Connect with us

खेल-कूद

IPL की नीलामी में बिकने को तैयार खिलाड़ी, जानें-कब होगी खिलाड़ियों की खरीद-फरोख्त

Published

on

मुम्बई। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के अगले संस्करण के लिए 27 और 28 जनवरी को होने वाली खिलाडय़िों की नीलामी बेंगलुरू करेगा।  भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अधिकारी ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी। अधिकारी ने   बताया, हां, नीलामी बेंगलुरू में 27 और 28 जनवरी को होगी।

जहां खिलाडय़िों की बोली लगाई जाएगी।  इस साल की नीलामी में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स की टीमें दो साल के प्रतिबंध के बाद हिस्सा ले रही हैं। नीलामी में एक टीम की राशि 66 करोड़ से बढ़ाकर 80 करोड़ कर दी गई है। एक फ्रेंचाइजी पांच खिलाडय़िों को अपने साथ बनाए रख सकती है।

इस बार आईपीएल के सीजन 11 में दो टीमों की वापसी हो रही है। ऐसे में इस बार का आईपीएल रोचक होगा। चेन्नई और सुपरकिंग्स की इस बार आईपीएल में वापसी करने को तैयार है। प्रतिबंध से पहले इस टीम की कमान धोनी के हाथ में थी। वहीं राजस्थान की टीम की कप्तानी शेन वॉट्सन के हाथो में थी।

आईपीएल 11 में इन दो टीमों की वापसी से के बाद ये देखना रोचक होगा कि धोनी चेन्नई में वापसी करेंगे या नहीं। हालांकि चेन्नई के फैन्स चाहेंगे कि धोनी की वापसी हो। धौनी के साथ सुरेश रैना, रविन्द्र जडेजा, रविचन्द्रन अश्विन, ड्वेन ब्रावो और एल्बी मोर्कल, भी चेन्नई का हिस्सा रह चुके हैं। कुल मिलाकर इस बार आईपीएल एक बार फिर पुराने रूप में नजर आयेंगी।

खेल-कूद

श्रीसंत से आजीवन प्रतिबंधन हटा, इस दिन से खेल सकेंगे क्रिकेट

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने क्रिकेटर एस. श्रीसंत को बड़ी राहत दी है। बीसीसीआई ने श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध को हटकर उनकी सजा 7 साल कर दी है।

इसी के साथ 13 सितंबर 2020 को श्रीसंत पर लगा बैन खत्म हो जाएगा। बीसीसीआई की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि श्रीसंत पर लगे प्रतिबंध को घटाकर सात साल करने का फैसला किया गया है।

गौरतलब है कि आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग में नाम आने पर श्रीसंत पर बीसीसीआई ने आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। 13 सितंबर 2013 को बोर्ड द्वारा आजीवन बैन लगाया था।

इससे पहले मार्च 2019 को श्रीसंत पर सुप्रीम कोर्ट ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजीवन प्रतिबंध हटा दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि बीसीसीआई श्रीसंत पर अपने लगाए प्रतिबंध पर फिर से विचार करे. लाइफटाइम बैन ज्यादा है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending