Connect with us

नेशनल

कर्नाटक चुनाव: 78 वाले राहुल ख़ुशी छिपा नहीं पा रहे, 104 वाले शाह चेहरा दिखा नहीं पा रहे

Published

on

बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा में नए मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा सिर्फ ढाई दिन के ही मुख्यमंत्री साबित हो पाए। येदियुरप्पा बहुमत साबित नहीं कर पाए और कर्नाटक विधानसभा में अपने 13 पेज के भाषण में देने के बाद अपने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। येदियुरप्पा ने विधानसभा में बहुमत के लिए पक्ष में आवश्यक सदस्यों की संख्या न होने के कारण इस्तीफा दे दिया है।

विधानसभा में अपने भाषण के बाद उन्होंने अपने इस्तीफे की घोषणा की और वह राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने राजभवन चले गए। अपने इस्तीफे से पहले येदुरप्पा ने जो भावनात्मक भाषण दिया। उसमे उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान मंत्री रहते हुए, एक बार मुख्यमंत्री बनना उनका सपना था। फ़िलहाल तो कांग्रेस और जेडी(एस) का गठबंधन और जीत का जश्न मना रही है।

फ़िलहाल के समाचार हैं कि येदुरप्पा अपने इस्तीफे की पेशकश करने के लिए कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला के घर के लिए निकल चुके हैं। न्यायपालिका ने एक बार फिर अहम किरदार निभाकर अच्छे-अच्छे राजनीतिक धुरंधरों को आईना दिखा दिया।

नेशनल

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने राम मंदिर को लेकर दिया बड़ा बयान

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने दावा किया कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने का निर्माण कार्य नवंबर महीने के बाद शुरू हो जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट में चल रहे राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद का निर्णय राम मंदिर के पक्ष में आएगा।

स्वामी अयोध्या में दो दिवसीय दौरे पर हैं। उन्होंने बताया कि पूजा करने का अधिकार मूलभूत अधिकारों में से एक है और इसे छीना नहीं जा सकता।

इससे पहले सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सहयोगी पार्टी शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण में तेजी लाने के लिए कार्रवाई करने की बात कही थी। स्वामी की यह टिप्पणी उस बयान के कुछ दिनों के बाद आई है।

शिवसेना प्रमुख ने कहा था कि अनुच्छेद 370 को रद्द करने और जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के बाद मोदी सरकार ने दिखा दिया है कि यह फैसला लेने वाली सरकार है।

उन्होंने कहा था कि अब जब अनुच्छेद 370 को हटा दिया गया है, समय आ गया है कि राम मंदिर का निर्माण हो और एक समान नागरिक संहिता पूरे देश में लागू की जाए।

ठाकरे ने कहा था, “हमने चुनाव से पहले कहा था कि कश्मीर का मुद्दा सुलझाएंगे। विपक्ष कह रहा था कि हम अनुच्छेद 370 को खत्म नहीं कर पाएंगे और आज मुझे मोदी जी पर गर्व है।”

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending