Connect with us

नेशनल

Karnataka Assembly Election 2018 LIVE : कर्नाटक विधानसभा चुनाव की 222 सीटों के लिए मतदान शुरू

Published

on

कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018 के लिए सुबह सात बजे से वोट डालना शुरू हो गया है। कर्नाटक विधानसभा में 224 सीटे हैं पर वोटिंग सिर्फ 222 सीटों के लिए हो रही है। गर्मी के इस मौसम में हो रहे इस एकमात्र विधानसभा चुनाव से देश का राजनीतिक पारा चढ़ गया है। पूरे देश की नजर सिर्फ कर्नाटक पर टिकी हुई है।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में सुबह 9 बजे तक 10.6 फीसदी मतदान हुआ। सुबह 11 बजे तक 24 फीसदी मतदान हो गया है। दोपहर 1 बजे तक 37 फीसदी मतदान हो गया है।

भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार बी.एन. विजय कुमार के चार मई को निधन होने की वजह से बेंगलुरू के जयनगर सीट पर मतदान रद्द कर दिया गया है। इसके साथ ही निर्वाचन आयोग (ईसी) ने शुक्रवार को बेंगलुरू के राज राजेश्वरी (आरआर) नगर विधानसभा क्षेत्र में शनिवार को होने वाला मतदान टाल दिया है। निर्वाचन आयोग ने इस सीट पर 28 मई को मतदान कराने का निर्णय लिया है। आयोग ने यह फैसला निर्वाचन क्षेत्र (आरआर नगर) के एक फ्लैट से करीब 10,000 मतदाता पहचान-पत्र बरामद होने के बाद किया है।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018 में करीब 4.96 करोड़ लोग मत डालने के पात्र हैं, जिसमें 2.52 करोड़ पुरुष और 2.44 करोड़ महिलाएं शामिल हैं। वहीं 4500 ट्रांसजेंडर भी इस बार चुनाव में मतदान करने के पात्र हैं।

सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव में एक-दूसरे को मैदान से बाहर करने के लिए कमर कस ली है, वहीं जनता दल (सेकुलर) ने इस मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है। दोनों राष्ट्रीय दलों ने यहां एड़ी-चोटी का जोर लगा रखा है, वहीं जद (एस) इस चुनाव में किंगमेकर के रूप में उभर सकती है या फिर खंडित जनादेश की स्थिति उत्पन्न कर सकती है।

एक चुनावी विश्लेषक ने कहा, “अगर कांग्रेस सत्ता विरोधी लहर को दरकिनार कर सत्ता पर काबिज होने के लिए बेकरार है तो भाजपा दक्षिण राज्य में पांच वर्ष पहले करारी हार के बाद सत्ता प्राप्त करना चाहती है। वहीं जद(एस) नई सरकार के निर्माण में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की कोशिश में है।”

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजीव कुमार ने कहा, “यहां कुल 2,654 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं, जिसमें से 219 महिलाएं, 222 कांग्रेस से, 222 भाजपा से, 201 जद(एस) से, 1,155 स्वतंत्र उम्मीदवार और अन्य राष्ट्रीय, क्षेत्रीय पार्टियों के लगभग 800 उम्मीदवार शामिल हैं।”

कांग्रेस की राज्य इकाई के उपाध्यक्ष बी.के. चंद्रशेखर ने कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी 115 सीटें जीतने में सफल होगी, जोकि सरकार बनाने के लिए 113 सीटों से ज्यादा है। चंद्रशेखर ने कहा, “हमारी कल्याणकारी योजनाएं जैसे इंदिरा कैंटीन, सभी घरों में प्रत्येक व्यक्ति को सात किलोग्राम मुफ्त चावल, स्कूली विद्यार्थियों को मुफ्त दूध, स्नातकोत्तर तक लड़कियों को मुफ्त शिक्षा जैसी योजनाएं हमारे पक्ष में काम करेंगी। बड़ी संख्या में महिलाएं हमें वोट डालना चाहती हैं। हम बहुमत पाने को लेकर आश्वस्त हैं। ”

भाजपा प्रवक्ता मालविका अविनाश ने कहा, “हमें उम्मीद है कि हमें कांग्रेस के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर की वजह से बहुमत मिलेगा। हम अपने दम पर बिना किसी पार्टी के समर्थन के सरकार बनाने के लिए निर्णायक बहुमत पाने को लेकर आश्वस्त हैं, क्योंकि यहां गठबंधन सरकार पहले भी विफल हो चुकी है।।”

जद (एस) के प्रवक्ता रमेश बाबू ने कहा, “हम सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेंगे। स्वतंत्र उम्मीदवारों के समर्थन से हम अगली सरकार बनाएंगे। लोग चाहते हैं कि हमारी जैसी स्थानीय पार्टी सत्ता में आए, क्योंकि राष्ट्रीय पार्टियों ने उन्हें धोखा दिया है।”

प्रधानमंत्री मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने युवाओं को मतदान के लिए प्रोत्साहित किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कर्नाटक के लोगों विशेषकर युवाओं को विधानसभा चुनावों में बड़ी संख्या में आकर अपना वोट डालने के लिए प्रोत्साहित किया। मोदी ने चुनाव शुरू होने से पहले ट्वीट कर कहा, “कर्नाटक के अपने बहनों और भाईयों से आज बड़ी संख्या में वोट डालने का आग्रह करता हूं। मैं विशेषकर युवा मतदाताओं से वोट डालने और लोकतंत्र के इस त्योहार में अपनी भागीदारी निभाने की अपील करना चाहूंगा।”

राहुल ने भी कन्नड़ भाषा में लिखे अपने ट्वीट में राज्य की 15वीं विधानसभा के लिए चुनाव में मतदाताओं से भाग लेने का आग्रह किया। चुनाव में मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवगौड़ा के नेतृत्व वाली जनता दल- सेक्युलर के बीच है।

राहुल ने ट्वीट कर कहा, “मतदान गतिशील लोकतंत्र का संकेत है। मैं कर्नाटक में पहली बार वोट डालने वाले अपने सभी युवा दोस्तों का स्वागत करता हूं।”

राज्य की 224 में से 222 विधानसभा के नतीजों की घोषणा 15 मई को की जाएगी।

राज्य में विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बी.एस.येद्दीयुरप्पा सबसे पहले वोट करने वालों में से रहे। उन्होंने मलनाड क्षेत्र के शिवमोगा जिले के शिकारीपुरा में वोट किया।

मुख्यमंत्री सिद्धारमैया मैसुरू के चामुंडेश्वरी और विजयपुरा जिले के बदामी से चुनाव लड़ रहे हैं।

बल्लारी से भाजपा लोकसभा सदस्य बी.आर.श्रीरामालू भी दो सीटों (बादामी और मोलाकामुरु) से चुनाव लड़ रहे हैं।

जेडी-एस कर्नाटक के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री एच.डी कुमारस्वामी भी रामनगर और चन्नापटना सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

भाजपा कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष येदियुरप्पा शिवमोगा के शिकारीपुरा से चुनाव लड़ रहे हैं।

आध्यात्म

राम मंदिर भूमि पूजन के मुहूर्त को अब 48 घंटे बाकी, घट सकते हैं मेहमान

Published

on

By

अयोध्या में राम मंदिर बनने में अब घंटे दर घंटे कम हो रहे हैं। पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या पहुंचकर भूमि पूजन करेंगे।

अयोध्या होगी सील, 4 अगस्त से नहीं मिलेगा प्रवेश

 

इस मौके के लिए अयोध्या की गली-गली को सजाया जा रहा है। लेकिन अब जब भूमि पूजन के मुहूर्त को 48 घंटे का वक्त बचा है तब इस भव्य कार्यक्रम में कौन-कौन शामिल होने जा रहा है ये साफ नहीं हो पाया है।

कोरोना वायरस संकट को देखते हुए मेहमानों को कम किया जा सकता है। लेकिन इन कम मेहमानों में भी कौन आएगा ये पता नहीं चल पाया है।

#rammandir #ayodhya #devdipawali #rama #lordrama

Continue Reading

Trending