Connect with us

नेशनल

Exclusive : सलमान को मात्र 1 रात में जेल से बाहर निकालने के लिए इन नामी वकीलों ने लिए थे इतने पैसे

Published

on

बॉलीवुड एक्टर सलमान खान को तो आप जानते ही हैं। सलमान खान और विवाद दोनों एक साथ चलते हैं। आप कह सकते हैं कि दोनों के बीच चोली दामन का साथ है। काले हिरण के शिकार के मामले में सलमान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन आपको जान कर हैरत होगी कि सलमान महज एक ही रात में जेल से छूट भी गए थे। इस कारनामे को अंजाम दिया था हमारे देश के काबिल वकीलों ने लेकिन इसके लिए सलमान को अपनी जेब भी ढीली करनी पड़ी थी। सलमान को मात्र 1 रात में जेल से बाहर निकालने के लिए किन वकीलों ने कितने पैसे लिए थे ?  आइये जानते हैं –

साभार – INTERNET

राम जेठमलानी – देश के सबसे होनहार और नामी वकील राम जेठमलानी जो कि वर्तमान में 94 वर्ष के है अपनी एक हियरिंग के लिए 30 लाख फीस लेते हैं। सलमान खान को मात्र एक रात में जेल से बाहर निकालने के लिए उन्होंने 30 लाख की फीस ली थी।

साभार – INTERNET

फली नरीमन – सलमान खान को मात्र एक रात में जेल से बाहर निकालने वाले वकीलों में फली नरीमन भी शामिल है। यह सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष है। वर्तमान में इनकी उम्र 88 वर्ष है और इन्होंने सलमान खान को जेल से बाहर निकालने के लिए 15 लाख रुपए लिए थे।

साभार – INTERNET

हरीश साल्वे – मशहूर वकील हरीश साल्वे 9 साल तक केंद्र सरकार में जनरल के पद पर नियुक्त थे। यह देश की कई बड़ी कंपनियों के भी केस लड़ते हैं। सलमान खान को मात्र एक रात में जेल से बाहर निकालने के लिए इन्होंने 15 लाख रुपए लिए थे।

 

 

नेशनल

‘मुस्लिम पार्टी’ विवाद के बाद राहुल गांधी ने किया ऐसा ट्वीट, जानकर चौंक जाएंगे आप

Published

on

राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को भाजपा की कथित टिप्पणी ‘कांग्रेस मुस्लिमों के लिए है’ पर जवाबी हमला किया। राहुल ने अपने ट्वीट में कहा, मैं कतार में खड़े अंतिम व्यक्ति के साथ हूं, जो हाशिये पर है, दमित-पीड़ित है, अत्याचार का शिकार है। उसका धर्म, उसकी जाति और आस्था मेरे लिए मायने नहीं रखती।

राहुल गांधी

उन्होंने कहा, जो दर्द में हैं, उन्हें तलाशता हूं, और उन्हें गले लगाता हूं। मैं सभी प्राणियों से प्यार करता हूं। मैं कांग्रेस हूं। यह ट्वीट जाहिर तौर पर भाजपा के लगातार आलोचना के जवाब में आया है। भाजपा ने अपनी कथित टिप्पणी में कहा था कि कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है।

भाजपा राहुल गांधी द्वारा पर मुस्लिम बुद्धिजीवियों के साथ एक बैठक में कथित तौर की गई टिप्पणी को लेकर राहुल गांधी की आलोचना कर रही थी। सत्तारूढ़ पार्टी ने कहा कि राहुल गांधी व उनकी पार्टी 2019 के चुनाव से पहले सांप्रदायिक राजनीति में लिप्त है।

इस कथित टिप्पणी को एक उर्दू दैनिक ने प्रकाशित किया था। हालांकि, बैठक में भाग लेने वाले कुछ बुद्धिजीवियों ने राहुल गांधी के इस तरह के विवादास्पद संदर्भ से इनकार किया है।

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों ने कांग्रेस अध्यक्ष को इस मुद्दे पर निशाना बनाया। मोदी ने आजमगढ़ ने शनिवार को एक जनसभा में कहा था, मैंने अखबार में पढ़ा कि नामदार (राहुल गांधी का संदर्भ देते हुए) ने कहा कि कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है। मैं आश्चर्यचकित नहीं हूं..जब पिछले प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सत्ता में थे, उन्होंने खुले तौर पर कहा था कि प्राकृतिक संसाधनों के इस्तेमाल का पहला हक मुस्लिमों का होना चाहिए।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending