Connect with us

खेल-कूद

फीफा विश्व कप सेमीफाइनलः अब तक का सबसे बड़ा उलटफेर कर फाइनल में पहुंचा क्रोएशिया

Published

on

फीफा विश्व

नई दिल्ली। क्रोएशिया ने बुधवार देर रात खेल गए दूसरे सेमीफाइनल मैच में इंग्लैंड को अतिरिक्त समय तक खिंचे मैच में 2-1 से मात देकर फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण के फाइनल में जगह बना ली है। क्रोएशिया पहली बार फाइनल में पहुंचा है जहां उसका सामना रविवार को फ्रांस से होगा। वहीं इंग्लैंड शनिवार को तीसरे स्थान के मैच में बेल्जियम के सामने होगी।

फीफा विश्व कप

तय समय में मैच 1-1 से बराबरी पर खत्म हुआ था इस वजह से मैच अतिरिक्त समय में गया जहां 109वें मिनट में मारियो मांडुजुकिक ने गोल कर क्रोएशिया को जीत दिलाई।

इंग्लैंड ने पांचवें मिनट में ही पहला गोल कर दिया था। उसके लिए यह गोल कीरान ट्रिपिर ने फ्री किक पर किया। बढ़त लेने के बाद इंग्लैंड के पास दूसरा गोल करने के कई मौके आए लेकिन कप्तान हैरी केन, जेसे लिंगार्ड और रहीम स्टर्लिग मौकों को भुना नहीं पाए।

पहले हाफ का अंत इंग्लैंड के पक्ष में 1-0 के स्कोर के साथ हुआ। दूसरे हाफ में एक गोल से पिछड़ने के बाद उतरी क्रोएशिया ने मैच के 68वें मिनट में गोल कर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया। क्रोएशिया के लिए यह गोल ईवान पेरीसिक ने किया। उन्होंने सिमे वसाल्जको के पास पर गेंद को नेट में डाल अपनी टीम को बराबरी दिलाई। इसके बाद तय समय में कोई गोल नहीं हो सका और मैच का नतीजा अतिरिक्त समय के दूसरे हाफ में आया।

खेल-कूद

VIDEO : आप भी हैं PUBG प्रेमी, तो देख लें ये Video! अब PUBG को कहना पड़ेगा Bye Bye!

Published

on

By

चीनी सामानों पर प्रतिबंध लगाने की मांग लगातार बढ़ती जा रही है। 59 चीनी मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगने के बाद अब बच्चों से जुड़े चीनी गेमों को भी बन्द करने की मांग उठने लगी है। मंगलवार को सूचना प्रद्योगिकी से जुड़ी संसदीय स्थायी समिति की बैठक में मौजूद सदस्यों ने बच्चों के बीच लोकप्रिय लेकिन विवादित चीनी गेम पबजी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। बैठक का एजेंडा डाटा प्राइवेसी और डाटा सुरक्षा था।

इसके अलावा कुछ सदस्यों ने 59 चीनी मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध के बावजूद देश में इस्तेमाल हो रहे चीनी ऐप पर चिंता जताई। इसमें सबसे प्रमुख तौर पर कैम स्कैनर का ज़िक्र किया गया। कैम स्कैनर मोबाइल पर कागजातों और तस्वीरों को स्कैन करने के काम आता है और 59 प्रतिबंधित मोबाइल एप्स में भी शामिल है।

सदस्यों ने विशेष तौर पर इस बात पर चिंता जताई कि इस ऐप का इस्तेमाल देश का पुलिस प्रशासन भी कर रहा है। सदस्यों की चिंता इस बात पर ज़्यादा थी कि कहीं इस एप के ज़रिए संवेदनशील जानकारी तो नहीं चुराई जा रही।

#BanPUBG #TikTokBanned #ChineseApps #BanChineseApps #BoycottChina #IndiaChinaBorder

Continue Reading

Trending