Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

जवान टीचर ने इंस्टाग्राम पर शेयर की ऐसी तस्वीर, प्रिंसिपल बोला, “स्कूल मत आना, बच्चे बेकाबू हो जाएँगे”

Published

on

नई दिल्ली। हर कोई सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीरें शेयर करता है। इसमें उस इंसान का व्यवसाय कभी आड़े नहीं आता। लेकिन क्या हो, अगर सोशल मीडिया पर शेयर की गई तस्वीरें व्यवसाय के आड़े आ जाएं। ऐसा ही कुछ हुआ रूस में रहने वाली 26 साल की महिला विक्टोरिया पोपोवा के साथ। रूस के एक स्कूल ने विक्टोरिया को स्कूल से बाहर निकाल दिया है। क्योंकि विक्टोरिया ने अपने इंस्टाग्राम पर एक फोटो शेयर कर दी थी। विक्टोरिया रूस के ओम्स्क में एक स्कूल में पढ़ाती थीं।

कुछ दिनों पहले विक्टोरिया ने इंस्टाग्राम पर अपनी एक फोटो शेयर की थी। जिसमें उन्होंने स्विम सूट पहन रखा था। जिसकी वजह से उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया। स्कूल के अनुसार ऐसा करके विक्टोरिया ने स्कूल और टीचिंग के पेशे को अपमानित किया है। इस घटना के बाद बहुत से सोशल मीडिया पर विक्टोरिया के समर्थन में खड़े हो गए हैं। करीब तीन हजार लोगों ने स्विमसूट पहनकर अपनी फोटो खींचवाई और सोशल मीडिया पर शेयर की।

ज्यादातर लोग स्कूल के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं। इस विरोध के लिए #teachersarepeopletoo (टीचर भी इंसान हैं) का इस्तेमाल कर रहे हैं।

अन्तर्राष्ट्रीय

दुनिया पर मंडराने लगा चीनी कैट क्यू वायरस का ख़तरा, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी

Published

on

नई दिल्ली। जहां एक ओर पूरी दुनिया कोरोना नामक महामारी से जूझ रही है। अब तक लाखों लोगों की मौत इस वायरस हो चुकी है जबकि करोड़ों लोग इस वायरस से संक्रमित चुके हैं। वहीं, अब एक और चीनी वायरस की खबर से पूरी दुनिया दहशत में है। इसका नाम कैट क्यू वायरस है।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने भारत सरकार को चेतावनी दी है कि चीन का कैट क्यू वायरस यानी भारत में दस्तक दे सकता है। ये वायरस आर्थ्रोपोड-जनित वायरस की श्रेणी में आता है। ये क्यूलेक्स नामक मच्छरों के अलावा सूअर में भी पाया जाता है। खबरों की मानें तो चीन और वियतनाम में बड़े पैमाने पर लोग इस वायरस से ग्रसित पाए गए हैं।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद की रिपोर्ट में कहा गया है कि यह वायरस इंसान में ज्वर की बीमारी मेनिंजाइटिस और बच्चों में इन्सेफलाइटिस की समस्या पैदा करेगा। वैज्ञानिकों ने अपनी चेतावनी में कहा है कि भारत में भी क्यूलेक्स मच्छरों में कैट क्यू वायरस जैसा ही कुछ मिला है। कैट क्यू वायरस मुख्यत सूअरों में ही पाया जाता है और चीन के पालतू सूअरों में इस वायरस के खिलाफ पनपी ऐंटीबॉडीज पाई गई हैं। इसका मतलब है कि कैट क्यू वायरस ने चीन में स्थानीय स्तर पर अपना प्रकोप फैलाना शुरू कर दिया है।

Continue Reading

Trending