते हैं और भक्तों को विशेष फल मिलता है। ऐसे में हम आपको बताएंगे कि गणेश चतुर्थी पर भगवान गणेश की पूजा का शुभ मुहूर्त कब है।

गणेशजी की प्रतिमा को 2 सितंबर को विधि विधान से घर में स्थापित किया जाएगा। 9 दिनों तक विधिवत पूजा अर्चना के बाद 10 वें दिन यानि 12 सितंबर को मूर्ति विसर्जन कर दिया जाएगा।

हिन्दू पौराणिक कथाओं के अनुसार गणेश जी का जन्म भादप्रद माह के शुक्ल पक्ष कि चतुर्थी को हुआ था। इस वर्ष यह दिन 2 सितंबर 2019 को पड़ रहा है। मान्यता के अनुसार गणेश चतुर्थी के दिन दोपहर का समय पूजा अर्चना के लिए बड़ा ही शुभ माना जाता है।

इस वर्ष 2 सितंबर गणेश चतुर्थी की पूजा की अवधि 2 घण्टे 32 मिनट तक रहेगी। गणेश पूजा का शुभ मुहर्त सुबह 11 :04 से दोपहर 13 :37 तक रहेगा।

गणेश जी की मूर्ति स्थापना के बाद मूर्ति के सामने दिया जलाए। इसके बाद गणेश जी को मोदक का भोग लगाएं। ऐसा आप लगतार नौ दिन तक करें और 10वें दिन विधिपूर्वक गणपति जी की मूर्ति विसर्जित कर दें।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending