Connect with us

खेल-कूद

युवराज सिंह ने हासिल की खास उपलब्धि, बन गए डॉक्टर

Published

on

भोपाल। टीम इंडिया के सिक्सर किंग के नाम से मशहूर और स्टार आलराउंडर युवराज सिंह अब क्रिकेटर से डॉक्टर बन गए है। दरअसल युवराज सिंह को खेल में दिये योगदान के लिये ग्वालियर के आईएमटी विश्वविद्यालय ने गुरुवार को दर्शनशास्त्र में डॉक्टरेट की मानद् उपाधि से सम्मानित किया है। युवराज को यह सम्मान स्टेडियम में असाधारण खेल कौशल दिखाने के अलावा कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से निजात पाने के बाद दूसरों को हौसला देने के लिये दिया गया।

युवराज ने कहा, ‘डाक्टरेट की उपाधि पाकर मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं। इससे मुझे अतिरिक्त जिम्मेदारी का अहसास होता है और मैं अपने कार्यों से दूसरों के लिये उदाहरण बनना चाहता हूं।’ बता दें कि युवराज ने 400 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैचों में 10,000 से ज्यादा रन बनाये हैं। उन्होंने भारत के टी20 विश्व कप 2007 और एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप 2011 जीतने में अहम भूमिका निभाई थी।

युवराज के साथ-साथ डॉ. ए.एस. कुमार, गोविंद निहलानी (फिल्म जगत), डॉ. अशोक वाजपेयी (कविता), रजत शर्मा (मीडिया), डॉ. आर.ए. माशलेकर (विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी) और अरुणा राय (सामाजिक कार्य) को भी इस उपाधि से नवाजा गया है।

बता दें कि क्रिकेट से हटकर युवराज ने सामाजिक कार्यों में भी हिस्सेदारी दी है। कैंसर की बीमारी से जूझने और इससे बाहर निकलने के बाद उन्होंने ‘यू वी केन’ संस्था की शुरुआत की थी। इस संस्था का लक्ष्य कैंसर से पीडि़त लोगों की मदद करना और उन्हें इस बीमारी से लडऩे के लिए प्रेरित करना है।

खेल-कूद

अब बिरयानी के लिए तरसेंगे पाकिस्तान के खिलाड़ी, जानिए वजह

Published

on

नई दिल्ली। पाकिस्तान के नए कोच मिस्बाह-उल-हक ने कोच बनते ही खिलाड़ियों के बिरयानी और मिठाई खाने पर बैन लगा दिया है। मिस्बाह ने ऐसा खिलाड़ियों के फिटनेस ठीक करने के लिए किया है।

आपको बता दें कि वर्ल्ड कप भारत से हार का सामना करने के बाद पाकिस्तान के समर्थकों ने खिलाड़ियों के फिटनेस को लेकर सवाल उठाए थे।

पाकिस्तान के कप्तान सरफराज भारत से हारने के बाद पाकिस्तान की जनता के निशाने पर आ गए थे। उनकी फिटनेस को लेकर जनता ने उन्हें खूब ट्रोल किया था।

रिपोर्ट के अनुसार, मिस्बाह ने राष्ट्रीय कैम्प और घरेलू टूर्नामेंट में खिलाड़ियों की डाइट में बदलाव करने की मांग की है ताकि टीम में नया फिटेनस कल्र्चर लाया जाए। उन्होंने खिलाड़ियों को बिरयानी और मिठाइयां खाने से मना किया है।

पाकिस्तान के पत्रकार साज सद्दीक ने ट्वीट किया, “खबरों के अनुसार, मिस्बाह-उल-हक ने घरेलू टूनार्मेट और राष्ट्रीय कैम्प में खिलाड़ियों के लिए आहार और पोषण की योजना को बदल दिया है। अब खिलाड़ियों के लिए बिरयानी या मिठाइयां नहीं होगीं।”

मिस्बाह और वकार यूनिस के मार्गदर्शन में अपनी पहली सीरीज में पाकिस्तान का सामना श्रीलंका से होगा। पाकिस्तान अपने घर में श्रीलंका के खिलाफ 27 सितंबर से नौ अक्टूबर के बीच तीन वनडे और तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending