Connect with us

मुख्य समाचार

मंदसौर में किसान रैली में राहुल गांधी क्या बोलेंगे, इंतजार कीजिए

Published

on

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मध्य प्रदेश के मंदसौर में किसानों पर पुलिस गोलीबारी की पहली बरसी के मौके पर बुधवार को ‘किसान समृद्घि श्रद्घांजलि सभा’ को संबोधित करेंगे। यह सभा पिपलियामंडी में होगी। देशभर के विभिन्न हिस्सों से किसान नेता यहां पहुंच रहे हैं, जिसे देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं।

कांग्रेस कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, राहुल गांधी दोपहर लगभग 12.20 बजे चार्टर्ड प्लेन से मंदसौर हवाई पट्टी पर उतरेंगे। वहां से हेलीकॉप्टर से 12.45 बजे सभा स्थल पिपलियामंडी पहुंचेंगे। वह दोपहर तीन बजे दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

पिपालियामंडी में आयोजित इस सभा में कांग्रेस के प्रमुख नेता कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, कांतिलाल भूरिया, दिग्विजय सिंह सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहेंगे।

देश के कई राज्यों में ‘गांव बंद’ आंदोलन आज का आज छठा दिन है। कई इलाकों में दूध और सब्जियों की आपूर्ति प्रभावित है। वहीं कई स्थानों पर सब्जियों की बिक्री सुरक्षा बलों की मौजूदगी में हो रही है। मंदसौर घटना के एक साल पूरे होने पर किसानों ने 10 दिवसीय गांव बंद आंदोलन का आयोजन किया है। इस आंदोलन में किसान गांव से सामान न तो शहर ले जा रहे हैं और न ही शहर से सामान खरीदकर गांव ला रहे हैं।

किसान नेता डा सुनीलम ने बताया, “मंदसौर में गोलीकांड की पहली बरसी पर बड़ी संख्या में देशभर से किसान नेता यहां पहुंच रहे हैं।”

गौरतलब है कि बीते साल इसी दिन पुलिस की गोलीबारी में छह किसानों की मौत हुई थी जबकि पुलिस की पिटाई से एक किसान ने दम तोड़ दिया था। (इनपुट आईएएनएस)

नेशनल

निर्भया के दोषियों को इस दिन दी जा सकती है फांसी, सताने लगा मौत का डर

Published

on

नई दिल्ली। देश में बढ़ती रेप की घटनाओं को लेकर लोगों के अंदर गुस्सा है। पहले हैदराबाद में डॉक्टर दिशा की रेप के बाद जलाकर की गई हत्या हो या उन्नाव में रेप पीड़िता को जलाकर मार देना। लोग रेप के दोषियों के जल्द से जल्द फांसी देने की मांग कर रहे हैं। इस बीच निर्भया को दोषियों को भी अपनी मौत का डर सताने लगा है। दरअसल दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के बाद गृह मंत्रालय ने निर्भया के दोषियों की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास भेजा है। अब अगर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दया याचिका को खारिज करते हैं तो दोषियों को सजा दी जाएगी।

निर्भया के दोषियों की दया याचिका खारिज होने के बाद अब उनकी फांसी की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इसी बीच फांसी की तारीख को लेकर भी कई मीडिया रिपोर्ट्स सामने आ रही हैं, जिसमें दिसंबर 2019 का ही एक दिन फांसी के लिए तय बताया जा रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार निर्भया के दोषियों को उसी दिन सजा दी जा सकती है जिस तारीख को उसके साथ घिनौना कृत्य किया गया था जिसमें उसकी जान चली गई।

कहा जा रहा है कि निर्भया के दोषियों 16 दिसंबर को ही सुबह पांच बजे फांसी दी जा सकती है। हालांकि इस बात की पुष्टि अभी जेल प्रशासन ने नहीं की है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि फांसी की तारीख लगभग तय है। तिहाड़ प्रशासन को सिर्फ जल्लाद मिलने की तलाश है। निर्भया से दुष्कर्म और हत्या के जुर्म में मौत की सजा पाए तिहाड़ में बंद दोषियों को फांसी के लिए अधिकारियों को जल्लाद नहीं मिल रहा है। सूत्रों ने बताया कि इसलिए अधिकारी जल्लाद की तलाश में देश की अन्य जेलों के चक्कर काट रहे हैं। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के जेल अधिकारियों से इस बारे में अनौपचारिक बातचीत चल रही है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending