Connect with us

नेशनल

Karnataka Election : सोनिया के एक फोन से हार मान चुकी कांग्रेस शामिल हुई सत्‍ता की दौड़ में, बीजेपी में खलबली

Published

on

soniya maidam ke ek phone se haar maan chukee congress shaamil huee sat‍ta kee daud mein

बेंगलुरू। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के खराब रुझानों के बीच कांग्रेस ने मंगलवार सुबह हार मान ली थी, लेकिन दोपहर बाद कुछ ऐसा हुआ कि शर्मनाक हार के अंदेशे से मुंह छिपा रहे कांग्रेस के नेता अचानक बाहर आ गए और कर्नाटक में सत्‍ता हासिल करने की दौड़ में शामिल हो गए।

मतगणना के बदलते रुझानों के बीच राजनीति के भी समीकरण बदलने लग गए। ऐसी खबर है कि रूझानों में जैसे ही ये क्लीयर हुआ कि भाजपा बहुमत से दूर रह गई है, यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी एक्टिव हो गईं। उन्होंने कर्नाटक में मौजूद कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद से फोनकर कहा कि वह तुरंत एचडी देवगौडा़ से मिलें और बात करें।

 

इस फोन का नतीजा ये हुआ कि कांग्रेस का टॉप लीडरशिप एक्टिव हुआ और कुछ देर बाद ही कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन देने का ऐलान कर दिया। पार्टी के नेता जी. परमेश्वर ने कहा है कि हम जनादेश को स्वीकार करते हैं। उसके समक्ष नतमस्तक हैं।सरकार बनाने के लिए हमारे पास आंकड़े नहीं है। ऐसे में कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए जेडीएस को समर्थन देने की पेशकश की है।

इसके बाद आजाद ने मीडिया में बयान दिया कि उन्होंने देवगौड़ा और कुमारस्वामी से बात कर ली है। उन्होंने हमारे ऑफर को स्वीकार कर लिया है। उम्मीद है कि हम साथ होंगे। पूरे नतीजे आने से पहले ही कर्नाटक में सियासी समीकरण तेजी से बदल रहे हैं।

उधर, कांग्रेस के नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा है कि हम (कांग्रेस और जेडीएस) संयुक्त रूप से आज शाम को गवर्नर से मुलाकात करेंगे। हालांकि अभी देवगौड़ा खेमे से कोई अधिकारिक बयान नहीं आया है।

बता दें कि कर्नाटक में विधानसभा की कुल 225 सीटें हैं। इनमें से 224 पर विधायकों का निर्वाचन होता है, जबकि एक सीट पर सदस्य का मनोनयन किया जाता है। राज्य के 224 विधानसभा सीटों में से 222 विधानसभा सीट पर मतदान हुआ। किसी भी पार्टी को सरकार बनाने के लिए 112 विधायकों की जरूरत होगी।

नेशनल

मस्जिद को तोड़ने पर अंदर मिला प्राचीन मंदिर? सच्चाई जानें यहां…

Published

on

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर इन दिनों एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है। तस्वीर को लेकर दावा किया जा रहा है कि कर्नाटक की एक मस्जिद को सौंदर्यीकरण के लिए गिराए जाने के बाद खुदाई के दौरान वहां से जैन मंदिर मिला है।

इस तस्वीर को सच मानकर कुछ लोग इसे तेजी से आगे फॉर्वर्ड कर रहे हैं। जब ये तस्वीर हमारे सामने आई तो हमने भी इसकी जांच करने का फैसला किया।

हमने जानना चाहा कि फोटो के साथ किया जा रहा दावा क्या सच में सही है या फिर ये फेक न्यूज है। इस फोटो को जब हमने गूगल रिवर्स टूल की मदद से खोजना शुरू किया तो पाया कि मस्जिद के नीचे से जैन मंदिर मिलने का दावा पूरी तरह से गलत है। यह तस्वीर मध्य प्रदेश के ग्वालियर में गोपाचल पर्वत पर मशहूर पर्यटन स्थल ग्वालियर किला की है।

कर्नाटक रायचूर मे रोड सौंदर्यीकरणकरने के लिये मस्जिद गिराई उस मस्जिद के नीचे निकला जैन मंदिर 👇👇🏻🤔

Bhavesh Haria ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶನಿವಾರ, ಜೂನ್ 1, 2019

इसी पर्वत को तराशकर हजारों जैन मूर्तियां बनाई गई हैं। अगर आपके भी पास इस तरह की तस्वीर आई है तो आप आगे इसे फॉर्वर्ड न करें क्योंकि तस्वीरों में किया जा रहा दावा पूरी तरह से गलत है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending