Connect with us

नेशनल

आईपीएल में सट्टा लगाने में इस मशहूर एक्टर का नाम आया सामने, बॉलीवुड में मचा हडकंप!

Published

on

आईपीएल

मुंबई। आईपीएल का फाइनल 27 मई को हुआ। फाइनल चेन्नई ने जीता और इसी के साथ आईपीएल खत्म हो गया लेकिन इसकी चर्चा अभी भी जारी है। आईपीएल की चर्चा क्यों हो रही है इस बात पर आने से पहले बता दें कि जिस टीम ने इस बार आईपीएल का खिताब जीता है वह मैच फिक्सिंग के चक्कर में बैन झेल चुकी है। अब असली मुद्दे पर आते हैं।आईपीएल खत्म होने के बाद भी वह चर्चा में है क्योंकि सट्टेबाजी का जिन्न एक फिर बाहर निकल आया है।

आईपीएल

महाराष्ट्र पुलिस ने कुछ दिनों पहले हाई प्रोफाइल बुकी सोनू जालान को गिरफ्तार किया था जिसके बाद पूछताछ के दौरान उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए। सोनू ने पुलिस को कई ऐसे हाई प्रोफाइल लोगों के नाम बताए हैं जिन्होंने आईपीएल मैच में सट्टा लगाया था।

इस हाई प्रोफाइल रैकेट में सलमान खान के भाई अरबाज खान का नाम भी सामने आया है। छापेमारी के दौरान पुलिस को एक डायरी मिली जिसमें कई हाई प्रोफाइल लोगों के साथ अरबाज खान का नाम भी शामिल था। अब ठाणे पुलिस पूरे मामले पर अरबाज खान से पूछताछ की तैयारी में है। जानकारी के मुताबिक पुलिस द्वारा अरबाज खान को समन जारी किया गया है।

आईपीएल

ठाणे पुलिस के मुताबिक, सट्टेबाजी के मामले की जांच करीब 6 साल से चल रही है। इसमें अब तक 500 से 600 करोड़ रुपए लगाए जाने का शक है। अरबाज शनिवार को एंटी-एक्सटॉर्शन सेल के दफ्तर में पेश होंगे। इस दौरान उनके बयान दर्ज किए जाएंगे। अरबाज से सट्टेबाजी रैकेट में उनकी भूमिका के बारे में पूछताछ होगी।

आईपीएल

एंटी एक्सटॉर्शन सेल के प्रमुख इंस्पेक्टर प्रदीप शर्मा ने बताया कि अरबाज खान और सटोरिये सोनू जालान के बीच लिंक मिला है। पुलिस को उसके मोबाइल से अरबाज के साथ तस्वीरें भी मिली हैं। इसीलिए उन्हें पूछताछ के लिए समन भेजा है।

बता दें कि पुलिस ने आईपीएल मैचों में सट्टा लगाने के आरोप में सोनू जालाना उर्फ सोनू मलाड को 29 मई को गिरफ्तार किया था। शुक्रवार को उसके घर से एक डायरी मिली। इसमें अरबाज खान समेत कई बॉलीवुड सेलिब्रेटी, कॉन्ट्रैक्टर और बिल्डर के नाम मिले हैं। करीब 100 से ज्यादा सटोरियों के मोबाइल नंबर भी दर्ज हैं।

नेशनल

पीएम मोदी का ट्वीट, ये वक्त शांति बरतने का, अफवाहों से बचें

Published

on

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ देश के कई जगहों पर हो रहे हिंसक प्रदर्शन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बयान आया है।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर देश में शांति और हिंसक प्रदर्शन न करने को कहा है। प्रधानमंत्री ने लिखा, ‘बहस, चर्चा और असंतोष लोकतंत्र का हिस्सा है, लेकिन सार्वजनिक प्रॉपर्टी को नुकसाना पहुंचाना और आम जीवन को प्रभावित करना लोकतंत्र का हिस्सा नहीं है।

‘प्रधानमंत्री ने लिखा कि ये वक्त शांति बरतने और एकता दिखाने का है। मैं सभी से अपील करता हूं कि ऐसे वक्त में किसी भी तरह की अफवाह और झूठ से बचें।

पीएम ने लिखा, ‘नागरिकता संशोधन एक्ट, 2019 संसद के दोनों सदनों के द्वारा पास किया गया है। बड़ी संख्या में राजनीतिक दलों और सांसदों ने इस बिल का समर्थन किया है। ये एक्ट भारत की पुरानी संस्कृति जो कि भाईचारा सिखाती है, उसका संदेश देती है।’

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending