Connect with us

IANS News

बैडमिंटन : सिंधु, कश्यप और प्रणॉय थाईलैंड ओपन के प्री-क्वार्टर फाइनल में

Published

on

बैंकॉक, 11 जुलाई (आईएएनएस)| भारत के अग्रणी बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु, पारुपल्ली कश्यप और एच.एस. प्रणॉय ने बुधवार को अपने-अपने मुकाबले जीतकर थाईलैंड ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया।

महिला एकल में सिंधु ने पहले दौर में बुल्गारिया की लिंडा जेतचीरी को मात दी। वल्र्ड नम्बर-3 सिंधु ने 26 मिनट के भीतर ही वल्र्ड नम्बर-43 लिंडा को सीधे गेमों में 21-8, 21-15 से मात देकर अंतिम-16 दौर में प्रवेश कर लिया है।

अंतिम-16 दौर में सिंधु का सामना हांगकांग की यिप पुई यिन और ताइवान की ली चिया सिन के बीच के मुकाबले की विजेता से होगा।

महिला एकल के एक अन्य मैच में वैष्णवी रेड्डी को पहले ही दौर में मिली हार से बाहर होना पड़ा। वैष्णवी को महिला एकल वर्ग के पहले दौर में जापान की सयाका साटो ने 31 मिनट के भीतर सीधे गेमों में 21-13, 21-17 से मात देकर बाहर का रास्ता दिखाया।

पुरुष एकल में कश्यप और प्रणॉय प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश करने में सफल रहे जबकि समीर वर्मा को हार कर टूर्नामेंट से बाहर होना जाना पड़ा।

पारुपल्ली ने कनाडा के जेसन एंथोनी हो शुए को को मात दी। पारुपल्ली ने 38 मिनट के भीतर ही जेसन को सीधे गेमों में 21-15, 21-17 से मात देकर अंतिम-16 दौर में अपनी जगह बना ली है, जहां उनका सामना जापान के कांटा सुनेयामा से होगा।

प्रणॉय ने स्पेन के पाब्लो एबियान पाब्लो को 35 मिनट के भीतर सीधे गेमों में 21-16, 21-19 से हराकर प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। उनका सामना अगले दौर में इंडोनेशिया के सोनी कुनकोरो से होगा।

समीर को पुरुष एकल वर्ग के पहले दौर में स्थानीय खिलाड़ी तानोंगसाक साएंसोबूनसुक ने मात दी। तानोंगसाक ने उन्हें 44 मिनट में सीधे गेमों में 21-18, 21-16 से मात देकर प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

पुरुष युगल वर्ग में एम.आर. अर्जुन-रामचंद्रन श्लोक, क्वालीफिकेशन की बाधा पार कर मुख्य ड्रॉ में पहुंचे मंदिरा अनिलकुमार-वेंकट गौरव प्रसाद तथा कोना तरुण-सौरभ शर्मा को हार का सामना करना पड़ा।

अर्जुन और रामचंद्रन की जोड़ी को इंडोनेशिया की वाहयु नयाका आर्या और अदे युसुफ सांतोसो की जोड़ी ने 52 मिनट में 18-21, 21-13, 16-21 से मात दी।

अनिल कुमार और वेंकट की जोड़ी को हांगकांग की बैडमिंटन जोड़ी चुंग योनी और टाम चुन हेई ने 21-14, 12-21, 14-21 से मात दी।

ताइवान की लियाओ और सु चिंग हेन की जोड़ी ने 21 मिनट के भीतर ही सीधे गेमों में तरुण और सौरभ को 21-6, 21-6 से हराकर बाहर कर दिया।

महिला युगल वर्ग में जाकमापुद्दी मेघना और एस. पूर्विशा राम की जोड़ी को भी हार का सामना करना पड़ा। ताइवान की चेन सियाओ हुआन और हु लिंग फान की जोड़ी ने 23-21, 21-8 से मात दी।

मिश्रित युगल वर्ग में भी भारत को निराशा हाथ लगी। हांगकांग की माक ही चुन और येउंग टिंग की जोड़ी ने भारत की सौरभ शर्मा और अनुष्का पारिख की जोड़ी को सीधे गेमों में 21-19, 21-15 से हरा दिया।

पुरुष युगल में मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की जोड़ी अगले दौर में पहुंचने में सफल रहे। भारतीय जोड़ी ने चीनी पाइपे के चेन हयूग लिंग और वांग ची लिन की जोड़ी को 49 मिनट में 21-18 15-21 21-17 से हराया।

हालांकि, इसी वर्ग के एक अन्य मुकाबले में थाईलैंड के बोडिन इसारा और मेनीपोंग जोंगित ने सात्विकसेराज रेंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की भारतीय जोड़ी को 35 मिनट में 21-11 21-15 से शिकस्त दी।

Continue Reading

IANS News

अधिक खाने को प्रेरित करने वाले दिमाग के हिस्से की पहचान

Published

on

न्यूयॉर्क, 17 जुलाई (आईएएनएस)| बहुत ज्यादा खाने वाले मोटापाग्रस्त लोगों में हाइपोथैलेमस में दिमाग की कोशिकाओं का एक छोटा समूह खाने को नियंत्रित करने का एक आशाजनक लक्ष्य हो सकता है।

शोधकर्ताओं ने कहा कि ‘ओरेक्जिन’ न्यूरॉन्स को पहले पाया गया है कि वह कोकीन सहित कई मादक पदार्थो की लत के लिए जिम्मेदार है। ओरेक्जिन न्यूरॉन्स को रासायनिक संदेशवाहक के तौर पर नामित करते हैं, जिनका इस्तेमाल दिमाग की दूसरी कोशिकाओं के साथ संचार के लिए होता है।

अमेरिका के न्यूजर्सी विश्वविद्यालय के गैरी एस्टोन-जोंस ने कहा, खाने के विकारों से जुड़े कई महत्वपूर्ण लक्षण जैसे कि नियंत्रण खोने की भावना, यह मादक पदार्थो की लत की प्रेरक प्रवृत्ति से मेल खाती है।

एस्टन-जोंस ने कहा, चूंकि ओरेक्जिन तंत्र मादक पदार्थ की लत की तरफ इशारा करता है, हमने बार-बार खाने के कारण होने वाले बदलाव को समझने के लिए इसे लक्षित किया।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending