Connect with us

आध्यात्म

हफ्ते में सिर्फ दो दिन करें ये काम, मां लक्ष्मी होगी इतनी प्रसन्न कि पलभर में बन जाएंगे करोड़पति

Published

on

सभी लोग चाहते हैं की उनके घर परिवार पर मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहे। इसके लिए प्रत्येक व्यक्ति तमाम पूजा पाठ और दान पुण्य का कार्य करता ही है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताएंगे की पूजा-पाठ के अलावा और वह कौन से तरीके हैं जिससे हमारे ऊपर मां लक्ष्मी की कृपा बनी रह सकती है।

आप किस दिन बाल कटवाते हैं इसका आपके घर परिवार में मां लक्ष्मी की कृपा बने रहने या ना बने रहने का गहरा ताल्लुकात है। जी हां, अगर आप चाहते हैं की आपके घर परिवार में मां लक्ष्मी सदैव कृपा बनाए रखें तो आपको यह ध्यान देना होगा कि आप कब और किस दिन अपना बाल कटवाएं।

 रविवार का दिन – रविवार का दिन सूर्य देव का दिन होता है, ऐसे में अगर आप इस दिन दाढ़ी, बाल या नाखून काटना पसंद करते हैं, तो अब से यह करना बिल्कुल छोड़ दीजिए। रविवार का दिन यूं तो खास होता है, लेकिन नाखून और बाल बिल्कुल भी नहीं काटने चाहिए।

सोमवार के दिन – सोमवार का दिन भोलनाथ का होता है। भोलेनाथ को बाल और दाढ़ी से बहुत लगाव है, ऐसे में इस दिन बाल नहीं कटवाना चाहिए। बता दें कि इस दिन बाल कटवाना शुभ नहीं माना जाता, क्योंकि इस दिन बाल कटवाने से आपको मानसिक परेशानी हो सकती है। साथ ही भोलेनाथ नाराज भी हो जाएंगे।

मंगलवार के दिन – मंगलवार के दिन भूलकर भी आपको बाल नहीं कटवाने चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से आपकी उम्र कम होती है। साथ ही आपको अचनाक से मृत्यु प्राप्त हो जाती है। ऐसे में मंगलवार के दिन आपको बाल कटवाने से हर हाल में बचना चाहिए, वरना आपकी समस्या बढ़ सकती है।

बुधवार के दिन – बुधवार का दिन बहुत ही शुभ होता है। इस दिन आपको बाल या नाखून कटवाने चाहिए। इस दिन ये काम करने से धन धान्य और घर की खुशहाली में वृद्धि भी होती है। साथ ही आपके घर में किसी भी तरह की कोई भी मुसीबत नहीं आती है। घर परिवार में शांति बनी रहती है, ऐसे में बाल बुधवार को ही कटवाना चाहिए।

गुरूवार के दिन – गुरूवार के दिन बाल कटवाना बहुत ही अशुभ माना जाता है, ऐसे में अगर आप इस दिन कुछ करेंगे तो आपको काफी नुकसान होगा। धन हानि के साथ ही आपके मान सम्मान पर भी असर पड़ता है, ऐसे में आपको इस दिन नाखून औऱ बाल नहीं कटवाने चाहिए।

शुक्रवार के दिन – शुक्रवार का दिन बहुत ही शुभ होता है। इस दिन सभी शुभ काम करने चाहिए। शास्त्रों के मुताबिक, अगर आपको बाल या नाखून काटने ही है, तो आपको इसके लिए शुक्रवार का ही दिन चुनना चाहिए, क्योंकि इस दिन इस काम से आपकी लाइफ में तरक्की आएगी। आपके घर में लक्ष्मी जी का वास होगा।

शनिवार के दिन – शनिवार के दिन तो गलती से भी आपको ये काम नहीं करने चाहिए, क्योंकि यह दिन बहुत ही ज्यादा अशुभ माना जाता है। इसके अलावा इस दिन अगर आप ने बाल या नाखून काटे तो आप पर शनि का प्रकोप बरस सकता है, जोकि आपके लिए किसी भी तरह से हितकारी नहीं है।

आध्यात्म

नवरात्रि 2020: राशि अनुसार करें देवी की पूजा, मां भगवती दूर करेंगी सारे संकट

Published

on

By

नवरात्रि के नौ दिनों के इस पर्व के दौरान देवी दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। अश्विन मास के शुक्ल पक्ष में शारदीय नवरात्रि मनाए जाते हैं। हिंदू धर्म में शारदीय नवरात्रि का ज्यादा महत्व होता है।

माना जाता है इस महीने से शुभता और ऊर्जा का आरंभ होता है और ऐसे समय में पूजा से घर में सुख-समृद्धि आती है। मां अपने सभी भक्तों पर कृपा बरसाती हैं और उनकी सभी कष्टों को दूर करती हैं। अगर आप राशि के अनुसार, पूजा करेंगे तो आपकी सभी मनोकामना पूरी हो सकती है और माता रानी आपके कष्टों को दूर कर सकती हैं….

मेष राशि – मेष राशि के जातक स्कन्द माता की पूजा करें और पूजा में लाल रंग के फूल अर्पित करें। इसके साथ है दुर्गा सप्तशती या दुर्गा चालिसा का पाठ करके मां का आशीर्वाद प्राप्त करें।

वृषभ राशि – वृषभ राशि के जातक मां भगवती के महागौरी स्वरूप की पूजा करें और सुगंधित फूल अर्पित करें। इसके बाद ललिता सहस्त्रनाम और सिद्धिकुंजिकास्तोत्र का पाठ अवश्य करें। अगर संभव हो तो माता के चरणों में चांदी का आभूषण अर्पित कर दें।

मिथुन राशि – मिथुन राशि के जातक मां ब्रह्मचारिणी की उपासना करें और कपूर से माता के दरबार में पूजा करें। पूजा के बाद ओम शिव शक्त्यै नम: मंत्र का 108 बार जप करें। इसके साथ ही हरी साड़ी का दान करें।

कर्क राशि – कर्क राशि के जातक इन नौ दिनो में शैलपुत्री मां की पूजा करें और लक्ष्मी सहस्त्रनाम का पाठ करें। माता को लाल व पीले फूल चढ़ाएं। मां वरद मुद्रा अभय दान प्रदान करती हैं।

सिंह राशि – सिंह राशि के जातक मां भगवती के कुष्मांडा स्वरूप की पूजा करें और मां को लाल फूल जरूर अर्पित करें। हर रोज दुर्गा सप्तशति का पाठ जरूर करें और मां के मंत्र की कम से कम 5 माला का जप अवश्य करें।

कन्या राशि – कन्या राशि के जातक नौ दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करें और माता को लाल फूल अर्पित करके 9 कन्याओं को लाल चुनरी दान में दें। आप हर रोज एक माला लक्ष्मी मंत्रों का जप और दुर्गा चालिसा का पाठ करें।

तुला राशि – तुला राशि के जातक महागौरी की पूजा-अराधना करें। साथ ही हर रोज मां काली या फिर दुर्गा सप्तशति के प्रथम चरित्र का पाठ करें। माता को पीले फूल अवश्य अर्पित करें।

वृश्चिक राशि – इस राशि के जातक माता स्कंदमाता की पूजा करें और हर रोज दुर्गा सप्तमी का पाठ करें। इसके साथ अड़हुल के पुष्प अर्पित करें।

धनु राशि – धनु राशि के जातक माता चंद्रघंटा की पूजा करें और श्रीरामरक्षा स्तोत्र का ब्रह्म मुहूर्त में पाठ करें। अगर संभव हो तो जरूरतमंद को अपने यहां खाना खिलाएं। ऐसा करने से माता का आप पर आशीर्वाद बना रहेगा।

मकर राशि – मकर राशि के जातक मां भगवती के कालरात्रि स्वरूप की पूजा करें और नर्वाण मंत्र का हर रोज सुबह-शाम जप करें। जो भक्त माता काली को प्रसन्न कर लेता है, उसे जीवन में कभी किसी चीज की कमी नहीं होती है।

कुंभ राशि – कुंभ राशि के जातक कालरात्रि की पूजा करें और हर रोज देवी कवच का पाठ करें। माता हमेशा अपने भक्तों की मनोकामना पूरी करती है।

मीन राशि – मीन राशि के जातक मां सिद्धिदात्री की पूजा करें और बगलामुखी मंत्र का एक माला जप करें। आप हर रोज सुबह शाम दुर्गा सप्तशति का पाठ करें।

#Navratri #navratri2020 #skandmata #durga

Continue Reading

Trending