Connect with us

करियर

बाबा रामदेव का बेरोजगार युवाओं को तोहफा, पतंजलि में बम्पर भर्ती के लिए शुरू हो गया रजिस्ट्रेशन

Published

on

बाबा रामदेव की पतंजलि में बेरोजगार युवाओं के लिए बड़ी वैकेंसी आयी है। दरअसल, पतंजलि बड़े पैमाने पर बेरोजगार युवाओं को हायर कर रहा है। इन दिनों पतंजलि में दो तरह की भर्ती प्रक्रिया शुरू हुई हैं। एक तो पतंजलि के फूड (आटा, चावल, जूस, आयल और बिस्किट जैसे उत्पाद), पर्सनल केयर, होम केयर और पूजा सामग्री डिवीजन के उत्पादों की बिक्री के लिए सेल्समैन की भर्ती की जा रही है और दूसरे, योग के प्रचार-प्रसार के लिए योग प्रचारकों की। चलिए विस्तार से जानते हैं पतंजलि में आई इन वैकैंसीय को –

पतंजलि में सेल्समैन के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई है। इसके लिए जिला मुख्यालय पर रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुके हैं। रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि 22 जून तय की गई है और सिलेक्शन-ट्रेनिंग कैंप का आयोजन 23 जून से 27 जून तक किया जाएगा। यह जानकारी यहां लक्ष्मी व्यायाम मंदिर में चल रहे पांच दिवसीय योग शिविर में योगाचार्य श्याम बुधौलिया ने लोगों को दी।

सेल्समैन की भर्ती की योग्यता – पतंजलि के उत्पादों की बिक्री के लिए की जा रही भर्ती में सेल्समैन की योग्यता को तय किया गया है। इसमें कम से कम 12वीं पास की योग्यता रखी गई है। इससे ऊपर ग्रेजुएशन-पोस्ट ग्रेजुएशन (बीए-एमए) व एमबीए की भी इसमें शामिल होने का मौका रहेगा। इस क्षेत्र में पहले से एक-दो साल काम कर चुके लोगों को अनुभव के आधार पर वरीयता दिए जाने का भी प्रावधान है। पंजीकरण का शुल्क 500 रुपये निर्धारित किया गया है।

दलालों से बचने की दी गई है सलाह – जिला मुख्यालय पर शुरू की गई भर्ती प्रक्रिया के लिए संपर्क सूत्रों के मोबाइल नंबर भी जारी किए गए हैं। इसमें किसी भी तरह के दलालों से बचने की भी सलाह दी गई है। साथ ही कहा गया है कि नियुक्ति के लिए न तो किसी के बहकावे में आएं और न ही किसी को पैसा दें। सेल्समैन का वेतन आठ हजार रुपये से लेकर 15 हजार रुपये तक शहर, कैटेगरी और योग्यता के हिसाब से देने की बात लोगों को यहां बताई गई।

करियर

मैं आपके साथ हूं… राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर बोले पीएम मोदी

Published

on

By

देश की नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर पीएम मोदी ने शुक्रवार को कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति को जमीन पर उतारने के लिए जो भी करना होगा, वो जल्द किया जाएगा।

Cricket : शान मसूद के शतक की बदौलत इंग्लैंड पर भारी हुआ पाकिस्तान

आपको इसे लागू करने में जो भी मदद चाहिए, मैं आपके साथ हूं। शिक्षा नीति में देश के लक्ष्यों का ध्यान रखना जरूरी है, ताकि भविष्य के लिए पीढ़ी को तैयार किया जा सके। ये नीति नए भारत की नींव रखेगी – पीएम ने कहा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कभी डॉक्टर-इंजीनियर-वकील बनाने की होड़ लगी हुई थी, अब युवा क्रिएटिव विचारों को आगे बढ़ाया जा सकेगा, अब सिर्फ पढ़ाई नहीं बल्कि वर्किंग कल्चर को डेवलेप किया गया है।

#Uttarakhand #pmmodi #nationaleducationpolicy #pmmodilive

Continue Reading

Trending