Connect with us

IANS News

अनिल कुंबले की कंपनी ने लांच किया एआई तकनीक युक्त पावर बैट

Published

on

मुंबई, 11 अक्टूबर (आईएएनएस)| भारतीय टीम के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले के तकनीकी स्टार्ट-अप स्पेकटाकोम तकनीक ने गुरुवार को एक ‘पावर बैट’ लांच किया। इस बल्ले को माइक्रोसॉफ्ट अजुर क्लाउड प्लेटफॉर्म और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) तथा इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) सर्विस से युक्त बनाया गया है। यह पावर बैट खिलाड़ियों के प्रदर्शन को अलग-अलग पैमानों पर परखते हुए उससे संबंधित सही डाटा प्रदान करेगा।

स्पेकटाकोम और माइक्रोसॉफ्ट ने स्टार इंडिया को अपना प्रसारण साझेदार नियुक्त किया है ताकि प्रशंसकों और समर्थकों तक वह नए तरह से जुड़ सकें।

अनिल कुंबले ने कहा, “हमारा मकसद खेल विश्लेषण के सही समय का उपयोग करते हुए प्रशंसकों को जोड़ खेल को उनके और करीब लाना है। साथ ही, यह सुनिश्चित करना भी जरूरी है कि तकनीक का उपयोग अंतत: है और इससे खेल तथा खिलाड़ियों को किसी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए।”

टीम के पूर्व कोच ने कहा, “माइक्रोसॉफ्ट के साथ हमने एक सुरक्षित हल निकाला और स्टार इंडिया के साथ हम इससे प्रशंसकों तक जुड़ सकेंगे।”

माइक्रोसॉफ्ट के कार्यकारी उपाध्यक्ष पैगी जॉनसन ने आईएएनएस से कहा, “हम स्पेकटाकोम के साथ इसलिए जुड़े हैं ताकि हम नई बातों और नए अनुभवों को क्रिकेट प्रशंसकों तथा खिलाड़ियों तक पहुंचा सकें जो खेल के अनुभव को पूरी तरह से बदल देगा।”

 

Continue Reading

IANS News

विधानमंडल सत्र 18 से, हंगामेदार रहने के आसार

Published

on

लखनऊ, 17 दिसम्बर (आईएएनएस)| उत्तर प्रदेश में 18 दिसंबर से शुरू हो रहे विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के काफी हंगामेदार रहने के आसार हैं। विपक्षी पार्टियों ने कानून व्यवस्था को लेकर सरकार को घेरने की योजना बनाई है। इसकी तैयारी को लेकर सपा, बसपा अपने-अपने विधायकों को बुलाकर रणनीति तैयार कर रही है। हालांकि सत्र इस बार ज्यादा बड़ा नहीं है। सरकार अनुपूरक बजट पास कराने के प्रयास में लगी है।

विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित के मुताबिक, “सत्र छोटा है लेकिन एक-एक मिनट का उपयोग होगा। हर मुद्दे पर विपक्षी दलों को चर्चा का समय दिया जाता है और वह पूरा सहयोग करते हैं। उन्होंने कहा कि सत्र में सभी माननीय दूसरे विधानसभा चुनाव को लेकर बहस नहीं करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि विधानसभा के सभी सदस्य जागरूक हैं। वे समय का सदुपयोग करना चाहते हैं और जानते भी हैं।”

वहीं विधान परिषद के नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन ने कहा, “प्रदेश में कानून व्यवस्था है ही नहीं। बुलंदशहर की घटना इसका सीधा उदाहरण है। सपा सरकार में हुई भर्ती अभी तक अटकी है। किसानों की बहुत सारी समस्याओं का सरकार कोई भी निदान नहीं ढूंढ़ पा रही है। इन्हीं सब मुद्दों को उठाया जाएगा। बसपा और कांग्रेस भी सरकार को कानून व्यवस्था और गन्ना किसानों की समस्याओं को उठाने की बात कह रहीं है।”

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending