Connect with us

नेशनल

एच.डी.कुमारस्वामी आज लेंगे कर्नाटक मुख्यमंत्री पद की शपथ, समारोह में भाजपा विरोधी करेंगे गलबाहियां

Published

on

कर्नाटक चुनाव परिणाम में कई रंग दिखे। पहले भाजपा के बी.एस. येदियुरप्पा ने ढाई दिन के मुख्यमंत्री पद को संभाला और फिर बहुमत न होने की वजह से इस्तीफा दे दिया। आज एच.डी. कुमारस्वामी कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। कुमारस्वामी जेडीएस पार्टी से हैं। कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष जी. परमेश्वरा जनता दल-सेक्युलर (जेडी-एस) और कांग्रेस की गठबंधन सरकार में उप मुख्यमंत्री होंगे। कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में की एक खास बात यह भी रहेगी की भाजपा विरोधी लगभग सभी पार्टियां इस शपथ ग्रहण समारोह में दिखेंगी।

कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष जी. परमेश्वरा जनता दल-सेक्युलर (जेडी-एस) और कांग्रेस की गठबंधन सरकार में उप मुख्यमंत्री होंगे।

मंत्रिमंडल में कुल 34 मंत्री होंगे जिसमें से कांग्रेस के 22 और जेडी-एस के 12 मंत्री होंगे।विधानसभा का स्पीकर कांग्रेस से होगा और डिप्टी स्पीकर जेडी-एस से होगा। स्पीकर और डिप्टी स्पीकर के नामों की घोषणा गुरुवार को की जाएगी और कैबिनेट मंत्रियों के नामों व विभागों की घोषणा सदन में बहुमत परीक्षण के बाद की जाएगी।

एच.डी. कुमारस्वामी कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री

कुमारस्वामी के बुधवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में भाजपा विरोधी पार्टियां वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले अपनी एकता प्रदर्शित करेंगी। सर्वोच्च न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद हाथ में आए इस मौके पर कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष व संप्रग की अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बसपा प्रमुख मायावती, समाजवादी प्रमुख अखिलेश यादव, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव, द्रमुक मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के नेता एम.के. स्टालिन, रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह, माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी और अभिनेता से नेता बने कमल हासन भी मौजूद रहेंगे।

इनके अलावा इस समारोह में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्रप्रदेश के नेता चंद्रबाबू नायडू भी शिरकत करेंगे। वहीं कांग्रेस रहित तीसरे मोर्चे को हवा देने वाले तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव इस समारोह में नहीं आएंगे।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह

विपक्ष के इन प्रयासों पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि देश में माहौल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में है और एनडीए 2014 की तुलना में और ज्यादा बहुमत के साथ फिर सत्ता में आएगी।

उन्होंने इस संबंध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा, “ममता बनर्जी कर्नाटक में क्या करेंगी और कुमारस्वामी बंगाल में क्या करेंगे।”

बी.एस. येदियुरप्पा ने ढाई दिन के मुख्यमंत्री

इससे पहले कर्नाटक के राजनीतिक तूफान का अंत तब हो गया था, जब सर्वोच्च न्यायालय ने भाजपा के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा को 15 दिन के बजाय 26 घंटे के अंदर सदन में बहुमत साबित करने का आदेश दिया। लेकिन विश्वास मत हासिल करने से पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया। इस तरह येदियुरप्पा ढाई दिन के मुख्यमंत्री साबित हुए। (इनपुट आईएएनएस)

नेशनल

बीजेपी प्रत्याशी ने पीएम मोदी और सीएम योगी पर दिया विवादित बयान

Published

on

लखनऊ। 2019 के लोकसभा चुनाव में नेताओं के विवादित टिप्पणियों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस कड़ी में बलिया लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी और भदोही से सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर विवादित बयान दे दिया।

वीरेंद्र ने कहा कि ‘किसान खाता भी है और खिलाता भी है। मैंने पीएम मोदी से कहा कि वो किसानों के लिए भी सरकारी नौकरी की तरह 60 साल की उम्र के बाद पेंशन योजना लागू करें।

उन्होंने कहा, “मैंने मोदी से कहा कि किसानों को सालाना 12 हजार रुपये खेती के लिए मिलना चाहिए तो मोदी ने बजट का हवाला देकर 6 हजार देने का ऐलान कर दिया।”

वीरेंद्र ने पीएम मोदी और सीएम योगी पर निशाना साधते हुए कहा कि ये पैसा जो किसानों को मिल रहा है वो मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के बाप का पैसा नहीं है, यह आपका पैसा है।

माना जा रहा है कि बीजेपी सांसद ने अपनी ही पार्टी के शीर्ष नेताओं की आलोचना करके विपक्ष को हमलावर होने का एक और मौका दे दिया है। बलिया के स्थानीय विपक्षीय नेता वीरेंद्र सिंह के बयान को जरूर चुनावों में उछाल सकते हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending