Connect with us

प्रादेशिक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मगहर पहुंचें, संत कबीर शोध अकादमी का किया शिलान्यास

Published

on

उत्तर प्रदेश की बनारस संसदीय सीट से सांसद एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार सुबह मगहर पहुंचे। वह यहां संत कबीर के नाम पर अंतर्राष्ट्रीय अकादमी का शिलान्यास करेंगे। उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मगहर पहुंच गए हैं।

मोदी सुबह 9.30 बजे लखनऊ के अमौसी हवाईअड्डे पर विशेष विमान से उतरे। वह यहां से हेलीकॉप्टर से मगहर के लिए रवाना हुए। हवाईअड्डे पर उनका स्वागत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और लखनऊ की मेयर संयुक्ता भाटिया ने किया।

यहां वह संत कबीर के निर्वाण स्थल का दौरा भी करेंगे और कबीर के नाम पर बनने वाले अंतर्राष्ट्रीय शोध अकादमी का शिलान्यास करेंगे।

इस मौके पर मुख्य सचिव राजीव कुमार, लखनऊ परिक्षेत्र के आईजी सुजीत पांडेय भी उपस्थित हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संत कबीर की मजार पर अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करने के दौरान पहनी जानी वाली काराकुल टोपी नहीं पहनी।

मगहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक जनसभा को सम्बोधित किया। (इनपुट आईएएनएस)

प्रादेशिक

दिल्ली में हिंसा के बीच हिंदू लड़की की शादी में ढाल बनकर खड़े रहे मुसलमान

Published

on

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 38 लोगों की जान जा चुकी है। हिंसा के बीच एक ऐसी पॉजिटिव खबर सामने आई है जिससे आपको यकीन हो जाएगा कि इतने तनाव के बावजूद लोगों में इंसानियत अभी भी बाकी है।

दरअसल, दिल्ली में हो रही हिंसा के बीच एक हिन्दू लड़की की शादी थी। परिवार शादी रद्द करने के लिए मजबूर था। लेकिन तभी कुछ मुस्लिम पड़ोसी आए।

उन्होंने हिंदू परिवार की मदद की और इंसानियत की मिसाल पेश की। हम बात कर रहे हैं सावित्री प्रसाद की। 23 साल की सावित्री की 25 फरवरी को शादी थी। उन्होंने बताया कि वह अपने घर में रो रही थी।

बाहर हिंसक भीड़ बवाल काट रही थी। शादी का आयोजन उसी दिन था। सावित्री ने बताया कि उनके कुछ मुस्लिम पड़ोसी उनके साथ थे। वो सामने आए और उन्होंने उनकी मदद की। हालांकि उनकी शादी मंगलवार को नहीं बल्कि बुधवार के दिन हुई। यह बताते-बताते सावित्री भावुक हो गईं और उनकी आंखों से आंसू आने लगे।

सावित्री के पिता भोदय प्रसाद ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि उनका घर उस गली के पास ही है, जहां दंगे भड़के थे। लेकिन उनके घर कुछ नहीं हुआ। इलाके के लोग उनके साथ थे।

उन्होंने बताया कि जब वो छत पर गए तो चारो ओर धुआं ही धुआं दिख रहा था। वो कहते हैं, ‘हमें नहीं पता कि इस दंगे के पीछे कौन है। पर वो हमारे पड़ोसी नहीं हैं। यहां हिंदू-मुस्लिम में बहुत प्यार है।’

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending