Connect with us

उत्तराखंड

Uttarakhand: तीन दशक पहले जहां की थी साधना, अब फिर वहां जाएंगे प्रधानमंत्री

Published

on

मोदी सरकार

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अगले महीने उत्तराखंड के दौरे पर जाने का कार्यक्रम है। इस दौरान पीएम मोदी जहां देहरादून में इन्वेस्टर्स समिट का उद्घाटन करेंगे, वहीं उनके केदारनाथ जाने की भी चर्चाएं जोरों पर हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ यात्रा के दौरान गरुड़चट्टी जाएंगे। माना जाता है कि तीन दशक से पहले अज्ञातवास के दौरान उन्होंने यहां तप किया था। प्रधानमंत्री गरुड़चट्टी के नए मार्ग का लोकार्पण करेंगे। करीब ढाई किमी नव निर्मित मार्ग पर वे ऑल टरैन व्हीकल (एटीवी) पर सवार होकर गरुड़चट्टी पहुंचेंगे।

केदारनाथ धाम जाने का भी है कार्यक्रम,तैयारियां तेज

प्रधानमंत्री मोदी के दौरे को लेकर प्रशासन कोई भी कोताही नहीं बरतना चाहता, ऐसे में मुख्य सचिव ने भी हाल ही में केदारनाथ का दौरा किया और वहां की तैयारियों जायजा लिया। मुख्य सचिव ने गरुड़चट्टी जाने वाले रास्ते को भी देखा।आपदा में बाढ़ से बह गए गरुड़चट्टी मार्ग का निर्माण भी पूरा हो चुका है। माना जा रहा है कि ढाई किमी लंबे इस मार्ग से मोदी एटीवी पर सवार होकर गरुड़चट्टी पहुंचेंगे। पीएम बनने के बाद मोदी जितनी बार भी केदारनाथ आए, हेलिपैड से मंदिर तक एटीवी से ही पहुंचे।

उत्तराखंड

डेंगू से बचाव के लिए सीएम त्रिवेंद्र ने दिए स्वास्थ्य विभाग और जिलाधिकारियों को खास निर्देश

Published

on

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश में डेंगू रोग पर नियंत्रण और प्रभावी रोकथाम के लिए कारगर और समेकित प्रयासों की जरूरत बताई है।

उन्होंने इस सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग के साथ ही सभी जिलाधिकारियों को सर्तकता और समन्वय से कार्य करने को कहा है। उन्होंने इस रोग के प्रति जन जागरूकता के प्रसार तथा स्वच्छता एवं सफाई पर विशेष ध्यान देने के भी निर्देश दिए हैं।

स्वास्थ्य विभाग सहित सभी डीएम रखें सर्तकता

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने शनिवार को सचिवालय में डेंगू रोग की रोकथाम के सम्बन्ध में किए जा रहे प्रयासों की शासन के उच्चाधिकारियों, सभी जिलाधिकारियों एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। उन्होंने डेंगू के प्रति सजग रहने तथा इसके लिए नियमित रूप से फॉगिंग एवं इसके लार्वा की जांच करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि डेंगू के प्रति लोगों में व्याप्त खौफ के वातावरण को समाप्त करने की जरूरत है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग, आशा, आंगनबाड़ी, ए.एन.एम, सिविल सोसाइटी के साथ नियमित रूप से जन जागरूकता अभियान संचालित किया जाए।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने सभी जिलाधिकारियों से अपने कार्यालयों में सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग सख्ती के साथ बंद करने को कहा है। उन्होंने इसके उपयोग से होने वाले नुकसान के सम्बन्ध में भी जन जागरूकता के प्रसार पर ध्यान देने को कहा है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending