Connect with us

मनोरंजन

OMG : बोनी कपूर चारों बच्चों के साथ रहेंगे एक ही घर में, ऐसी है प्लानिंग

Published

on

इसी वर्ष फरवरी में बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी की मृत्यु हुई और इससे बोनी को करारा झटका लगा। लेकिन इस मौके पर अर्जुन कपूर ने अपने पिता का साथ दिया। और अपनी बहन जाह्नवी और खुशी के साथ भी नजर आएं। उनको सहारा दिया। श्रीदेवी की मृत्यु के बाद चारों बच्चे काफी करीब आ गए। अक्सर उन्हें एक-दूसरे के घर पर स्पॉट किया जाता है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि बोनी अपने चारों बच्चों के साथ एक ही घर में रहने का प्लान कर रहे हैं।

साभार – इंटरनेट

खबरों के मुताबिक – ”बोनी चारों बच्चों के बीच की बॉन्डिंग देखने के बाद सभी के साथ एक ही घर में रहने की प्लानिंग कर रहे हैं। मुश्किल की घड़ी में बोनी ने देखा कि कैसे उनके बच्चे साथ आए और एक-दूसरे को सपोर्ट किया। ऐसे में बोनी साथ में रहने के बारे में सोच रहे हैं।”

साभार – इंटरनेट

सूत्र बताते हैं ”ये परिवार किस घर में साथ रहेगा इस बात पर समस्या है। दरअसल, जाह्नवी-खुशी जहां रहते हैं, वहां श्रीदेवी से जुड़ी यादें हैं। वहीं अर्जुन-अंशुला जहां रहते हैं, वहां उनकी मां मोना कपूर रहा करती थीं। दोनों ही घरों से बच्चों के इमोशन जुड़े हुए हैं।”

साभार – इंटरनेट

अब बोनी किस तरह से चारों बच्चों को एक छत के नीचे लेकर आते हैं, ये देखना मजेदार होगा। श्रीदेवी के निधन के बाद से अर्जुन जाह्नवी-खुशी के साथ हर वक्त खड़े नजर आते हैं। वे अंशुला की ही तरह जाह्नवी-खुशी को भी सपोर्ट करते हैं। भाई-बहनों की बॉन्डिंग कई बार सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी देखने को मिली है।

 

मनोरंजन

8 साल तक इस जानलेवा रोग से ग्रस्त थे अमिताभ बच्चन, वर्षों बाद पता चली थी बीमारी

Published

on

मुंबई। सदी के महानायाक अमिताभ बच्चन ने खुद को लेकर एक सनसनीखेज खुलासा किया है। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने बताया कि उन्हें आठ साल तक टीबी जैसी खतरनाक बीमारी थी और वो इस बात से बिलकुल अंजान थे।

उन्होंने आगे कहा कि ये बताने में उन्हें बुरा नहीं लगता कि वह टीबी के मरीज रह चुके हैं। अमिताभ एनडीटीवी के ‘स्वास्थ्य इंडिया’ की लॉन्चिग के मौके पर डॉक्टर हर्षवर्धन से बातचीत कर रहे थे, और उन्होंने उनसे आग्रह किया कि नियमित जांच के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए, ताकि शुरुआत में ही बीमारी का पता चल सके।

बिग बी ने कहा, “मैं हर समय अपने व्यक्तिगत उदाहरण को सबके सामने लाता रहता हूं और कोशिश करता हूं कि आप सबको इसके प्रति जागरूक कर सकूं और मुझे यह सार्वजनिक तौर पर कहते हुए बुरा नहीं लगता है कि मैं एक टीबी का और हेपेटाइटिस बी का मरीज रहा हूं।”

अमिताभ (76) कई सारे स्वास्थ्य अभियानों जैसे पोलियो, हेपेटाइटिस-बी, टीबी और मधुमेह से जुड़े रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे इन बीमारियों की जांच करवाएं और इलाज करवाएं।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending