Connect with us

मुख्य समाचार

द. अफ्रीका ने सर्वोच्च स्कोर का अपना ही रिकॉर्ड सुधारा

Published

on

दक्षिण-अफ्रीका,आईसीसी-विश्व-कप,न्यूजीलैंड,आस्ट्रेलिया,फाफ-दू-प्लेसिस,डिविलियर्स

सिडनी | दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम ने मंगलवार को आईसीसी विश्व कप में एक पारी में दूसरे सर्वोच्च स्कोर के अपने ही पुराने रिकॉर्ड में सुधार किया। मानुका ओवल मैदान पर जारी आईसीसी विश्व कप-2015 के पूल-बी मुकाबले में आयरलैंड के सामने पहले बल्लेबाजी करते हुए द. अफ्रीका ने चार विकेट के नुकसान पर 411 रन बनाए और विश्व कप के पिछले ही मैच में बनाए अपने रिकॉर्ड में सुधार किया।

गौरतलब है कि विश्व कप में सबसे बड़ी पारी का रिकार्ड भारत के नाम है। भारत ने 2007 विश्व कप में बरमुडा के खिलाफ पांच विकेट पर 413 रन बनाए थे। हशिम अमला (159) और फाफ दू प्लेसिस (109) ने इसमें बड़ी भूमिक निभाई और क्विंटन डी कॉक (4) का विकेट गिरने के बाद दूसरे विकेट के लिए दोनों खिलाड़ियों ने 247 रनों की साझेदारी की। विश्व कप इतिहास में दक्षिण अफ्रीका की ओर से दूसरे विकेट के लिए यह सबसे बड़ी साझेदारी है। यह पहला मौका है जब किसी टीम ने विश्व कप के एक ही संस्करण में दो बार 400 या उससे अधिक का स्कोर हासिल किया है। द. अफ्रीका ने इससे पहले 27 फरवरी, 2015 को सिडनी में वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच विकेट पर 408 रन बनाए थे। वेस्टइंडीज के खिलाफ उस पारी में दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्तान अब्राहम डिविलियर्स (नाबाद 162) ने तूफानी पारी खेली थी।

डिविलियर्स ने उस मैच में विश्व कप का दूसरा सबसे तेज शतक लगाया था। डिविलियर्स ने 52 गेंदों पर शतक पूरा किया। साथ ही उन्होंने अपनी 162 रनों की नाबाद पारी के दौरान अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय में सबसे तेज 150 रन पूरे किए। विश्व कप में यह तीसरा मौका है जब टीमों ने 400 या उससे अधिक का योग खड़ा किया है। श्रीलंकाई टीम 1996 में कैंडी में केन्या के खिलाफ पांच विकेट पर 398 रन बनाकर इसके करीब पहुंची थी, लेकिन वह दो रनों के अंतर से विश्व कप में 400 का स्कोर छूने से चूक गई थी। विश्व कप से इतर एकदिवसीय मैचों में हालांकि सर्वोच्च योग का रिकार्ड श्रीलंका के ही नाम है। श्रीलंकाई टीम ने 2006 में नीदरलैंड्स के खिलाफ नौ विकेट पर 443 रन बनाए थे। इसके बाद द. अफ्रीका का स्थान आता है, जिसने इसी साल 18 जनवरी को जोहांसबर्ग में दो विकेट पर 439 रनों का स्कोर खड़ा किया था।

वेस्टइंडीज के खिलाफ उस मैच में 31 गेंदों पर शतक लगाने वाले डिविलियर्स के नाम अब एकदिवसीय मैचों में सबसे तेज अर्धशतक (16 गेंद), सबसे तेज शतक (31 गेंद) और सबसे तेज 150 रन (64 गेंद) का रिकार्ड है। एकदिवसीय क्रिकेट के इतिहास में अब तक कुल 13 मौकों पर टीमों ने 400 या उससे अधिक का स्कोर खड़ा किया है। दक्षिण अफ्रीका ने मंगलवार को पांचवीं बार यह उपलब्धि हासिल की, जबकि इससे पहले पांच मौकों पर भारतीय टीम यह कारनामा कर चुकी है। दो बार श्रीलंका ने यह कारनामा किया है और एक-एक मौके पर न्यूजीलैंड और आस्ट्रेलिया भी ऐसा करने में सफल रहे हैं।

खेल-कूद

IND VS NZ: रोहित ने सुपर ओवर की आखिरी 2 गेंदों पर छक्के जड़कर जिताया मैच, भारत का सीरीज पर कब्ज़ा

Published

on

हेमिल्टन। कप्तान केन विलियम्सन (95) के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी के बावजूद यहां सेडन पार्क मैदान न्यूजीलैंड और भारत के बीच खेला गया तीसरा टी-20 मैच टाई हो गया और सुपर ओवर में चला गया, जहां भारत ने रोमांचक जीत दर्ज की।

सुपर ओवर में न्यूजीलैंड की तरफ से केन विलियमसन और मार्टिन गप्टिल बल्लेबाजी के लिए उतरे। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने सुपर ओवर किया। न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ों में पहली दो गेंदों पर केवल दो रन बनाए। लगा कि भारत ये मैच आसानी से जीत लेगा लेकिन आखिरी चार गेंदों पर न्यूज़ीलैंड ने 15 रन ठोंक दिए और भारत को जीत के लिए 18 रनों का टारगेट दिया।

जवाब में रोहित शर्मा और केएल राहुल सुपरओवर खेलने के लिए उतरे। न्यूजीलैंड की तरफ से टिम सउदी ने सुपर ओवर डाला। आखिरी की दो गेंदों पर भारत को जीत के लिए 10 रनों की जरूरत थी। ऐसे में रोहित ने आखिरी की दो गेंदों पर लगातार दो छक्के जड़कर भारत को जीत दिला दी।

बता दें कि भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में पांच विकेट पर 179 रन बनाए थे। न्यूजीलैंड ने भी 20 ओवरों की समाप्ति तक छह विकेट पर 179 रन बनाए। इसी कारण मैच टाई रहा और मैच का फैसला सुपर ओवर में निकला।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending