Connect with us

उत्तराखंड

VIDEO : भारत के इस वीर को जानते हैं आप? अंग्रेज़ भी हो गए थे हक्के-बक्के

Published

on

भारत की आज़ादी में पेशावर कांड के नायक रहे वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली के योगदान को कौन नहीं जानता है। बिना हथियारों का इस्तेमाल किए अंग्रेज़ों के पैरों तले ज़मीन खिसका देने वाले पेशावर कांड को आज़ादी की बड़ी लड़ाइयों में से एक माना जाता है।

‘पेशावर कांड’ की वर्षगांठ पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने  नायक वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली के योगदान को याद करते हुए यह कहा कि भारत की आज़ादी के लिए ‘पेशावर कांड‘ एक महत्वपूर्ण पड़ाव था।

मुख्यमंत्री ने पेशावर कांड की वर्षगांठ के मौके पर जारी अपने संदेश में कहा कि पेशावर कांड ने देश की आज़ादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। भारत की आजादी में वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली तथा उनके साथियों का योगदान अद्वितीय है । यह महत्वपूर्ण घटना भारत की आजादी के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में अंकित है।

कौन थे वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली, क्या है पेशावर कांड

23 अप्रैल 1930 को हवलदार मेजर चन्द्र सिंह गढ़वाली के नेतृत्व में रॉयल गढ़वाल राइफल्स के जवानों ने भारत की आज़ादी के लिए लड़ने वाले निहत्थे पठानों पर गोली चलाने से मना कर दिया था।

वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली को भारतीय इतिहास में पेशावर कांड के नायक के रूप में याद किया जाता है। ( फोटो – गूगल इमेज)

बिना गोली चले, बिना बम फटे पेशावर में इतना बड़ा धमाका हो गया थी कि एकाएक अंग्रेज भी हक्के-बक्के रह गये, उन्हें अपने पैरों तले जमीन खिसकती हुई सी महसूस होने लगी थी। वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली को भारतीय इतिहास में पेशावर कांड के नायक के रूप में याद किया जाता है।

उत्तराखंड

पर्यटन के लिए टिहरी बनेगा बहुत बड़ा गंतव्यः त्रिवेंद्र सिंह रावत

Published

on

देहरादून। स्वामी विवेकानंद की 157 वीं जयंती के मौके पर ओएनजीसी ऑडिटॉरियम में उत्तराखण्ड यंग लीडर्स कान्क्लेव का आयोजन किया गया।

नए पर्यटन स्थलों के विकास पर विशेष ध्यान

पर्यटन के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा पर्यटकों के साथ ऐसा व्यवहार होना चाहिए कि वे यहां से खुश होकर जाएं। पुराने हिल स्टेशन सेचुरेटेड हो चुके है। इसलिए नए टूरिज्म डेस्टीनेशन विकसित किए जा रहे हैं। टिहरी झील के लिए 1400 करोड़ रुपए स्वीकृत हुए हैं। आने वाले समय में टिहरी पर्यटन का बहुत बड़ा गंतव्य बनने जा रहा है। पिथौरागढ़ में देश का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन बनाने की परिकल्पना पर काम किया जा रहा है।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि यंग लीडर कान्क्लेव में युवाओं के बीच जो मंथन हुआ और निष्कर्ष निकला, उस पर राज्य सरकार गम्भीरता से विचार करेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत प्रत्येक दो-तीन माह में युवाओं से संवाद जरूर करते हैं। हमारी युवा शक्ति को किसी भी कार्य के लिए आगे आना जरूरी है।

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस वर्ष 12 फरवरी से राज्य में उच्च शिक्षा में विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वाले 05 प्रोफेसरों को डॉ. भक्त दर्शन पुरस्कार दिया जाएगा। इसके तहत 50 हजार रुपए की पुरस्कार राशि दी जाएगी। ऐसे प्रोफेसरों को एक नियुक्ति उनके मन पंसद के महाविद्यालयों में दी जाएगी।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending