Connect with us

खेल-कूद

क्रिकेटर की शादी : भुवी का सेहरा लगा सुहाना तो नूपुर का दिल हुआ दीवाना

Published

on

लखनऊ। भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार गुरुवार को शादी रचाई। क्रिकेट की पिच पर बल्लेबाजों को चारों-खाने चित करने वाले भुवनेश्वर कुमार आखिरकार प्यार की पिच पर क्लीन बोल्ड हो गए। उनको क्लीन बोल्ड करने वाली नूपुर है। अपने बेटे के माथे पर सेहरा देखने की ललक हर मां को होती है। भुवी का मां भी अपने बेटे को दूल्हा बनता देख उनकी खुशी कोई ठिकाना नहीं रहा।

कोलकाता टेस्ट में अपनी गेंदबाजी की बदौलत श्रीलंकाई बल्लेबाजों की कमर तोडऩे वाले भुवी अपने घर मेरठ पर आज एकदम बदले हुए नजर आये। घर पर चारों ओर खुशी का नगाड़ा बज रहा था।

बुधवार से ही भुवी अपनी शादी की तैयारियों में लगे रहे। बुधवार की शाम भुवी के लिए खास बनी रही क्योंकि शादी से पूर्व कई रस्में भी आयोजित हुई, मेहंदी और महिला संगीत कार्यक्रम में लोक गीत, पंजाबी गीत और हिंदी फिल्मी गीतों पर भुवी का पूरा परिवार झूम रहा था।
इसके बाद वह घंडी भी आ गई जिसके लिए भुवी लम्बा इंतेजार कर रहे थे।

दरअसल गुरुवार को असली कार्यक्रम यानी शादी के लिए भुवी को तैयार होना था। रात में कई अनोठी रस्मों के बाद भुवी अपनी बचपन की दोस्त के साथ सात जन्मों के बंधन में बंधने को तैयारी में थे। बाराती सजने लगे और दूल्हा भी अपनी तैयारी के अंतिम रूप देने में लगे रहे। गुरुवार की सुबह भुवी की बारात उनके घर गंगानगर स्थित आवास से बड़ी धूमधाम से निकली।

शेरवानी में भुवी एकदम फब रहे थे। इकलौते बेटे को परिणय सूत्र में बंधवाने निकले पिता किरणपाल और उनकी मां के चेहरे की रंगत भी अपने उफान पर थी। माता-पिता, बड़ी बहन रेखा और परिजन गाजे-बाजे के साथ घर से ठुमके लगाते हुए कालोनी के शिवमंदिर तक पहुंचे और वहां पूजा-पाठ किया।

इसके बाद भुवी कार से दिल्ली-देहरादून हाईवे स्थित होटल ब्रावुरा पर पहुंचे, जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया है। नूपुर का पूरा परिवार इस मौके पर भुवी के स्वागत के लिए पलक-पावड़े बिछाकर इंतजार में खड़े थे। भुवी-नुपूर का वैवाहिक कार्यक्रम दिन में ही रखा गया है। बारातियों के जोरदार स्वागत होने के बाद वैवाहिक कार्यक्रम की तैयारी शुरू हो गई। विवाह सम्पन्न होने के बाद शाम को विदाई की रस्म भी पूरी कर ली गई।

खेल-कूद

VIDEO : आप भी हैं PUBG प्रेमी, तो देख लें ये Video! अब PUBG को कहना पड़ेगा Bye Bye!

Published

on

By

चीनी सामानों पर प्रतिबंध लगाने की मांग लगातार बढ़ती जा रही है। 59 चीनी मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगने के बाद अब बच्चों से जुड़े चीनी गेमों को भी बन्द करने की मांग उठने लगी है। मंगलवार को सूचना प्रद्योगिकी से जुड़ी संसदीय स्थायी समिति की बैठक में मौजूद सदस्यों ने बच्चों के बीच लोकप्रिय लेकिन विवादित चीनी गेम पबजी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। बैठक का एजेंडा डाटा प्राइवेसी और डाटा सुरक्षा था।

इसके अलावा कुछ सदस्यों ने 59 चीनी मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध के बावजूद देश में इस्तेमाल हो रहे चीनी ऐप पर चिंता जताई। इसमें सबसे प्रमुख तौर पर कैम स्कैनर का ज़िक्र किया गया। कैम स्कैनर मोबाइल पर कागजातों और तस्वीरों को स्कैन करने के काम आता है और 59 प्रतिबंधित मोबाइल एप्स में भी शामिल है।

सदस्यों ने विशेष तौर पर इस बात पर चिंता जताई कि इस ऐप का इस्तेमाल देश का पुलिस प्रशासन भी कर रहा है। सदस्यों की चिंता इस बात पर ज़्यादा थी कि कहीं इस एप के ज़रिए संवेदनशील जानकारी तो नहीं चुराई जा रही।

#BanPUBG #TikTokBanned #ChineseApps #BanChineseApps #BoycottChina #IndiaChinaBorder

Continue Reading

Trending