Connect with us

नेशनल

खुशखबरीः इस तीरीख को मिल जाएगी गर्मी से राहत, होगी झमाझम बारिश!

Published

on

गर्मी

लखनऊ। इस साल पड़ रही भीषण गर्मी से हर आदमी बेहाल है। पिछले साल के मुकाबले गर्मी का यह सीजन लोगों को ज्यादा परेशान कर रहा है। आलम तो यह है कि सुबह 10 बजे के बाद बाहर निकलने से पहले लोगों को कई बार सोचना पड़ रहा है। लेकिन अब लोगों को जल्द ही इस गर्मी से निजात मिलने वाली है।

गर्मी

खबर है कि यूपी में 29-30 जून तक मानसून दस्तक दे देगा। आपको बता दें कि प्रदेश में इस समय तापमान 40 से 45 डिग्री तापमान रह रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक बीते 10 दिन से बंगाल की खाड़ी में ठहरे मानसून को आगे बढ़ाने वाले कारक सक्रिय हुए हैं। अगले 48-72 घंटों के भीतर पूर्वी यूपी के कई इलाकों में प्री-मानसूनी बारिश हो सकती है।

गर्मी

वहीं, लखनऊ में 40 से 43 डिग्री के बीच पारे से तपा रहे गर्मी ने रविवार को भी शहरियों को हवा के गर्म थपेड़ों संग झुलसाया। दिन भर गर्मी के तेवरों में बेहाल रहने के बाद शाम से पहले राजधानी में शुरू हुई बादलों की आवाजाही ने शहरियों को तपन भरी गर्मी से मामूली राहत दी।

रुक-रुक कर चले लगभग 20 किमी. प्रतिघंटे की रफ्तार के अंधड़ों ने तपन कम की तो रात को झोंको ने सुकून दिलाया। शाम का बदले मौसम के चलते दिन भर घरों कूलर-एसी के सामने दुबके रहने वाले पार्कों, सड़कों पर भी दिखे।

दिन का अधिकतम तापमान सामान्य से 5 डिग्री सेल्सियस अधिक 42.3 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से 3 डिग्री सेल्सियस अधिक 29.8 डिग्री दर्ज हुआ।

नेशनल

अपने ही हेलिकॉप्टर को गिरा बैठे थे वायुसेना के अधिकारी, जांच में पांच अफसर दोषी करार

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना द्वारा 27 फरवरी को श्रीनगर में अपने ही हेलिकॉप्टर पर फायरिंग करने के मामले में पांच अधिकारी दोषी पाए गए हैं। घटना तब कि है जब बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के लड़ाकू विमान भारत की सीमा में घुसने का प्रयास कर रहे थे।

घटना के समय पश्चिमी वायु कमान प्रमुख एयर मार्शल हरि कुमार ऑपरेशन का नेतृत्व कर रहे थे। सूत्रों के मुताबिक जांच में पांच अधिकारियों को दोषी पाया गया है और कार्रवाई के लिए रिपोर्ट वायुसेना के मुख्यालय को भेज दी गई है।

दोषी पाए अधिकारियों में एक ग्रुप कैप्टन, दो विंग कमांडर और दो फ्लाइट लेफ्टिनेंट शामिल हैं। 27 फरवरी को घटना होने के बाद तुरंत वायुसेना ने जांच शुरू की थी और मृत कर्मियों के परिवारों को आश्वासन दिया था कि सभी दोषियों को सजा दी जाएगी।

बता दें कि जम्मू कश्मीर के बडगाम से सात किलोमीटर दूर गारेंद गांव में 27 फरवरी को एक चॉपर MI-17V5 क्रैश हो गया था। चॉपर खेत में जाकर गिरा और इसमें आग लग गई। हादसे की वजह तब साफ नहीं हो पाई थी। हादसे में दो पायलट शहीद हो गए थे। इस चॉपर ने श्रीनगर एयरबेस से उड़ान भरी थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending