Connect with us

IANS News

वनडे सीरीज भारत को 2019 विश्व कप के लिए मदद करेगी : रोहित

Published

on

नॉटिंघम, 11 जुलाई (आईएएनएस)| भारतीय टीम गुरुवार से इंग्लैंड के खिलाफ तीन वनडे मैचों की शुरुआत करने जा रही है।

टीम के उप-कप्तान रोहित शर्मा को लगता है कि यह सीरीज उनकी टीम को अगले साल इंग्लैंड में ही होने वाले विश्व कप की तैयारी के लिए अपने आप को परखने का मौका देगी।

भारत इस सीरीज में लगातार दो टी-20 सीरीज जीत कर आ रहा है। उसने आयरलैंड को दो मैचों की टी-20 सीरीज में 2-0 से मात दी तो वहीं इंग्लैंड को तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 2-1 से हराया था।

मैच से पहले संवाददाता सम्मेलन में रोहित ने कहा, विश्व कप एक साल बाद है और इस लिहाज से यह सीरीज हमें यह बात जानने में मदद करेगी की हम कहां खड़े हैं।

उन्होंने कहा, हमें इस सीरीज से पता चलेगा कि हमारे लिए किस तरह के संयोजन काम करेंगें, एक टीम के तौर पर आगे जाने के लिए हमें किन जगह काम करने की जरूरत है।

रोहित ने कहा है कि भारत ने इंग्लैंड में सीमित ओवरों में अच्छा प्रदर्शन किया है।

उन्होंने कहा, एक टीम के तौर पर हमने इंग्लैंड में अच्छा प्रदर्शन किया है। हमने चुनौैतियों का अच्छा सामना किया है। इंग्लैंड टीम हालांकि हम पर दवाब डाल सकती है।

सलामी बल्लेबाज ने कहा, हमारे लिए जरूरी है कि हम अपनी क्षमता के अनुरूप और अपनी रणनीति के हिसाब से खेलें।

मैच के बारे में रोहित ने कहा कि विकेट की स्थिति से परे उनकी टीम लक्ष्य का पीछा करना पसंद करेगी।

उन्होंने कहा, जब आप इस तरह की पिचों पर खेलते हो तो आप दूसरी पारी खेलना पसंद करते हो। टीम भी लक्ष्य का पीछा करना चाहेगी, लेकिन टॉस हमारे नियंत्रण में नहीं है।

Continue Reading

IANS News

अधिक खाने को प्रेरित करने वाले दिमाग के हिस्से की पहचान

Published

on

न्यूयॉर्क, 17 जुलाई (आईएएनएस)| बहुत ज्यादा खाने वाले मोटापाग्रस्त लोगों में हाइपोथैलेमस में दिमाग की कोशिकाओं का एक छोटा समूह खाने को नियंत्रित करने का एक आशाजनक लक्ष्य हो सकता है।

शोधकर्ताओं ने कहा कि ‘ओरेक्जिन’ न्यूरॉन्स को पहले पाया गया है कि वह कोकीन सहित कई मादक पदार्थो की लत के लिए जिम्मेदार है। ओरेक्जिन न्यूरॉन्स को रासायनिक संदेशवाहक के तौर पर नामित करते हैं, जिनका इस्तेमाल दिमाग की दूसरी कोशिकाओं के साथ संचार के लिए होता है।

अमेरिका के न्यूजर्सी विश्वविद्यालय के गैरी एस्टोन-जोंस ने कहा, खाने के विकारों से जुड़े कई महत्वपूर्ण लक्षण जैसे कि नियंत्रण खोने की भावना, यह मादक पदार्थो की लत की प्रेरक प्रवृत्ति से मेल खाती है।

एस्टन-जोंस ने कहा, चूंकि ओरेक्जिन तंत्र मादक पदार्थ की लत की तरफ इशारा करता है, हमने बार-बार खाने के कारण होने वाले बदलाव को समझने के लिए इसे लक्षित किया।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending