Connect with us

प्रादेशिक

लालू के इंतजार में तेजप्रताप व ऐश्वर्या, शादी की रस्में शुरू

Published

on

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद के बेटे और पूर्व मंत्री तेजप्रताप की वैवाहिक रस्में शुरू हो गई हैं। बुधवार की रात पूर्व मंत्री चंद्रिका राय के आवास पर मेंहदी और संगीत का कार्यक्रम संपन्न हुआ, तेजप्रताप यादव की शादी 12 मई को होगी।

रांची से मिल रही सूचना के मुताबिक, शादी में शामिल होने के लिए तेजप्रताप के पिता और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को पैरोल मिल गया है लेकिन कुछ कानूनी उलझनों के कारण अब तक वे पटना नहीं पहुंच सके हैं। जिस वजह से तेजप्रताप, लालू प्रसाद मेंहदी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए।

ऐश्वर्या राय बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री रहे दरोगा प्रसाद राय की पोती और सारण की परसा सीट से राजद के विधायक चंद्रिका राय की बेटी हैं।

संगीत कार्यक्रम के मौके पर तेजप्रताप ने पीले रंग की जॉकेट पहन रखी थी वहीं उनकी होने वाली पत्नी ऐश्वर्या हरे रंग की साड़ी में अपनी सहेलियों और बहनों के साथ कार्यक्रम में शामिल थी।

ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने बताया कि बारात का स्वागत सबसे पहले वेटेनरी कॉलेज परिसर के मैदान में होगा। वहां जयमाला के लिए बड़ा स्टेज तैयार किया जा रहा है जिसे फूलों से सजाया जाएगा। इस समारोह में छह हजार लोगों के भाग लेने की संभावना है। इसी मैदान में प्रीतिभोज का भी आयोजन किया गया है।

वेटेनरी कॉलेज मैदान में जयमाल और स्वागत के बाद दूल्हे के रूप में तेजप्रताप, चंद्रिका राय के सरकारी आवास पहुंचेंगे जहां सभी वैवाहिक रस्में होंगी।

इधर, भले ही दोनों परिवारों के लोग शादी की अंतिम तैयारी में व्यस्त हैं लेकिन सभी की निगाहें लालू के पटना पहुंचने पर टिकी हैं। लालू चारा घोटाला मामले में रांची की जेल में सजा काट रहे हैं। तबियत नासाज रहने के कारण बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद का राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (आरआईएमएस) में इलाज किया जा रहा है। एक मई को उन्हें नई दिल्ली के एम्स से यहां लाया गया था।

जेल प्रशासन और गृह विभाग के बीच परामर्श के बाद लालू को पैरोल दी गई है। लालू प्रसाद ने तेज प्रताप की शादी में शामिल होने के लिए पांच दिनों की पैरोल मांगी थी। हालांकि सूत्रों का कहना है कि कुछ कानूनी अड़चनों के कारण लालू अभी तक रांची से पटना के लिए रवाना नहीं हो सके हैं।

इनपुट आईएएनएस

प्रादेशिक

दिल्लीः शाहीन बाग में तिरंगा फहराकर मनाया गया गणतंत्र दिवस

Published

on

नई दिल्ली। आज के दिन पूरा देश गणतंत्र दिवस मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार सुबह भारत के 71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर देशवासियों को हार्दिक बधाई दी। प्रधानमंत्री ने ट्वीट में लिखा, “सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत बधाई। जय हिन्द!”

इस बीच गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के शाहीन बाग में भी तिरंगा फहराया गया है। यह तिरंगा शाहीन बाग में उस जगह फहराया गया है, जहां पिछले करीब डेढ़ महीने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन्स (NRC) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। गणतंत्र दिवस के मौके पर पूरे इलाके को तिरंगे के रंग से सजाया गया। बता दें कि धरने पर बैठे लोग लगातार नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और एनपीआर का विरोध कर रहे हैं। लोग सीएए कानून को वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं।

एक तरफ जहां शाहीन बाग में लगातार सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन चल रहा है, तो दूसरी तरफ केंद्र सरकार इस कानून को लेकर सख्त है। गृहमंत्री अमित शाह ने साफ कर दिया है कि वह इस कानून को वापस नहीं लेंगे, जिसे विरोध करना है करे।

गौरतलब है कि शाहीन बाग में 15 दिसंबर से ही बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाएं धरने पर बैठी हैं। ये महिलाएं नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी का लगातार विरोध कर रही हैं। इनका कहना है कि ये कानून उनके साथ भेदभाव करता है। वे पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से इस कानून को वापस लेने की मांग कर रही हैं। हालांकि, अमित शाह ने पिछले दिनों कहा था कि सरकार इस मुद्दे पर पीछे नहीं हटेगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending