Connect with us

नेशनल

जब अटल हुए थे फ़ेक न्यूज़ का शिकार, खुद किया था अपनी प्रशंसा का खंडन

Published

on

अटल बिहारी वाजपेयी

नई दिल्ली। पूरा देश इस समय शोक की लहर में डूबा है। दिल्ली के AIIMS अस्पताल में गुरूवार को देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लंबे संघर्ष के बाद निधन हो गया। ‘आज की खबर’ अटल जी को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित करता हैं। हर ओर अटल जी से जुड़े राजनीतिक किस्सों की चर्चा है ऐसे में एक किस्सा वो भी है जब अटल फेक न्यूज़ का शिकार हो गए थे और उन्होंने खुद चारों ओर से मिल रही प्रशंसा का खंडन करते हुए सत्य को उजागर किया था।

इस प्रसंग में अटल जी ने अपने एक आत्मकथ्य में लिखा है कि, “मैं भी उन लोगों में शामिल था जिन्होंने इंदिरा जी के बांग्लादेश के मामले में सफल नेतृत्व के लिए उनकी भूरि-भूरि प्रशंसा की थी किंतु यह धारणा गलत है कि मैंने किसी वक्त उन्हें ‘दुर्गा’ कहा था। मैंने उनकी तारीफ़ ज़रूर की थी पर उन्हें ‘दुर्गा’ नहीं कहा था। इस तथ्य को मैं कई बार स्पष्ट कर चुका हूँ किंतु प्रचलित धारणा इतनी बद्धमूल है कि अभी भी लोग इस बात के लिए मेरी प्रशंसा करते हैं कि मैने संकट काल में सारे राजनीतिक मतभेदों को ताक पर रखकर सरकार को पूर्ण सहयोग दिया था और इंदिरा जी को ‘दुर्गा’ के रूप मे वर्णित किया था। जब श्रीमती पुपुल जयकर इंदिरा जी की जीवनी लिख रही थी तो वह उसमें इस बात का उल्लेख करना चाहती थीं किंतु मेरे मना करने पर उन्होंने उल्लेख तो नहीं किया पर इस बात की गहरी छानबीन ज़रूर की थी कि मैंने इंदिरा जी को ‘दुर्गा’ कहा था या नहीं। संसद की कार्यवाई और उस समय के समाचार पत्रों को देखने के पश्चात् उन्हें यह विश्वास हो गया कि था कि मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा था। प्रश्न यह है कि यह समाचार फिर फैला कैसे? मुझे लगता है कि उस समय किसी और नेता ने इंदिरा जी को ‘दुर्गा’ के रूप मे वर्णित किया था और कुछ पत्रों ने उनके कथन को मेरे नाम से छाप दिया। इंदिरा जी के साथ संसद में मेरी नोंक-झोंक होती रहती थी किंतु राजनीतिक मतभेदों को उन्होंने कभी व्यक्तिगत संबंधों में बाधक नहीं बनने दिया।”

अपनी व्यक्तिगत प्रशंसा का खंडन कर सत्य के साथ खड़े होने की प्रतिभा सिर्फ स्वर्गीय अटल जी में ही थे। आज अटल जी हमारे बीच नहीं हैं। हम अटल जी के निधन पर उन्हें पुनः अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। सदियां बीत जाएंगी लेकिन अटल जी जैसा जननेता शायद ही कभी पैदा होगा।

नेशनल

बीजेपी अध्यक्ष ने गिरिराज सिंह को किया तलब, देवबंद पर दिया था विवादित बयान

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिह को तलब किया है। जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह के विवादित बयानों को लेकर उनसे सवाल पूछा है।

सूत्रों के मुताबिक जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह को बेवजह बयानबाजी से बचने को कहा है। उन्होंने गिरिराज के बयानों पर आपत्ति जताई है। हाल ही में गिरिराज सिंह ने देवबंद को लेकर विवादित बयान दिया था।

शुक्रवार को गिरिराज सिंह ने बेगूसराय के मुस्लिम बहुत इलाके में खुली जीप में सवारी की थी और भीड़ के साथ चलते हुए “भारतवंशी तेरा मेरा रिश्ता क्या, जय श्री राम जय श्री राम” का नारा लगाया था. अपने भाषण में गिरिराज सिंह ने नरेंद्र मोदी को भगवान का अवतार बताया था। उन्होंने भारत माता पर उंगली उठाने वालों की आंखें निकाल लेने की बात कही थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending