Connect with us

प्रादेशिक

घर में लड़की थी अकेले, प्रेमी को फोन कर बोली- जल्दी से आ जाओ और दोस्त को भी साथ ले आना

Published

on

प्रेमी

फर्रुखाबाद के कम्पिल थाना क्षेत्र में एक बेहद अजीबोगरीब घटना देखने को मिली जहां एक लड़की ने घर में अकेले होने पर अपने प्रेमी को फोन कर बुला लिया। प्रेमिका के बुलावे पर प्रेमी दोस्त संग तुरंत चल दिया और प्रमिका के गांव पहुंच गया। लेकिन इसके बाद जो हुआ उसका अंदाजा शायद उन लोगों को नहीं होगा।

प्रेमी

देर रात मोहम्मदाबाद कोतवाली के गांव सुल्तानपुर का रहने वाला गोविंद पुत्र हंसराज अपने साथी जिला मैनपुरी के कोतवाली भोगांव के गांव विराहिमपुर के रहने वाले दीपेंद्र उर्फ दीपू पुत्र सत्य प्रकाश के साथ अपनी प्रेमिका से मिलने के लिए कम्पिल थाना क्षेत्र के एक गांव में पहुंचा। घर के पास पहुंचकर जब प्रेमी ने प्रेमिका के घर घुसने का प्रयास किया तो गांव वालों ने दोनों को पकड़ लिया।

पकड़े जाने के बाद गांव वालों ने पूछताछ की तो उल्टा दोनों ग्रामीणों पर रौब झाड़ना शुरु कर दिए। इसी बात को लेकर ग्रामीणों ने प्रेमी और उसके दोस्त की जमकर पिटाई कर दी। ग्रामीणों ने जब उस लड़के का बैग चेक किया तो आपत्तिजनक चीजों के साथ उसकी प्रेमिका की तस्वीर भी मिली जिसके बाद यह सारा मामला खुल गया।

जानकारी मिलने पर थानाध्यक्ष फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और दोनों युवक को थाने ले आए। प्रेमी गोविंद ने बताया कि मेरा उस लड़की से 2 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा है। लड़की जिला एटा में पढ़ रही थी उसी दौरान दोनों में प्रेम हो गया था। प्रेमिका की मां रिश्तेदारों के घर गई हुई थी। मौका पाकर प्रेमिका ने फोन कर मिलने के लिए बुलाया था। जिससे आपस में मौज मस्ती कर सके। लेकिन सारी मौज मस्ती जूतों और लात घूसे खाने में निकल गई।

आपको बता दें कि लड़की के घर वालों ने बदनामी के डर से अभी तक कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है। जिसकी वजह पुलिस ने भी अभी तक दोनों लड़को के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया है। थानाध्यक्ष महेंद्र नाथ त्रिपाठी ने बताया कि अभी तहरीर नहीं आई है मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

नेशनल

योगी की सभा में खाली पड़ी रह गईं कुर्सियां, नहीं पहुंचे सुनने वाले

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की एक चुनावी सभा से ऐसी तस्वीर सामने आई है, जिसने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और स्टार प्रचारकों में शुमार हेमा मालिनी की लोकप्रियता पर सवाल खड़े कर दिए हैं। मथुरा की विजय संकल्प सभा में योगी आदित्यनाथ और हेमा मालिनी के एक मंच पर मौजूद रहने के बावजूद भी सभा की अधिकतर कुर्सियां खाली पड़ी रही।

एक वरिष्ठ पत्रकार ने मथुरा की सभा का फ़ोटो को अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है, जहां योगी आदित्यनाथ और हेमा मालिनी की मौजूदगी के बावजूद भी दर्शकों का अभाव रहा। बता दें कि मथुरा की सांसद और भाजपा की स्टार प्रचारक हेमा मालिनी ने सोमवार को लोकसभा चुनाव में मथुरा से अपना नामांकन पत्र भरा। इसके बाद इन दोनों नेता जनसभा को संबोधित करने गए थे।

योगी आदित्यनाथ ने चुनाव आयोग के आदेशों को दिखाया ठेंगा

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने हेमा के नामंकन के बाद मथुरा में विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए दिखा दिया चुनाव आयोग को ठेंगा। दरअसल फिर से सत्ता पर काबिज होने की जद्दोजहद में माननीय मुख्यमंत्री यह भूल गए कि चुनाव आयोग ने पुलवामा, बालाकोट व सेना से जुड़े मुद्दों को मंच से उठाने व होर्डिंग इत्यादि लगवाकर राजनीत करने पर रोक लगा दी है लेकिन उसके बाद भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए व मौजूदा केंद्र में बैठी बीजेपी की मोदी सरकार की तारीफ में कसीदे पढ़ते हुए इन्ही मुद्दों को मंच से उछाला।

मौका था हेमा के नामांकन के तुरंत बाद भाजपा की विजय संकल्प रैली का इस बाबत जब माननीय मुख्यमंत्री से बात करने का प्रयास किया तब वह कैमरे पर आकर कुछ नही बोले व सभा समाप्ति के तुरंत बाद हेलीपैड को रवाना हो गए जहां पहुंच वह अपने अगले गंतव्य को निकल गए।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending