Connect with us

नेशनल

भाजपा ने किया मसरत की रिहाई का कड़ा विरोध

Published

on

jugal-kishore, bjp-reaction

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में भाजपा-पीडीपी गठबंधन में खींचतान और तेज हो गई है। अलगाववादी नेता मसरत आलम की जेल से रिहाई को लेकर प्रदेश भाजपा ने मुखर विरोध दर्ज कराया है। भाजपा ने कहा है कि हमने पीडीपी के साथ जम्मू कश्मीर के विकास के मुद्दे पर गठबंधन किया है। हम ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जो प्रदेश या प्रदेश की जनता के हित में न हो।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष जुगल किशोर ने कहा है कि उनकी पार्टी किसी भी हाल में मसरत आलम की रिहाई के पक्ष में नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने इतना बड़ा फैसला लेने से पहले भाजपा को विश्वास में नहीं लिया।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री मुफ्ती के आदेश पर जेल में बंद अलगाववादी नेता मसरत आलम को रिहा कर दिया गया है। मसरत कश्मीर में हुई हिंसा के आरोप में वर्ष 2010 से बारामूला जेल में बंद था। इसका भाजपा हमेशा से विरोध करती रही है।

इस मुद्दे पर शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि पीडीपी के साथ सरकार बनाना देश को संकट में डालने जैसा है। इसकी शुरुआत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकियों को इस तरह रिहा करने से ऐसा लगता है जैसे वहां भाजपा की नहीं पाकिस्तान की सरकार है।

नेशनल

सुप्रीम कोर्ट ने गुलाम नबी आजाद को दी कश्मीर जाने की इजाजत, कर सकेंगे 4 जिलों का दौरा

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद को कश्मीर जाने की इजाजत मिल गई है। सोमवार को जम्मू कश्मीर से जुड़ी 8 याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए उच्चतम न्यायालय ने आजाद को कश्मीर जाने की इजाजत दे दी। अब आजाद अदालत के आदेश के बाद 4 जिले बारामूला, अनंतनाग, श्रीनगर जम्मू का का दौरा कर सकेंगे।

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में गुलाम नबी आजाद की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी ने दलीलें रखीं। उन्होंने अदालत में कहा कि गुलाम नबी आजाद 6 बार के सांसद हैं, पूर्व मुख्यमंत्री हैं फिर भी श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेज दिया गया। गुलाम नबी आजाद ने 8, 20 और 24 अगस्त को वापस जाने की कोशिश की।

गौरतलब है कि गुलाम नबी आजाद ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका डालकर अपने परिवार से मिलने की इजाजत मांगी थी। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी को भी श्रीनगर जाने की इजाजत दी थी। सीताराम येचुरी ने अपनी पार्टी के नेता एमवाई तारिगामी से मिलने की इजाजत मांगी थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending