Connect with us

राजनीति

गुजरात रवाना हुए सीएम योगी, करेंगे मैराथन जनसभाएं

Published

on

लखनऊ। मिशन गुजरात को फतह करने के लिए बीजेपी ने अपने तुरुप के इक्के योगी आदित्यनाथ को उतार दिया है। यूपी निकाय चुनावों में कई जनसभाओं को संबोधित करने के बाद अब योगी गुजरात दौरे में एक दर्जन से अधिक जनसभाओं को सम्बोधित करेंगे। सीएम योगी मंगलवार को राजधानी लखनऊ में कई बैठकें की। इसके बाद तीन बजे वह गुजरात के लिए रवाना हो गए। वो यहां करीब पांच बजे वलसाड़ के उमरगांव व परड़ी में जनसभा को संबोधित करेंगे। वलसाड़ के सर्किट हाउस में सीएम रात्रि विश्राम करेंगे। बुधवार (29 नवंबर) को योगी आदित्यनाथ 11.45 से रात 8 बजे तक पटदी, जामनगर, रनावव और पोरबंदर में जनसभा को संबोधित करेंगे। सीएम बुधवार को पोरबंदर में रात्रि विश्राम करेंगे। गुरुवार (30 नवंबर) को सीएम कलवाड़ और भावनगर में जनसभा करेंगे। उसके बाद भावनगर से नई दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

इससे पहले सोमवार को बलरामपुर में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए योगी ने सपा-बसपा पर जमकर निशाना साधा। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार की प्राथमिकता है कि शहरी लोगों को उनके घर के आसपास बुनियादी सुविधा मिले और समस्याओं से निजात मिले। उन्होंने कहा कि सपा और बसपा की सरकारों की प्राथमिकता विकास नहीं, लूट-खसोट रही है। योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा, “प्रदेश में पिछली सरकारों ने सूबे की छोटी इकाइयों की अनदेखी की। नगर निकायों को भ्रष्टाचार तथा लूट का अड्डा बनाया। हमारी सरकार की प्राथमिकता छोटी इकाइयों के विकास की भी है।” योगी ने पूर्व प्रधानमंत्री अलट बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा, “बलरामपुर जनपद पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का कर्मस्थल रह चुका है। यहां के विकास को पिछली सरकारों ने बंद करा दिया था।”

उन्होंने पूर्व सरकारों पर निशाना साधाते हुए कहा कि सपा और बसपा की सरकारों की प्राथमिकता में विकास कभी था ही नहीं, लूट-खसोट और जाति-धर्म इनकी प्राथमिकता थी। योगी ने कहा, “हम लोग नगर निकाय को अधिक से अधिक सक्षम और जिम्मेदार बनना चाहते हैं और एक नई कार्य पद्धति के तहत काम करना चाहते हैं।” सरकार के कार्यो को गिनाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “गन्ना किसानों का एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का भुगतान इस बार हो चुका है। किसानों की खुशहाली में ही प्रदेश की खुशहाली निहित है। हरित अधिकरण (एनजीटी) ने कहा है कि अवैध बूचड़खाने बंद होने चाहिए, लेकिन पिछली सरकार ने ऐसा नहीं किया। हमारी सरकार बनते ही पहले इसे बंद करवाया गया।”

उन्होंने कहा, “पिछली सरकारों में लोगों को बिजली नहीं दी जाती थी, गांवों में बिजली कनेक्शन को जटिल बना दिया गया था। हमारी सरकार सभी को बिजली पहुंचा रही है। पिछली सरकार के मंत्रियों और विधायकों के घर में ही बिजली आती थी, लेकिन हमारी सरकार ने सभी को बिजली देने का काम करना शुरू किया, आज गांव-गांव तक बिजली पहुंच चुकी है।” योगी ने कहा, “हमने नगरीय क्षेत्रों में स्ट्रीट एलईडी लाइट लगवाने का काम करना शुरू कर दिया है। इसके लिए हमने नगरीय निकायों से पैसा नहीं लिया, इसके लिए मोदी सरकार पैसा दे रही है। 653 नगर निकायों को रोशनी से जगमगाने के लिए हमने काम शुरू कर दिया है, ये सभी नगर निकाय दीपावली की तरह रोज चमकेंगे।” उन्होंने कहा, “हमारी सरकार अगले तीन साल में चार लाख नौकरियां देगी। वहीं निजी क्षेत्र में हम करीब 10 लाख नौकरियां ले कर आ रहे हैं क्योंकि, यहां अब निवेश हो रहा है।”

Continue Reading

नेशनल

14 अप्रैल से आगे बढ़ सकता है लॉकडाउन! सर्वदलीय बैठक में मिला संकेत

Published

on

By

PHOTO - GOOGLE

सर्वदलीय बैठक में बुधवार को पीएम मोदी ने लॉकडाउन बढ़ाने के संकेत दे दिए हैं। सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में स्थिति ‘सामाजिक आपातकाल’ के समान है। इसके लिए कड़े फैसलों की जरूरत है और हमें निरंतर सतर्क रहना चाहिए।

कोरोना वायरस और लॉकडाउन को लेकर पीएम मोदी ने राजनीतिक पार्टियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए बात कर रहे थे। बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ अभी लंबी लड़ाई है।

भारत के इस राज्य में तैयार हुआ कोरोना से लड़ने वाला रोबोट, डॉक्टरों में खुशी

इस बैठक में बीजेपी, कांग्रेस, डीएमके, एआईएडीएमके, शिवसेना, एनसीपी, अकाली दल, एलजेपी, टीआरएस, सीपीआईएम, टीएमसी,जेडीयू, बीजेडी, एसपी, बीएसपी और वाईएसआर कांग्रेस के फ्लोर लीडर्स के साथ चर्चा की गई।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending