Connect with us

खेल-कूद

शादी के बाद पहली बार मैदान पर लौटा ये बल्लेबाज, गेंदबाजों की नींद उड़ाने को तैयार

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका पहुंच चुकी है। कोहली की टीम का प्रदर्शन भारत में शानदार रहा है लेकिन विदेशी पिचों पर विराट की सेना को साबित करना है कि वह यहां भी शानदार प्रदर्शन कर सकती है।

kohli in south africa के लिए इमेज परिणाम

पांच जनवरी से शुरू हो रहे पहले टेस्ट के लिए टीम इंडिया ने कमर कस ली है। क्रिकेट के जानकार मानते हैं कि कोहली की अब सबसे बड़ी अग्नि परीक्षा होनी है। दरअसल हाल में कोहली ने क्रिकेट से कुछ वक्त के लिए ब्रेक लिया था और अपनी शादी करने के बाद वह एक बार फिर उसी जोश के साथ मैदान में उतर रहे हैं।

केपटाउन के लिए कोहली ने शादी के बाद पहली बार बल्ला हाथ लेकर जमकर अभ्यास किया है। शादी की वजह से कोहली श्रीलंका के खिलाफ खेली गई वनडे और टी-20 की टीम में शामिल नहीं हुए थे।

द. अफ्रीका पहुंचते ही कोहली ने अपनी तैयारी को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। उन्होंने बल्लेबाजी में जमकर पसीना बहाया है। इतना ही नहीं तेज गेंदबाजों से निपटने के लिए उन्होंने खास अंदाज में अभ्यास किया है।

विराट कोहली ने अनुष्का शर्मा के साथ इसी महीने इटली में शादी की थी। कोहली दक्षिण अफ्रीका में अपने कवर ड्राइव पर सबसे ज्यादा काम करते नजर आए। उन्होंने कवर शॉट्स में कुछ देर तक जमकर बल्लेबाजी की।

चेतेश्वर पुजारा ने भी मैदान पर पसीना बहाया। अभ्यास के लिए जाने से पहले उन्होंने एक फोटो भी क्लिक करवाई जिसमें वो थंम्स अप करते हुए नजऱ आ रहे हैं। कुल मिलाकर कोहली एक बार फिर पुरानी लय में लौटने को तैयार है। उनकी फिटनेस भी कमाल की लग रही है।

खेल-कूद

अरुण जेटली के निधन से शोक में डूबी टीम इंडिया, काली पट्टी बांधकर खेलेगी मैच

Published

on

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद भारतीय क्रिकेट टीम ने वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन अपने बाजुओं पर काली पट्टी लगाकर मैच खेलने का फैसला किया है।

आपको बता दें कि जेटली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के उपाध्यक्ष रह चुके हैं। बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने आईएएनएस के साथ बातचीत में कहा कि काली पट्टी बांधकर खेलने का विचार कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी का था, जिसका कि प्रशासकों की समिति (सीओए) और सीईओ राहुल जौहरी ने भी समर्थन किया।

उन्होंने कहा, “अनिरुद्ध को यह महसूस हुआ कि खिलाड़ियों को अपने बाजुओं पर उस व्यक्ति के सम्मान में काली पट्टी बांधकर खेलना चाहिए, जिन्होंने बीसीसीआई प्रशासन में बड़ी भूमिका निभाई है।”

चौधरी ने कहा कि जेटली का अचानक जाना, उनके लिए बहुत बड़ी निजी क्षति है क्योंकि उन्होंने पूर्व उपाध्यक्ष के साथ काफी समय तक काम किया था।

उन्होंने कहा, “जेटली जी के निधन के बारे में सुनकर गहरा दुख हुआ। मुझे बीसीसीआई में विभिन्न पदों पर उनके साथ काम करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। उनके पास किसी भी हालात को पढ़ने और अमूल्य सलाह देने की अभूतपूर्व क्षमता थी। मुझे लगता है कि इसी चीज ने उन्हें राजनीति और क्रिकेट की दुनिया में हर किसी के लिए एक खास व्यक्ति बना दिया।”

उन्होंने कहा, मैंने हर मुलाकात के साथ उनसे बहुत कुछ सीखा। उनका जाना मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है और मैं उन्हें हमेशा याद करूंगा। मैं उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।”

बीसीसीआई ने भी जेटली के निधन पर शोक व्यक्त किया है। बोर्ड ने अपने एक शोक संदेश में कहा, “बीसीसीआई अपने पूर्व उपाध्यक्ष और पूर्व आईपीएल संचालन परिषद के सदस्य जेटली के निधन पर शोक व्यक्त करता है। जेटली एक जुनूनी क्रिकेट प्रशंसक थे। उन्हें हमेशा क्रिकेट के सक्षम और सम्मानित प्रशासकों में से एक के रूप में याद रखा जाएगा।”

बीसीसीआई ने कहा, “दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष के रूप में लंबे कार्यकाल के दौरान उन्होंने क्रिकेट ढांचे में काफी बदलाव किया। वह क्रिकेटरों के हमेशा करीबी मित्र रहे और हमेशा उनके साथ खड़े रहे, उन्होंने उन्हें प्रोत्साहित किया और उनका समर्थन किया। बीसीसीआई उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना करता है।”

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending