Connect with us

नेशनल

अभी-अभी: राजनीति का सबसे दूरगामी दांव और इस्तीफ़ा, वजुभाई वाला के घर पहुंचे येदियुरप्पा

Published

on

बेंगलुरु। फ़िलहाल के समाचार हैं कि येदियुरप्पा अपने इस्तीफे की पेशकश करने के लिए कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला के घर के लिए निकल चुके हैं। आज का दिन कर्नाटक के लिए एक अहम राजनीतिक दिन रहा। दिन के ख़त्म होते-होते सत्ता किसी को भी मिली हो, पद किसी का भी गया हो, लेकिन न्यायपालिका ने एक बार फिर अहम किरदार निभाकर अच्छे-अच्छे राजनीतिक धुरंधरों को आईना दिखा दिया।

बीजेपी के बीएस येदियुरप्पा ने आज ट्रस्ट वोट से पहले ही मुख्यमंत्री का पद छोड़ दिया। कईयों ने कहा, उनके पास हारने का अच्छा मौका था। सुप्रीम कोर्ट द्वारा आदेशित शक्ति परीक्षण के एक घंटे पहले, कांग्रेस पर दबाव था क्योंकि उनके दो विधायक सुबह से ही विधानसभा से गायब थे। कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि उन्हें बीजेपी ने अपनी संख्या बढ़ाने के लिए “कैद” कर लिया है। कई ऑडियो टेप जारी किए गए थे, जिसमे दावा किया गया था कि विधायकों को रिश्वत देने के प्रयास किए जा रहे थे।

अपने इस्तीफे से पहले येदियुरप्पा ने एक भावनात्मक भाषण दिया। जिसमे उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान मंत्री रहते हुए, एक बार मुख्यमंत्री बनना उनका सपना था।

नेशनल

उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को पेट्रोल डालकर जलाया, हालत गंभीर

Published

on

उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता को गुरुवार सुबह छह युवकों ने पेट्रोल डालकर जला दिया। पिता की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पीड़िता को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां पीड़िता की हालत गंभीर देख कानपुर हैलट रेफर कर दिया गया। कानपुर के बाद अब पीड़िता को लखनऊ रेफर कर दिया गया है।

पीड़िता ने बयान दिया है कि गुरुवार सुबह चार बजे वह रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकड़ने बैसवारा बिहार रेलवे स्टेशन जा रही थी। गौरा मोड़ पर गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर शुभम, शिवम, उमेश ने घेर लिया और सिर पर डंडे से और गले पर चाकू से वार किया। वह चक्कर आने से गिरी तो पेट्रोल डालकर आग लगा दी। शोर मचाने पर भीड़ को आता देख वह भाग निकले।

पीड़िता ने बताया कि पूर्व में आरोपियों ने उसके साथ दुष्कर्म किया था। उधर, घटना की जानकारी मिलने पर डीएम देवेंद्र पांडे, एसपी विक्रांत वीर समेत कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। पीड़िता की हालत गंभीर देख कानपुर हैलट रेफर कर दिया गया। इसके बाद उसे लखनऊ सीविल हॉस्पिटल भेजा गया है।

बताया जा रहा है कि हमलावरों में से तीन युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। उधर, घटना के बाद पूरे जिले में हड़कंप मचा गया है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending