Connect with us

मुख्य समाचार

विश्व कप : एबी का ‘दूसरा सबसे तेज’ शतक, द. अफ्रीका ने बनाए 408 रन

Published

on

अब्राहम-डिविलियर्स,विश्व-कप,दक्षिण-अफ्रीका,बल्लेबाजी,फाफ-दू-प्लेसिस,फहरान-बेहरादीन,सचिन-तेंदुलकर

सिडनी | कप्तान अब्राहम डिविलियर्स (नाबाद 162) के विश्व कप इतिहास के दूसरे सबसे तेज शतक की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने शुक्रवार को सिडनी क्रिकेट मैदान पर जारी आईसीसी विश्व कप-2015 के पूल-बी के अपने तीसरे मुकाबले में वेस्टइंडीज के सामने 409 रनों का लक्ष्य रखा है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी द. अफ्रीकी टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में पांच विकेट पर 408 रन बनाए। यह विश्व कप में उसका सर्वोच्च स्कोर है जबकि विश्व कप इतिहास का दूसरा सबसे बड़ा स्कोर है। सबसे बड़े स्कोर का रिकार्ड भारत के नाम है, जिसने 2007 में बरमुडा के खिलाफ पांच विकेट पर 413 रन बनाए थे।

दक्षिण अफ्रीका के लिए डिविलियर्स के अलावा तीन बल्लेबाजों ने अर्धशतक लगाए। हाशिम अमला ने 65, फाफ दू प्लेसिस ने 62 और रिली रोसू ने 61 रनों का योगदान दिया। डेविड मिलर ने भी 20 रनों की तेज पारी खेली। डिविलियर्स ने विश्व कप में अपना चौथा शतक लगाया। उन्होंने 52 गेंदों पर शतक पूरा किया। यह विश्व कप इतिहास का दूसरा सबसे तेज और द. अफ्रीका के लिए सबसे तेज शतक है। विश्व कप में सबसे तेज शतक का रिकार्ड आयरलैंड के केविन ओ ब्रायन के नाम है, जिन्होंने 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ 50 गेंदों पर सैकड़ा पूरा किया था। डिविलियर्स विश्व कप में चार या उससे अधिक शतक लगाने वाले छठे बल्लेबाज बन गए हैं। सबसे अधिक शतक भारत के सचिन तेंदुलकर (6) के नाम हैं। रिकी पोंटिंग ने पांच शतक लगाए हैं जबकि डिविलियर्स, सौरव गांगुली, मार्क वॉ और माहेला जयवर्दने ने अब तक चार-चार शतक लगाए हैं। बहरहाल, दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत अच्छी नहीं रही। उसने 18 रन के कुल योग पर ही क्विंटन दे कॉक (12) का विकेट गंवा दिया लेकिन इसके बाद प्लेसिस और अमला ने दूसरे विकेट के लिए 127 रन जोड़कर स्थिति को सम्भालने का काम किया। प्लेसिस 70 गेंदों पर तीन चौके लगाने के बाद 127 के कुल योग पर आउट हुए।

दो गेंद के अंतराल के बाद दक्षिण अफ्रीका ने अमला का भी विकेट गंवा दिया। क्रिस गेल ने प्लेसिस और अमला को एक ही ओवर में आउट करके बड़ा झटका दिया। अमला ने 88 गेंदों पर एक चौका और एक छक्का लगाया। अमला की विदाई के बाद रोसू और एबी ने चौथे विकेट के लिए तेजी से 134 रन जुटाए। यह साझेदारी सिर्फ 12.3 ओवरों का नतीजा रही और इस दौरान 10.72 के औसत से रन बने। रोसू 39 गेंदों का सामना कर छह चौके और एक छक्का लगाकर 280 के कुल योग पर आउट हुए। इसके बाद डेविड मिलर ने कप्तान का अच्छा साथ दिया। दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 48 रन जोड़े। मिलर को 328 के कुल योग पर आंद्रे रसेल ने आउट किया।

मिलर की विदाई के बाद एबी और फहरान बेहरादीन (नाबाद 10) ने 20 गेंदों पर 80 की साझेदारी करते हुए स्कोर को 400 के पार पहुंचा दिया। डिविलियर्स ने विश्व कप इतिहास का सबसे तेज 150 रन बनाए। डिविलियर्स ने 66 गेंदों का सामना कर 17 चौके और आठ छक्के लगाए। उन्होंने सिर्फ 64 गेंदों पर 150 रन पूरे किए। डिविलियर्स ने अपना सर्वोच्च व्यक्तिगत योग हासिल किया। वेस्टइंडीज का यह चौथा मुकाबला है। उसने अब तक खेले गए तीन मुकाबलों में से दो में जीत हासिल की है जबकि एक में उसे हार मिली है। अपने पहले ही मैच में आयरलैंड के हाथों चौंकाने वाली हार झेलने वाली कैरेबियाई टीम ने दूसरे मैच में पाकिस्तान को हराया और फिर से जिम्बाब्वे पर जीत हासिल की।

कैरेबियाई टीम पूल-बी में चार अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है। भारत के भी चार अंक हैं लेकिन बेहतर नेट रन रेट के कारण वह पहले स्थान पर है। द. अफ्रीकी टीम तालिका में चौथे स्थान पर है। उसके पास दो अंक हैं। द. अफ्रीका ने अब तक दो मुकाबले खेले हैं। उसने अपने पहले मैच में जिम्बाब्वे को हराया था लेकिन दूसरे मुकाबले में उसे भारत के हाथों 130 रनों से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी।

प्रादेशिक

दिल्लीः शाहीन बाग में तिरंगा फहराकर मनाया गया गणतंत्र दिवस

Published

on

नई दिल्ली। आज के दिन पूरा देश गणतंत्र दिवस मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार सुबह भारत के 71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर देशवासियों को हार्दिक बधाई दी। प्रधानमंत्री ने ट्वीट में लिखा, “सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत बधाई। जय हिन्द!”

इस बीच गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के शाहीन बाग में भी तिरंगा फहराया गया है। यह तिरंगा शाहीन बाग में उस जगह फहराया गया है, जहां पिछले करीब डेढ़ महीने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन्स (NRC) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। गणतंत्र दिवस के मौके पर पूरे इलाके को तिरंगे के रंग से सजाया गया। बता दें कि धरने पर बैठे लोग लगातार नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और एनपीआर का विरोध कर रहे हैं। लोग सीएए कानून को वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं।

एक तरफ जहां शाहीन बाग में लगातार सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन चल रहा है, तो दूसरी तरफ केंद्र सरकार इस कानून को लेकर सख्त है। गृहमंत्री अमित शाह ने साफ कर दिया है कि वह इस कानून को वापस नहीं लेंगे, जिसे विरोध करना है करे।

गौरतलब है कि शाहीन बाग में 15 दिसंबर से ही बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाएं धरने पर बैठी हैं। ये महिलाएं नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी का लगातार विरोध कर रही हैं। इनका कहना है कि ये कानून उनके साथ भेदभाव करता है। वे पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से इस कानून को वापस लेने की मांग कर रही हैं। हालांकि, अमित शाह ने पिछले दिनों कहा था कि सरकार इस मुद्दे पर पीछे नहीं हटेगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending