Connect with us

प्रादेशिक

लालू के इंतजार में तेजप्रताप व ऐश्वर्या, शादी की रस्में शुरू

Published

on

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद के बेटे और पूर्व मंत्री तेजप्रताप की वैवाहिक रस्में शुरू हो गई हैं। बुधवार की रात पूर्व मंत्री चंद्रिका राय के आवास पर मेंहदी और संगीत का कार्यक्रम संपन्न हुआ, तेजप्रताप यादव की शादी 12 मई को होगी।

रांची से मिल रही सूचना के मुताबिक, शादी में शामिल होने के लिए तेजप्रताप के पिता और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को पैरोल मिल गया है लेकिन कुछ कानूनी उलझनों के कारण अब तक वे पटना नहीं पहुंच सके हैं। जिस वजह से तेजप्रताप, लालू प्रसाद मेंहदी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए।

ऐश्वर्या राय बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री रहे दरोगा प्रसाद राय की पोती और सारण की परसा सीट से राजद के विधायक चंद्रिका राय की बेटी हैं।

संगीत कार्यक्रम के मौके पर तेजप्रताप ने पीले रंग की जॉकेट पहन रखी थी वहीं उनकी होने वाली पत्नी ऐश्वर्या हरे रंग की साड़ी में अपनी सहेलियों और बहनों के साथ कार्यक्रम में शामिल थी।

ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने बताया कि बारात का स्वागत सबसे पहले वेटेनरी कॉलेज परिसर के मैदान में होगा। वहां जयमाला के लिए बड़ा स्टेज तैयार किया जा रहा है जिसे फूलों से सजाया जाएगा। इस समारोह में छह हजार लोगों के भाग लेने की संभावना है। इसी मैदान में प्रीतिभोज का भी आयोजन किया गया है।

वेटेनरी कॉलेज मैदान में जयमाल और स्वागत के बाद दूल्हे के रूप में तेजप्रताप, चंद्रिका राय के सरकारी आवास पहुंचेंगे जहां सभी वैवाहिक रस्में होंगी।

इधर, भले ही दोनों परिवारों के लोग शादी की अंतिम तैयारी में व्यस्त हैं लेकिन सभी की निगाहें लालू के पटना पहुंचने पर टिकी हैं। लालू चारा घोटाला मामले में रांची की जेल में सजा काट रहे हैं। तबियत नासाज रहने के कारण बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद का राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (आरआईएमएस) में इलाज किया जा रहा है। एक मई को उन्हें नई दिल्ली के एम्स से यहां लाया गया था।

जेल प्रशासन और गृह विभाग के बीच परामर्श के बाद लालू को पैरोल दी गई है। लालू प्रसाद ने तेज प्रताप की शादी में शामिल होने के लिए पांच दिनों की पैरोल मांगी थी। हालांकि सूत्रों का कहना है कि कुछ कानूनी अड़चनों के कारण लालू अभी तक रांची से पटना के लिए रवाना नहीं हो सके हैं।

इनपुट आईएएनएस

खेल-कूद

हाथरस गैंगरेप की घटना से आहत विराट कोहली, कहा- अमानवीय और क्रूरता की हद से परे

Published

on

नई दिल्ली। हाथरस में दलित युवती के साथ गैंगरेप और उसकी मौत से पूरे देश में गम और गुस्से का माहौल है। टीम इंडिया के कप्तान वीरता कोहली ने भी इस पूरे मामले पर अपनी प्रतिक्रया दी है। वीरता कोहली ने हाथरस में गैंगरेप को ‘क्रूरता की हदें पार करने वाला’ बताते हुए उम्मीद जताई है कि पीड़िता के साथ न्याय होगा। विराट कोहली ने ट्वीट कर लिखा, ‘हाथरस में जो हुआ वह अमानवीय और क्रूरता की हद से परे है। आशा है कि इस जघन्य अपराध के दोषियों को सजा मिलेगी।

बता दें कि हाथरस में गैंगरेप की शिकार 19 वर्षीय दलित युवती की मंगलवार को दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई। चार लोगों ने कुछ दिन पहले उसके साथ गैंगरेप किया था। गैंगरेप के बाद दलित बिटिया की जुबान काटी गई और भयानक जख्म दिए गए थे। 14 सितंबर को, पीड़िता के गर्दन में पड़े दुपट्टे से एक खेत में उसे खींचा गया, जब वह पशुओं का चारा लेने गई थी, जिससे उसकी रीढ़ की हड्डी में चोट लग गई। जब उसका गला घोंटने की कोशिश की गई तो उसने अपनी जीभ को दांतों से जोर से काटा जिससे जीभ पर गहरा जख्म हो गया।

अलीगढ़ अस्पताल में न्यूरोसर्जरी के प्रमुख फखरुल होदा ने कहा कि उसकी रीढ़ को ठीक करने के लिए सर्जरी केवल उसकी स्थिति में सुधार के बाद ही की जा सकती थी। रीढ़ की हड्डी को नुकसान स्थायी रूप से दिखाई दिया। पांच भाई-बहनों में सबसे छोटी पीड़िता कुछ समय के लिए लाइफ सपोर्ट पर भी रखी गई। पिता के कहने पर लड़की को सोमवार को दिल्ली रेफर किया गया था। उसका भाई उसे दिल्ली ले गया। अस्पताल में भर्ती होने के एक हफ्ते बाद, लड़की ने पुलिस को बताया कि उसके साथ चार लोगों ने दुष्कर्म किया था, जिसका नाम भी उसने बताया था। सभी चार आरोपियों के नाम संदीप, रामू, लवकुश और रवि हैं, जिन्हें दुष्कर्म, हत्या के प्रयास और एससी / एसटी अधिनियम की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया।

Continue Reading

Trending