Connect with us

मनोरंजन

OMG : बोनी कपूर चारों बच्चों के साथ रहेंगे एक ही घर में, ऐसी है प्लानिंग

Published

on

इसी वर्ष फरवरी में बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी की मृत्यु हुई और इससे बोनी को करारा झटका लगा। लेकिन इस मौके पर अर्जुन कपूर ने अपने पिता का साथ दिया। और अपनी बहन जाह्नवी और खुशी के साथ भी नजर आएं। उनको सहारा दिया। श्रीदेवी की मृत्यु के बाद चारों बच्चे काफी करीब आ गए। अक्सर उन्हें एक-दूसरे के घर पर स्पॉट किया जाता है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि बोनी अपने चारों बच्चों के साथ एक ही घर में रहने का प्लान कर रहे हैं।

साभार – इंटरनेट

खबरों के मुताबिक – ”बोनी चारों बच्चों के बीच की बॉन्डिंग देखने के बाद सभी के साथ एक ही घर में रहने की प्लानिंग कर रहे हैं। मुश्किल की घड़ी में बोनी ने देखा कि कैसे उनके बच्चे साथ आए और एक-दूसरे को सपोर्ट किया। ऐसे में बोनी साथ में रहने के बारे में सोच रहे हैं।”

साभार – इंटरनेट

सूत्र बताते हैं ”ये परिवार किस घर में साथ रहेगा इस बात पर समस्या है। दरअसल, जाह्नवी-खुशी जहां रहते हैं, वहां श्रीदेवी से जुड़ी यादें हैं। वहीं अर्जुन-अंशुला जहां रहते हैं, वहां उनकी मां मोना कपूर रहा करती थीं। दोनों ही घरों से बच्चों के इमोशन जुड़े हुए हैं।”

साभार – इंटरनेट

अब बोनी किस तरह से चारों बच्चों को एक छत के नीचे लेकर आते हैं, ये देखना मजेदार होगा। श्रीदेवी के निधन के बाद से अर्जुन जाह्नवी-खुशी के साथ हर वक्त खड़े नजर आते हैं। वे अंशुला की ही तरह जाह्नवी-खुशी को भी सपोर्ट करते हैं। भाई-बहनों की बॉन्डिंग कई बार सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी देखने को मिली है।

 

मनोरंजन

बॉलीवुड डायरेक्टर कुणाल कोहली की मासी का कोरोना से निधन, 8 हफ्ते से अस्पताल में थीं भर्ती

Published

on

मुंबई। बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर कुणाल कोहली की मासी का कोरोना वायरस की वजह से निधन हो गया है। इस बात की जानकारी उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से खुद दी।

कुणाल कोहली ने ट्वीट किया, ‘आठ हफ्ते संघर्ष के बाद कोविड के चलते मैंने अपने मासी को खो दिया। वह शिकागो में थीं। हम बड़ा परिवार हैं जो वास्तव में काफी करीब हैं। हम इस समय इकट्ठा नहीं हो सकते। ये नुकसान काफी दर्दनाक है। इस मुश्किल समय में मेरी मां, मासी और मामा एक साथ नहीं हैं।’

दूसरे ट्वीट में कुणाल ने लिखा, ‘मेरी मासी की बेटी अस्पताल गई, पार्किं‍ग में जाकर अपनी कार में बैठी और अपनी मां के लिए प्रार्थना की। उसे अस्पताल में भी जाने नहीं दिया गया। कोविड कितना कठोर है। भला ऐसे कोई दुनिया को अलव‍िदा कहता है।’

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending