Connect with us

प्रादेशिक

ऐतिहासिक रिज़ल्ट: कड़ी सख्ती के बाद आखिर यूपी बोर्ड हाईस्कूल के परिणाम घोषित

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड ने आज यानी रविवार को कई लोगों का ब्लड प्रेशर बड़ा दिया और कईयों का नॉर्मल कर दिया क्योंकि दिन था रिजल्ट का. यूपी बोर्ड ने एक-एक कर पहले इंटर के और फिर हाईस्कूल के परिणाम दिन में 12:30 बजे घोषित कर दिए। सरकार की कड़ी सख्ती के बाद इस बार हाईस्कूल का परीक्षा परिणाम 75.16 फीसदी रहा है। हाईस्कूल में 1062 लड़कों व 787 लड़किओं ने 90 फीसदी से अधिक अंक हासिल किया है।

दोपहर 12:30 पर यूपी बोर्ड के मुख्यालय इलाहाबाद में बोर्ड के सभापति डॉ अवध नरेश शर्मा ने नतीजे घोषित कर दिए। इस बार हाईस्कूल में इलाहबाद के शिवकुटी के बृज बिहारी सहाय इंटर कॉलेज की अंजलि वर्मा ने टॉप किया। अंजलि को सबसे ज़्यादा 96.33 अंक मिले हैं। दूसरे स्थान पर रहे यशस्वी विकास वीआइएम आई कालेज चौक फतेहपुर से। तीसरे नंबर पर रहे विनय कुमार वर्मा सीतापुर व शनी वर्मा गोंडा से।

हाईस्कूल में इलाहबाद के शिवकुटी के बृज बिहारी सहाय इंटर कॉलेज की अंजलि वर्मा ने टॉप किया। दूसरे स्थान पर जहानाबाद फतेहपुर के विकास वीएम इंटर कालेज चौक की यशस्वी हैं। तीसरे स्थान पर संयुक्त रूप से सीता बाल विद्या मंदिर महमूदाबाद सीतापुर के विनय कुमार वर्मा व एमपीकेएस कालेज गोंडा के शिव वर्मा हैं। चौथे स्थान पर महारानी लक्ष्मीबाई मेमोरियल इंटर कालेज बाराबंकी की ईशानी यादव तथा श्रीसाई इंटर कालेज लखपेड़ाबाग बाराबंकी की ऋतिका वर्मा हैं। पांचवें स्थान पर सीतापुर के अनमोल कुमार, कानपुर के अभिषेक वर्मा, इलाहाबाद के प्रांजल सिंह तथा बाराबंकी की आकांक्षा वर्मा हैं।

प्रादेशिक

13वीं राष्ट्रीय कुंग फू प्रतियोगिता का लखनऊ में हुआ शुभारम्भ

Published

on

लखनऊ। 13वीं राष्ट्रीय कुंग फू प्रतियोगिता का शुभारम्भ सोमवार को बाबू के.डी.सिंह स्टेडियम के बहुउद्देशीय हाल में हुआ। इस प्रतियोगिता का उद्घाटन भारतीय कुंग फू फेडरेशन के अध्यक्ष डा. सुधीर.एम. बोबड़े और खेल निदेशक डा. आर.पी.सिंह  ने दीप प्रज्जवलित करके किया।

यह जानकारी भारतीय कुंग फू फेडरेशन की महासचिव मंजू त्रिपाठी ने देते हुए कहा कि आज से तीन दिवसीय राष्ट्रीय कुंग फू प्रतियोगिता का शुभारम्भ शुरू हो गया। इस प्रतियोगिता में 18 राज्यों के 500 कुंग फू खिलाड़ी भाग लेंगे।

प्रतियोगिता के उद्घाटन के मौके पर भारतीय कुंग फू फेडरेशन के अध्यक्ष डा. सुधीर.एम. बोबड़े ने कहा कि आज इस खेल की समाज को आवश्यकता है, खास तौर से हमारी बहन-बेटियों को आत्मा रक्षा की इस कला को जरूर सीखना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस खेल का प्रशिक्षण अनिवार्य किया जाए। सरकार  सभी बच्चों को स्कूलों में अनिवार्य रूप से प्रशिक्षण दिलाए।

इस अवसर पर खेल निदेशक डा. आर.पी. सिंह ने कहा कि मार्शल आर्ट्स यानी कुंग फू खेल स्वस्थ भारत, समर्थ भारत और अनुशासित भारत तथा अनुशासित नागरिक तैयार कर सकता है।

आज अधिकतर युवा पीढ़ी खेलों से दूर होती जा रही है। खेलों के बजाय मोबाइल में लगकर अपना जीवन अंधकार में कर रहे है। महिला सशक्तिकरण के लिए ही यह खेल बहुत ही आवश्यक है। इस खेल के जरिए अपनी आत्मा रक्षा कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि इस खेल को हर नागरिक को सीखना चाहिए।

इस अवसर पर भारतीय कुंग फू संघ के उपाध्यक्ष डा. चंद्र सेन वर्मा, उपकार के अध्यक्ष कैप्टन विकास गुप्ता, उपनिदेशक शिक्षा कृष्ण कुमार गुप्ता, राजेंद्र कुमार, जे.पी. शुक्ला आदि गणमान्य व्यक्ति व भारी संख्या में जनता मौजूद थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending