Connect with us

प्रादेशिक

पटना में एबीवीपी का प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

Published

on

ABVP

पटना। बिहार की राजधानी पटना में गुरुवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने विधानसभा घेराव की कोशिश की। संगठन का कहना है कि राज्य में शिक्षा के स्तर में गिरावट आ रही है, जिस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए। प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए हवाई फायरिंग और लाठीचार्ज करना पड़ा। एबीवीपी के कार्यकर्ता जब विधानसभा की ओर बढ़े, तो पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की। इस दौरान उनका पुलिस से टकराव हो गया। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर जमकर पत्थरबाजी की तो पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए हवाई फायरिंग की और लाठी चार्ज भी किया।

पुलिस के अनुसार, एबीवीपी ने विधानसभा घेराव की घोषणा की थी। इसी को लेकर सुबह से ही कार्यकर्ता गांधी मैदान पहुंचने लगे। गांधी मैदान से एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने जुलूस की शक्ल में विधानसभा की ओर कूच किया। पुलिस आर ब्लॉक चौराहे पर जैसे ही कार्यकताओं को रोकना चाहा कार्यकर्ता भड़क गए और पुलिस से टकराव हो गया। प्रदर्शनकारी पुलिस पर पथराव शुरू कर दी। प्रदर्शनकारियों आर ब्लॉक की तरफ का गेट तोड़ दिया। इस बीच पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) जितेंद्र राणा भी मौके पर पहुंच गए।

एबीवीपी के कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इसके बावजूद जब प्रदर्शनकारी नहीं माने तो पुलिस को हवा में गोलियां चलानी पड़ी। इस टकराव में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों के घायल होने की बात सामने आई है। एसएसपी राणा ने बताया, “प्रदर्शनकारियों द्वारा किए गए पथराव में कम से कम 40 पुलिस के जवानों को चोट लगी है। प्रदर्शनकारियों ने आसपास खड़े वाहनों और दुकानों में भी तोड़फोड़ की है।” राणा ने बताया कि पुलिस ने सात राउंड हवाई फायरिंग की है, जबकि 20 से ज्यादा आंसू गैस के गोले छोड़े गए हैं। उन्होंने बताया कि आर ब्लॉक और उसके आसपास के क्षेत्रों में बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है तथा एबीवीपी के कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है। क्षेत्र में तनाव है, हालत काबू में है।

इधर, बिहार विधानसभा के अंदर और बाहर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायकों द्वारा छात्रों पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज को लेकर जमकर हंगामा किया। विधानसभा के बाहर हंगामा कर रहे कुछ विधायक भी छात्रों का पक्ष लेते हुए पुलिस से भिड़ गए। अन्य विधायकों के समझाने के बाद मामला शांत हुआ। कई भाजपा विधायक विधानसभा के बाहर धरने पर बैठ गए।

भाजपा के विधायक और प्रवक्ता विनोद नारायण झा ने कहा कि नीतीश सरकार लाठी के जोर पर विरोधियों की आवाज दबाना चाहती है। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारी शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे, तभी पुलिस ने बर्बरतापूर्ण लाठी चार्ज किया। इस बीच घटनास्थल पर पहुंचे पटना के जिलाधिकारी अभय कुमार सिंह ने कहा कि तोड़फोड़ करने वाले तथा कानून को हाथ में लेने वाले प्रदर्शनकारियों के खिलाफ विधिसम्मत कारवाई की जाएगी।

प्रादेशिक

उन्नाव केसः पीड़िता के परिजनों को 25 लाख और घर देगी योगी सरकार

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद उसके परिजनों को मदद का ऐलान किया है। जानकारी के अनुसार योगी सरकार पीड़िता के परिवार को 25 लाख रुपये की मदद देगी। यह धनराशि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दी जाएगी।

उन्नाव के जिला अधिकारी देवेंद्र कुमार पांडे पीड़िता के परिजनों से मिलकर उन्हें चेक सौपेंगे। इसके अलावा सरकार की तरफ से परिवार को पीएम आवास योजना के तहत घर देने का भी ऐलान किया गया है।

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता को गुरुवार को जिंदा जलाने की कोशिश की गई थी, जिसमें पीड़िता 95 फीसदी तक झुलस गई थी। इसके बाद पीड़िता को लखनऊ के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending