Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

पूर्व एशियाई राष्ट्रों ने सहयोग व चुनौतियों पर की चर्चा

Published

on

ने पे डा| दक्षिण पूर्व एशियाई देशों का संगठन (आसियान) और इसके सहयोगी राष्ट्रों ने गुरुवार को म्यांमार की राजधानी ने पे डा में भविष्य में सहयोग और क्षेत्र के लिए भावी चुनौतियों पर चर्चा की। आसियान शिखर सम्मेलन से इतर आयोजित नौवें पूर्व एशियाई शिखर सम्मेलन (ईएएस) में शामिल प्रतिनिधियों ने ईएएस के बीच सहयोग, आसियान की केंद्रीय भूमिका, क्षेत्र की शांति एवं स्थिरता के लिए पारंपरिक एवं गैर पारंपरिक चुनौतियां और क्षेत्रीय एकीकरण एवं लोगों के बीच संपर्क की बात पर जोर दिया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने पूर्व एशियाई शिखर सम्मेलन के बाद जारी बयान के हवाले से बताया कि प्रतिनिधियों ने पूर्व एशियाई क्षेत्र के विकास, गैर पारंपरिक सुरक्षा मुद्दों, जलवायु परिवर्तन, आपदा प्रबंधन और महामारी को लेकर भी विचार साझा किए।

पूर्व एशियाई शिखर सम्मेलन में आसियान के 10 सदस्य राष्ट्रों सहित 18 देशों के प्रतिनिधियों और छह वार्ता सहयोगी राष्ट्रों- चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, भारत, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने हिस्सा लिया। इसके अलावा अमेरिका और रूस भी नए सहयोगी राष्ट्रों के रूप में शिखर सम्मेलन में शामिल हुए।

 

 

The second is http://samedaypaper.org/ to trace the history of the topic and the influences on it throughout that history, and the topic’s evolution

अन्तर्राष्ट्रीय

इस देश की करेंसी पर अगर गलती से पड़ जाए पैर तो मिलती है दिलदहला देने वाली सजा

Published

on

नई दिल्ली। दुनिया में कई देश हैं जो अपने अजीबोगरीब कानून की वजह से जाने जाते हैं। आज हम ऐसे ही एक देश के बारे में बताने जा रहे हैं जहां अगर गलती से भी आपके पांव वहां की करेंसी पर पड़ जाए तो आपको 15 साल की कैद हो सकती है।

इस देश का नाम थाईलैंड है। यहां की राजधानी बैंकॉक हैं जो पर्यटकों का फेवरेट प्लेस माना जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां की करेंसी के साथ अगर कोई गलत काम करता है तो दोषी पाए जाने पर उसे 15 साल की सजा हो जाती है।

बैंकॉक का पूरा नाम भी कम दिलचस्प नहीं है। इस शहर का पूरा नाम ‘क्रुंग देवमहानगर अमररत्नकोसिन्द्र महिन्द्रायुध्या महातिलकभव नवरत्नराजधानी पुरीरम्य उत्तमराजनिवेशन महास्थान अमरविमान अवतारस्थित्य शक्रदत्तिय विष्णुकर्मप्रसिद्धि’ है।

इस देश में 95 फीसदी बौध धर्म को मानते हैं लेकिन इस देश में भगवान राम और भगवान विष्णु की भी पूजा की जाती है। यहां का शाही परिवार अपने आप को भगवान राम के पुत्र कुश का वंशज मानता है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending