Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

SHOCKING : इस कैफे में कॉफी के साथ सर्व किए जाते हैं अजगर, तस्वीरें आपको कर देंगी हैरान

Published

on

यह बात तो सच हैं कि दुनिया में अजीबों गरीब चीजों की कमी नहीं हैं। आज हम आपको ऐसे कैफे के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे सुन आप दंग रह जाएंगे। दरअसल, इस कैफे में जब आप मनपसंद कॉफी और स्नैक्स का ऑर्डर देते है, तब कॉफी और स्नैक्स के साथ टेबल पर केंकड़े और अजगर भी रेंगते नजर आते हैं।

शायद आप यकीन न करें, लेकिन ये बिलकुल सच है। हम आपको एक ऐसे रेस्टोरेंट के बारे में बताने जा रहे हैं जहां कॉफी या चाय के साथ अजगर और सांप समेत कई अन्य जीव परोसे जाते हैं।

कंबोडिया की राजधानी नोम पेन्ह में एक अनोखा रेस्त्रां खुला है। यहां आकर लोगों को चिड़ियाघर की फिलिंग आती है। आसपास चिड़ियों की चहचहाहट, तरह-तरह की मछलियों से भरे एक्वेरियम, टेबल पर खेलते-कूदते केकड़े और गोह और कंधों पर रेंगते सांप…इस कैफे में बैठकर यह नजारा देखने को मिलता है।

कैफे के मालिक ची रैटी ने बताया कि शुरुआत में ग्राहक, खासकर महिलाएं, अजगर को टेबल पर देख डर रही थीं। मगर धीरे-धीरे वे सहज हुईं। अब तो यहां आने वाले लोग चाय-कॉफी की चुस्कियां लेते हुए अजगर के साथ सेल्फी भी लेते हैं।

कैफे के मालिक ची रैटी ने बताया कि जब ये रेस्टोरेंज शुरु किया गया तो यहां आने वाली महिलाएं काफी डरी और सहमी सी रहती थी। अधिकतर महिलाएं अजगर को देखकर सहम जाती थी। वहीं धीरे-धीरे उनका डर खत्म होता गया।

कैफे के मालिक ची रैटी का कहना है कि अभी सापों के होने की वजह से बिजनेस की रफ्तार फिलहाल धीमी है, मगर फिर भी इसे लोगों से अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है।  कैफे में रखे गए तमाम जीव थाईलैंड से आयात किए गए हैं।

Image Copyright: GOOGLE

अन्तर्राष्ट्रीय

भारत को आंख दिखाने वाले पाक के पास बांध बनाने के पैसे भी नहीं, लोगों से मांग रहे हैं चंदा

Published

on

कभी भारत को आंख दिखाने वाले पाकिस्तान खुद इस समय कंगाली की कगार पर खड़ा है। पाकिस्तान के ऊपर अरबों रुपए का कर्ज है। इसी के चलते पाकिस्तानी पीएम इमरान खान सऊदी अरब की यात्रा पर गए थे। पाकिस्तान दो बांध मोहमंद और डायमर भाषा बनाना चाहता है। लेकिन बांध बनाने के लिए पाकिस्तान के पास पैसे नहीं हैं।

दरअसल, दोनों बांध (मोहमंद और डायमर) की अनुमानित लागत 12.4 अरब डॉलर (करीब डेढ़ लाख करोड़ पाकिस्तानी रुपए) है। सरकार के पास इसके लिए सिर्फ 143 करोड़ रुपए बचे हैं। विश्व बांध आयोग के मुताबिक- ‘बड़े बांध बनाने में अनुमानित लागत से 63% ज्यादा पैसा लग जाता है।’

पाकिस्‍तान के आर्थिक मामलों जानकार खुर्रम हुसैन का कहना है कि “हर व्‍यक्ति के लिए चंदा देना आसान नहीं है। बांध बनने के लिए काफी बड़ी रकम की जरूरत है, जिस रफ्तार से पैसा जुटाया जा रहा है, उससे लगता है काफी समय लग जाएगा।”

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending