Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

BREAKING : बाबा रामदेव ने लॉन्च किया स्वदेशी वॉट्सऐप Kimbho, Mark Zuckerberg से सीधी टक्कर

Published

on

नई दिल्ली: योग गुरु बाबा रामदेव  की कंपनी पतंजलि ने दुनिया की सबसे बड़ी मेसेजिंग ऐप वॉट्सऐप की टक्कर पर एक मैसेजिंग ऐप लॉन्च की है। इस ऐप का नाम किंभो (Kimbho) है, जो गूगल प्ले स्टोर पर भी डाउनलोड के लिए उपलब्ध है। इस ऐप की टैगलाइन है- अब भारत बोलेगा।

व्हाट्सएप जैसा दिखता है Kimbho :

ये एप देखने में  बिलकुल व्हाट्सएप जैसा है. यहां तक की इसका ‘लोगो’ भी व्हाट्सएप के ‘लोगो’ जैसा ही दिखता है. इसमें भी यूजर को व्हाट्सएप की तरह कॉन्टेक्ट लिस्ट , एक्टिविटी जैसे ऑप्शन दिख रहे हैं.एप का पूरा ले आउट आपको व्हाट्सएप जैसा ही दिखेगा.  इस एप को व्हाट्सएप की तरह हरे रंग के बैकग्राउंड के साथ डिजाइन किया गया है.

kimbho app, baba ramdev, baba ramdev sim, patanjali app, kimbho, whatsapp kimbho, patanjali kimbho, ramdev kimbho, किम्भो एप, बाबा रामदेव, बाबा रामदेव सिम, पतंजलि सिम, किम्भो, व्हाट्सएप किम्भो, पतंजलि किम्भो, रामदेश किम्भो

सिम कार्ड के बाद बाबा रामदेव ने लॉन्च की मेसेजिंग ऐप Kimbho, वॉट्सऐप से होगी टक्कर

योग गुरु रामदेव ने लॉन्च किया देशी मैसेजिंग एप Kimbho, व्हाट्सएप को मिलेगी टक्कर

kimbho app, baba ramdev, baba ramdev sim, patanjali app, kimbho, whatsapp kimbho, patanjali kimbho, ramdev kimbho, किम्भो एप, बाबा रामदेव, बाबा रामदेव सिम, पतंजलि सिम, किम्भो, व्हाट्सएप किम्भो, पतंजलि किम्भो, रामदेश किम्भो

पतंजलि के प्रवक्ता एसके तीजारवाला ने ट्वीट करके सबको इस एप के लॉन्च के बारे में जानकारी दी. उन्होंने ट्वीट किया, ‘अब भारत बोलेगा. सिमकार्ड लॉन्च करने का बाद अब बाबा रामदेव ने नया मैसेजिंग एप्लिकेशन लॉन्च किया है, जिसका नाम किंम्भो (Kimbho) है. अब व्हाट्सएप को कड़ी टक्कर मिलेगी. हमारा अपना स्वेदेशी मैसेजिंग एप. इसे गूगल स्टोरे से डाउनलोड किया जा सकता है

 

kimbho app, baba ramdev, baba ramdev sim, patanjali app, kimbho, whatsapp kimbho, patanjali kimbho, ramdev kimbho, किम्भो एप, बाबा रामदेव, बाबा रामदेव सिम, पतंजलि सिम, किम्भो, व्हाट्सएप किम्भो, पतंजलि किम्भो, रामदेश किम्भो

अन्तर्राष्ट्रीय

चीन का रवैया देख भारत सरकार ने लिया बड़ा फैसला, उठाएगी ये कदम

Published

on

By

पीपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी चाईना के लद्दाख में लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर अपनी पुराना रवैया जारी रखा है। चीन ने कई इलाकों (गोगरा पोस्‍ट, हॉट स्प्रिंग्‍स) के साथ ही पैंगोंग त्‍सो पर भी पीएलए जवानों की तैनाती की हुई है।

चीन की इस हरकत को देखते हुए मोदी सरकार ने अब चीन को जवाब देने का फैसला किया है। भारत अब कई नए तरीकों पर विचार कर रहा है।

तोंद ने बचा ली इस शख्स की जान, जानिए आखिर क्या है पूरा मामला

केंद्र सरकार आने वाले समय में अब कुछ नए तरीके अपनाने की तैयारी कर रही है,इससे भारतीय जवान भी अपनी पुरानी लोकेशंस पर लौट सकते हैं। चीन और भारत के बीच इस तनातनी की स्थिति में भारत सरकार कोई बड़ा कदम भी उठा सकती है।

#china #india #lac #pmmodi #indochinatension

Continue Reading

Trending