Connect with us

खेल-कूद

सोना जीतकर देश का बढ़ाया था मान लेकिन अब दिहाड़ी मजदूर और वीलचेयर खींचने पर मजबूर ये खिलाड़ी

Published

on

नई दिल्ली। स्पेशल ओलम्पिक में दो स्वर्ण जीतने वाले 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल खेल को छोडक़र दिहाड़ी मजदूर और वीलचेयर खींचने का काम करने पर मजबूर है। इस देश की विड्मना है कि प्रतिभा के साथ न्याय होने के बावजूद इस खिलाड़ी की कद्र सरकार नहीं कर रही है। दरअसल स्पेशल ओलम्पिक में दो स्वर्ण पदक जीतने के बाद इस खिलाड़ी का भारत में जोरदार स्वागत किया गया था। इतना ही नहीं पंजाब सरकार ने 15 लाख रुपया देने का वादा किया था लेकिन अब तक उसे मदद नहीं मिली है। पंजाब में उस समय बीजेपी-अकाली दल की सरकार थी। सरकार की मदद न मिलने के चलते यह खिलाड़ी साइकिल टै्रक के बजाय उसे अब वीलचेयर खींचने की जरूरत पड़ गई है। राजबीर सिंह ने साल 2015 में स्पेशल ओलम्पिक वल्र्ड समर गेम्स में दो गोल्ड जीतकर देश का मान बढ़ा दिया था।

टूर्नमेंट के 1 और 2 किमी साइकिलिंग इवेंट का गोल्ड जीतने वाले राजबीर को पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने सम्मानित किया और 15 लाख रुपए के अलावा 1 लाख रुपए अतिरिक्त पुरस्कार भी देने का ऐलान किया, जबकि 10 लाख रुपये केंद्र्र सरकार की ओर से बॉन्ड्स के रूप में मिलने थे। इस बारे में मौजूदा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने कहा, कि अभी इसके बार में कोई जानकारी नहीं है लेकिन सरकार बहुत जल्द इस खिलाड़ी को हरसम्भव मदद देंगी।

राजबीर एक कमरे के छोटे से घर में रहता है। इस घर में चार और सदस्य गुजरबसर करने पर मजबूर है। पिता बताते हैं कि सरकार की तरफ से आर्थिक मदद नहीं मिलने की वजह से वह ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसी अन्य खिलाडिय़ों के साथ नहीं होना चाहिए।

उधर मई में मनुक्ता दी सेवा एनजीओ के फाउंडर गुरप्रीत सिंह ने कुछ आर्थिक मदद की है। उन्होंने राजबीर को काम देने के अलावा साइकिल, दवाइयों और डाइट की व्यवस्था की। वह बताते हैं कि राजबीर की सहायता के लिए मैं कोच और लुधियाना में खेले अधिकारियों के पास गया, लेकिन किसी ने सहायता नहीं की। कुल मिलाकर इस देश की सबसे बड़ी विड्मना है कि खिलाडिय़ों को आगे नहीं बढ़ाती है। पदक जीतने के बावजूद खिलाडिय़ों को उनका हक नहीं मिल पाता है। सरकार भले ही दावे करे कि वह खेलों के लिए विकास के हर सम्भव मदद दे रही है लेकिन इसमें कोई सच्चाई नहीं आ रही है।

अन्तर्राष्ट्रीय

4-0 से टेस्ट सीरीज़ हार सकता है भारत – माइकल क्लार्क

Published

on

By

pic - google

ऑस्ट्रेलियाई पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क का मानना है कि अगर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने भारत वापस लौटने से पहले वनडे और टी-20 क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करना होगा।अगर ऐसा नहीं हुआ तो टीम टेस्ट सीरीज 4-0 से गंवा सकती है।

पड़ोसी राज्यों में जलाई जा रही पराली से दिल्ली में हालात बद्तर : सत्येंद्र जैन

आपको बता दें कि 32 साल के कोहली को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने पैटरनिटी लीव दी है। ऐसे में सीमित ओवरों के पारूप में वो खेलते नजर आएंगे।लेकिन वो टेस्ट सीरीज़ पूरी खेलेंगे, ये पक्का नहीं है।

माइकल क्लार्क ने कहा कि कोहली को वनडे और टी-20 में फ्रंट से लीड करना होगा। उनके हिसाब से अगर टीम इंडिया ने वनडे और टी-20 में खराब प्रदर्शन करती है तो टेस्ट मैचों में काफी दिक्कत हो सकती है और ये भी संभव है कि भारत टीम 4-0 से सीरीज गंवा दे।

Continue Reading

Trending