Connect with us

नेशनल

एच.डी.कुमारस्वामी आज लेंगे कर्नाटक मुख्यमंत्री पद की शपथ, समारोह में भाजपा विरोधी करेंगे गलबाहियां

Published

on

कर्नाटक चुनाव परिणाम में कई रंग दिखे। पहले भाजपा के बी.एस. येदियुरप्पा ने ढाई दिन के मुख्यमंत्री पद को संभाला और फिर बहुमत न होने की वजह से इस्तीफा दे दिया। आज एच.डी. कुमारस्वामी कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। कुमारस्वामी जेडीएस पार्टी से हैं। कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष जी. परमेश्वरा जनता दल-सेक्युलर (जेडी-एस) और कांग्रेस की गठबंधन सरकार में उप मुख्यमंत्री होंगे। कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में की एक खास बात यह भी रहेगी की भाजपा विरोधी लगभग सभी पार्टियां इस शपथ ग्रहण समारोह में दिखेंगी।

कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष जी. परमेश्वरा जनता दल-सेक्युलर (जेडी-एस) और कांग्रेस की गठबंधन सरकार में उप मुख्यमंत्री होंगे।

मंत्रिमंडल में कुल 34 मंत्री होंगे जिसमें से कांग्रेस के 22 और जेडी-एस के 12 मंत्री होंगे।विधानसभा का स्पीकर कांग्रेस से होगा और डिप्टी स्पीकर जेडी-एस से होगा। स्पीकर और डिप्टी स्पीकर के नामों की घोषणा गुरुवार को की जाएगी और कैबिनेट मंत्रियों के नामों व विभागों की घोषणा सदन में बहुमत परीक्षण के बाद की जाएगी।

एच.डी. कुमारस्वामी कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री

कुमारस्वामी के बुधवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में भाजपा विरोधी पार्टियां वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले अपनी एकता प्रदर्शित करेंगी। सर्वोच्च न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद हाथ में आए इस मौके पर कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष व संप्रग की अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बसपा प्रमुख मायावती, समाजवादी प्रमुख अखिलेश यादव, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव, द्रमुक मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के नेता एम.के. स्टालिन, रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह, माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी और अभिनेता से नेता बने कमल हासन भी मौजूद रहेंगे।

इनके अलावा इस समारोह में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्रप्रदेश के नेता चंद्रबाबू नायडू भी शिरकत करेंगे। वहीं कांग्रेस रहित तीसरे मोर्चे को हवा देने वाले तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव इस समारोह में नहीं आएंगे।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह

विपक्ष के इन प्रयासों पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि देश में माहौल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में है और एनडीए 2014 की तुलना में और ज्यादा बहुमत के साथ फिर सत्ता में आएगी।

उन्होंने इस संबंध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा, “ममता बनर्जी कर्नाटक में क्या करेंगी और कुमारस्वामी बंगाल में क्या करेंगे।”

बी.एस. येदियुरप्पा ने ढाई दिन के मुख्यमंत्री

इससे पहले कर्नाटक के राजनीतिक तूफान का अंत तब हो गया था, जब सर्वोच्च न्यायालय ने भाजपा के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा को 15 दिन के बजाय 26 घंटे के अंदर सदन में बहुमत साबित करने का आदेश दिया। लेकिन विश्वास मत हासिल करने से पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया। इस तरह येदियुरप्पा ढाई दिन के मुख्यमंत्री साबित हुए। (इनपुट आईएएनएस)

नेशनल

मस्जिद को तोड़ने पर अंदर मिला प्राचीन मंदिर? सच्चाई जानें यहां…

Published

on

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर इन दिनों एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है। तस्वीर को लेकर दावा किया जा रहा है कि कर्नाटक की एक मस्जिद को सौंदर्यीकरण के लिए गिराए जाने के बाद खुदाई के दौरान वहां से जैन मंदिर मिला है।

इस तस्वीर को सच मानकर कुछ लोग इसे तेजी से आगे फॉर्वर्ड कर रहे हैं। जब ये तस्वीर हमारे सामने आई तो हमने भी इसकी जांच करने का फैसला किया।

हमने जानना चाहा कि फोटो के साथ किया जा रहा दावा क्या सच में सही है या फिर ये फेक न्यूज है। इस फोटो को जब हमने गूगल रिवर्स टूल की मदद से खोजना शुरू किया तो पाया कि मस्जिद के नीचे से जैन मंदिर मिलने का दावा पूरी तरह से गलत है। यह तस्वीर मध्य प्रदेश के ग्वालियर में गोपाचल पर्वत पर मशहूर पर्यटन स्थल ग्वालियर किला की है।

कर्नाटक रायचूर मे रोड सौंदर्यीकरणकरने के लिये मस्जिद गिराई उस मस्जिद के नीचे निकला जैन मंदिर 👇👇🏻🤔

Bhavesh Haria ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶನಿವಾರ, ಜೂನ್ 1, 2019

इसी पर्वत को तराशकर हजारों जैन मूर्तियां बनाई गई हैं। अगर आपके भी पास इस तरह की तस्वीर आई है तो आप आगे इसे फॉर्वर्ड न करें क्योंकि तस्वीरों में किया जा रहा दावा पूरी तरह से गलत है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending