Connect with us

मनोरंजन

रजनीकांत के साथ बैठा कुत्ता, लोग 2 करोड़ में खरीदने को तैयार

Published

on

मुंबई। सुपरस्टार रजनीकांत से जुड़ी हर बात अनोखी होती है। उनकी फिल्म में जो हो जाए वो कम है। अब रजनीकांत आजकल अपनी फिल्म काला की वजह से काफी चर्चा में है। इस फिल्म का टीजर कुछ दिनों पहले ही आया है। फिल्म के एक पोस्टर्स में सुपरस्टार रजनीकांत के साथ एक डॉग को भी दिखाया गया है।

उस डॉग की कीमत इस समय करोड़ों में है। उसका नाम मनी है। रजनीकांत के फैन्स ‘मनी’ को करोड़ों रुपए देकर लेना चाहते है, क्योकि इस डॉग को रजनीकांत के साथ बैठने का मौका मिला है। मलेशिया के कुछ लोग 2-3 करोड़ रुपये भी देने को तैयार है।

आपको बता दें कि रजनीकांत की मलेशिया में जबरदस्त फैन फॉलोइंग है। रजनी वहां ‘कबाली’ सहित कई फिल्मों की शूटिंग कर चुके हैं। जब भी वे मलेशिया जाते हैं सड़कों पर उन्हें देखने के लिए जाम लग जाता है।

प्रोफेशनल डॉग ट्रेलर साइमन ने रजनीकांत और मनी के बीच की बॉन्डिंग के बारे में कहा, “रजनी सर हर दिन उसे एक पैकेट बिस्किट खिलाते हैं। इस वजह से हमें काम करने में आसानी हुई।”

साइमन आगे बताते है, “कुछ लोग इस डॉग के लिए एक करोड़ रुपए का ऑफर दे रहे हैं तो कुछ दो करोड़ रुपए भी चुकाने को तैयार हैं। हालांकि मैंने इस डॉग को बेचने से इनकार कर दिया है क्योंकि मैंने बच्चे की तरह इसकी देखभाल की है। कौन अपने बच्चे को नीलाम करता है।”

बता दें कि मनी नाम के इस कुत्ते को फिल्म में यूं ही नहीं शामिल किया गया। मनी को चुनने से पहले लगभग 30 डॉग्स का ऑडिशन लिया गया था।

प्रादेशिक

रक्षाबंधन भाई-बहन के पारस्परिक प्रेम, स्नेह व विश्वास का त्यौहार – सीएम योगी

Published

on

By

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि रक्षाबंधन के अवसर पर कोविड-19 के प्रोटोकाल का पूर्ण पालन किया जाए। कोई भी सार्वजनिक आयोजन न किया जाए। पर्व के सभी अनुष्ठान घर पर ही रहकर किए जाएं।

सीएम योगी ने आगे कहा है कि रक्षाबंधन भाई-बहन के पारस्परिक प्रेम, स्नेह व विश्वास का त्यौहार है। यह पर्व कर्तव्य, आत्मीयता, त्याग, सामाजिक एकता व सद्भाव की भावना का प्रतीक है।

अमित शाह निकले कोरोना पॉज़िटिव, मेदांता अस्पताल में भर्ती

“रक्षाबंधन का त्यौहार श्रावण पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। श्रावण मास में ऋषिगण आश्रम में रहकर अध्ययन और यज्ञ करते थे। श्रावण पूर्णिमा को मासिक यज्ञ की पूर्णाहुति होती थी। यज्ञ की समाप्ति पर यजमानों और शिष्यों को रक्षासूत्र बांधने की प्रथा थी, जिसका पालन रक्षाबंधन के रूप में भी किया जाता है। रक्षाबंधन का त्यौहार समाज में प्रेम और भाईचारा बढ़ाने का कार्य भी करता है।” सीएम योगी ने आगे कहा।

#yogiadityanath #uttarpradesh #cmyogi #RakshaBandhan

Continue Reading

Trending