Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

तेजी से बढ़ रही पाकिस्तान में गधों की संख्या

Published

on

पाकिस्तान में तेजी से गधों की संख्या बढ़ रही है। इस बात का खुलासा खुद पाकिस्तान ने अपने आर्थिक स्रवेक्षण में कही है। नए आर्थिक सर्वेक्षण 17-18 के अनुसार वर्तमान में पाकिस्तान में 53 लाख गधे हैं।

आपको बता दें कि करीब 80 लाख परिवार पाकिस्तान में पशुपालन के काम में लगे हुए हैं, जिनकी आय का 35 फीसदी हिस्सा इसी काम से आता है। पाकिस्तान सरकार के अनुसार ये ना केवल नकद कमाई का जरिया है बल्कि ये ग्रामीण इलाकों में गरीबी हटाने और विदेशी मुद्रा कमाने का भी अहम जरिया है।

वहीं, वित्त मामलों पर प्रधानमंत्री के सलाहकार मिफ्ताह इस्माइल और योजना और विकास मंत्री अहसान इक़बाल ने इस्लामाबाद में एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में 2017-18 के लिए पाकिस्तान का आर्थिक सर्वेक्षण जारी किया। अहसान इक़बाल ने कहा कि देश की विकास दर अब 5.8 फीसदी हो गई है जो बीते 13 सालों में सबसे अधिक है।

पाकिस्तान में एक साल में बढ़े एक लाख गधे

ख़बरों के मुताबिक, 2016 के डेटा के अनुसार पाकिस्‍तान में 51 लाख गधे थे, जो 2017 में बढ़कर 52 लाख हो गए। इस रिपोर्ट में दिए आंकड़ों के अनुसार बीते एक साल में देश में जानवरों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। रिपोर्ट के अनुसार बीते साल देश में जहां बकरियों की संख्या में करीब 2 लाख बढ़ी है वहीं भेड़ों की संख्या करीब 40 हजार बढ़ी है और गधों की संख्या में एक लाख का इजाफा हुआ है।

अन्तर्राष्ट्रीय

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने CAA-NRC को लेकर दिया ये बयान

Published

on

नई दिल्ली। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को लेकर बड़ा बयान दिया है।

शेख हसीना ने गल्फ न्यूज को दिए इंटरव्यू के दौरान कहा कि यह भारत का आंतरिक मामला बताया है। इंटरव्यू में शेख हसीना ने सीएए पर कहा कि हम यह नहीं समझते कि (भारत सरकार) ने ऐसा क्यों किया। यह जरूरी नहीं था।

हसीना का यह बयान बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए.के. अब्दुल मोमन बयान के बाद आया है। मोमन ने कहा था कि सीएए और एनआरसी भारत के आंतरिक मुद्दे हैं, लेकिन चिंता व्यक्त की कि देश में किसी भी अनिश्चितता से उसके पड़ोसियों को प्रभावित होने की संभावना होती है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending