Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

अगर चुनाव आयोग ने पाया दोषी तो नहीं बन पाएंगे इमरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री? ये है मामला

Published

on

नई दिल्ली। पाकिस्तान में चुनाव जीतने और सबसे बड़ी पार्टी बनने के बाद भी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के अध्यक्ष इमरान खान की शपथ ग्रहण पर मुसीबत के बादल छाए हुए हैं। शपथ की तारीख़ नज़दीक आ रही है लेकिन शपथ होगी भी या नहीं ये निश्चित नहीं हो पा रहा है।

मामला ये है कि इमरान खान को चुनाव प्रचार के दौरान कई बार अनुचित भाषा के इस्तेमाल में आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया गया था। तो पाकिस्तान चुनाव आयोग अगर उन्हें दोषी ठहराता है तो उन्हें उनकी सभी सीटों से अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा। संभावना ये भी है कि उनकी बड़ी जीत और पाकिस्तान के मौजूदा राजनीतिक माहौल को देखते हुए उन्हें केवल चेतावनी देकर छोड़ दिया जाएगा। लेकिन इमरान खान को नेशनल असेंबली के सदस्य के रूप में तीन में से एक सीट से शपथ लेने की अनुमति मिल गई है। अब उनकी सदस्यता आचार संहिता उल्लंघन के लंबित मामले में चुनाव आयोग के फैसले पर निर्भर करती है। अगर चुनाव आयोग का फैसला उनके हक़ में नहीं आता है तो उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

पाकिस्तान निर्वाचन आयोग ने इमरान खान को नेशनल असेंबली के सदस्य की शपथ लेने की अनुमति दी भी है तो कुछ शर्तों पर। आयोग ने दो सीटों से उनकी जीत को स्थगित कर दिया है और तीन अन्य सीटों से उन्हें विजयी घोषित कर दिया है। आपको पता हो कि इमरान ने एक साथ पांच सीटों पर जीत दर्ज की है।

अन्तर्राष्ट्रीय

कोरोना वैक्सीन को लेकर दिखी नई उम्मीद, जानकर हो जाएंगे खुश

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वायरस पूरी दुनिया में लोगों को तेजी से अपना शिकार बना रहा है। अब तक इस खतरनाक बीमारी की वजह से लगभग 60 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं। दुनिया के कई बड़े देश इस वायरस को रोकने के लिए वैक्सीन बनाने में जुटे हैं।

दुनियाभर की निगाहें ब्रिटेन की ओर से तैयार की जारी वैक्सीन पर टिकी हैं क्योंकि दावा किया जा रहा है कि सितंबर तक यह बनकर तैयार हो जाएगी। इस बीच वैक्सीन को लेकर अब और नई उम्मीद नजर आने लगी है।

वियाग्रा जैसी दवाओं का आविष्कार करने वाली अमेरिकन फार्मास्यूटिकल कंपनी Pfizer ने दावा किया है कि इस साल अक्टूबर के अंत तक उनकी वैक्सीन बनकर तैयार हो जाएगी।

Pfizer के सीईओ अल्बर्ट बुर्ला ने ‘द टाइम्स ऑफ इजराइल’ के हवाले से बताया, ‘अगर सबकुछ ठीक चलता रहा और हमें किस्मत का साथ मिला तो अक्टूबर के अंत तक वैक्सीन होगी। एक गुणकारी और सुरक्षित वैक्सीन के लिए हम भरपूर प्रयास कर रहे हैं।’

कंपनी के सीईओ ने रिपोर्ट में बताया कि Pfizer जर्मनी की फर्म बायोन्टेक के साथ यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में कई संभावित वैक्सीन को लेकर काम कर रहा है।

इसके अलावा, एस्ट्राजेनेका नाम की एक और कंपनी ने दावा किया है कि इस साल के अंत तक एक या एक से ज्यादा वैक्सीन तैयार हो सकते हैं। बता दें कि एस्ट्राजेनेका फिलहाल ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ वैक्सीन पर काम कर रही है, जिसमें एक वैक्सीन पर काम इस साल के अंत तक खत्म हो सकता है।

एस्ट्राजेनेका के प्रमुख पास्कल सोरिएट्स ने कहा, ‘हमारी वैक्सीन से कई लोगों की उम्मीदें जगी हैं. अगर सभी चरणों में कामयाबी मिली तो इस साल के अंत तक हमारे पास वैक्सीन होगी।’

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending