Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

नेशनल

26 लाख से शुरू होगी स्कोडा ओक्टाविआ की नयी पेशकश

Published

on

वाहन निर्माता कंपनी स्कोडा ने अपनी लोकप्रिय सेडान ऑक्टेविया की फोर्थ जनरेशन को भारत में लॉन्च कर दिया है। कंपनी ने इस कार को दो वेरिएंट में पेश किया है, जिसमें ऑक्टेविया के बेस वैरिएंट की कीमत 25.99 लाख रुपये और टॉप-स्पेक ट्रिम की कीमत 28.99 लाख रुपये तय की गई है। बता दें, 2019 में वैश्विक बाजारों में अपने एंट्री के ​बाद स्कोडा ओक्टाविआ को भारत में लगभग दो साल बाद लॉन्च किया गया है।

2021 स्कोडा ऑक्टेविया की लंबाई 4,689 मिमी, ऊंचाई 1,469 मिमी और चौड़ाई 2,003 मिमी है, इस कार में 2,680 मिमी का व्हीलबेस और 17 इंच के एलॉय व्हील दिए गए हैं। हालांकि अलॉय व्हील का डिजाइन दोनों वेरिएंट के लिए अलग दिए गए हैं। नई ऑक्टेविया में दोबारा से डिज़ाइन किए गए फ्रंट फेस में एक ग्रिल है, जिसे अब अधिक प्रीमियम लुक के लिए क्रोम ट्रीटमेंट मिलता है। ग्रिल को बाय-एलईडी हेडलाइट्स से लैस किया गया है। इसके साथ ही क्रोम स्ट्रिप फॉग लैंप केसिंग को जोड़ती है, और रियर की तरफ नई स्कोडा बैजिंग के साथ टेललाइट्स अब पहले की तुलना में अधिक आकर्षक बना दी गई है।

नई स्कोडा ऑक्टेविया में कंपनी ने 2.0-लीटर TSI पेट्रोल इंजन का प्रयोग किया है, यह इंजन 188 bhp की पावर और 320 Nm का पीक टॉर्क पैदा करने में सक्षम है। वहीं इसे पैडल शिफ्टर्स के साथ सात-स्पीड डीएसजी ऑटोमैटिक गियरबॉक्स से जोड़ा गया है। बता दें, स्कोडा ने पहली बार 2021 ऑक्टेविया में नया शिफ्ट-बाय-वायर गियर विकल्प भी पेश किया है, जो डीएसजी गियरबॉक्स के लिए पारंपरिक गियर लीवर की जगह लेता है।

Continue Reading

नेशनल

कोवैक्सीन को लेकर आई अच्छी खबर, तीसरे फेज में 77.8% असरदार पाया गया टीका

Published

on

नई दिल्ली। भारत की वैक्सीन कोवैक्सीन को लेकर एक अच्छी खबर सामने आई है। इस स्वदेशी वैक्सीन को बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक के मुताबिक तीसरे चरण के ट्रायल में यह टीका 77.8 फीसदी असरदार पाया गया है। बता दें कि भारत में जिन दो वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल मिला है कोवैक्सीन उसमें से एक है।

सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमिटी (SEC) ने भारत बायोटेक की ओर से उपलब्ध कराए गए डेटा की समीक्षा की है। हालांकि अभी इसे मंजूरी नहीं दी गई है। ट्रायल डेटा की समीक्षा के लिए मंगलवार को एक्सपर्ट पैनल की बैठक हुई।

SEC की ओर से इस डेटा को अब ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) के पास भेजा जाएगा। भारत बायोटेक ने पैनल के सामने डेटा को रखा है, जिसके मुताबिक यह 77.8 फीसदी प्रभावी पाया गया है। SEC में अब आंकड़ों को परखा जा रहा है।

Continue Reading

Trending