Connect with us

खेल-कूद

पीवी सिंधु के साथ फ्लाइट में बदसलूकी, लोगों ने इंडिगो एयरलाइंस को लताड़ा

Published

on

नई दिल्ली। भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु के साथ बदसलूकी का मामला सोशल मीडिया में छा गया है। देश का गौरव कहे जाने वाली पीवी सिंधु ने अपने साथ हुई बदसलूकी का खुलासा ट्वीट करके किया है। इतना ही नहीं इस मामले पीवी सिंधु बेहद खफा दिखी है।

ओलम्पिक में पदक जीतने वाली पीवी सिंधु ने ट्विटर पर लिखा है कि बड़े दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि 4 नवंबर को फ्लाइट संख्या- 6 ई 608 से मुम्बई की उड़ान के दौरान मेरा बहुत बुरा अनुभव रहा उन्होंने ग्राउंड स्टाफ अजितेश का नाम लिया। इतना ही पीवी सिंधु ने दूसरे ट्वीट में लिखा कि ग्राउंड स्टाफ (कप्तान) श्री अजितेश ने मेरे साथ बुरा बर्ताव किया और बुरी तरह पेश आए। जब एयर होस्टेस सुश्री आशिमा ने उससे यात्रियों (मेरे साथ) के साथ ठीक से व्यवहार करने की सलाह देने की कोशिश की, तो मुझे हैरानी है कि उनके साथ भी वह (ग्राउंड स्टाफ) बुरी तरह पेश आया।

 

यदि ऐसे लोग इंडिगो जैसी प्रतिष्ठित एयरलाइंस के लिए काम करते हैं, तो वह (एयरलाइंस) अपनी प्रतिष्ठा गंवा देगी। हालांकि इस पूरे मामले में पीवी सिंधु प्रशसंकों ने एयरलाइंस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। दूसरी ओर इंडिगो ने अपनी सफाई पेश करते हुए तर्क दिया है कि पीवी सिंधु फ्लाइट 6 ई 608 (हैदराबाद से मुंबई) आ रही थी।

इसी दौरान उनका लेगज जरुरत से ज्यादा बड़ा था। जिसके चलते ओवरसाइज सामान विभान में रखने की जगह के लिए फिट नहीं था। इतना ही उन्होंने आगे कहा कि नियम सबके लिए समान है। हालांकि ट्विटर कई लोग पीवी सिंधु के साथ है और लगातार उनके पक्ष में प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं। ट्विटर कुछ लोगों ने कहा कि राष्टï्र का गौरव पीवी सिंधु के साथ बुरा बर्ताव करने के लिए इंडिगो की कड़ी आलोचना की है। इस मामले में कई प्रशसंकों ने केंद्रीय नागरिक उड्यन
मंत्री इस मामले में हस्ताक्षेप करने को कहा है। कुल मिलाकर पीवी सिंधु देश का गौरव है और हाल के दिनों में उन्होंने बेहद शानदार प्रदर्शन कर देश का मान बढ़ा दिया है।

खेल-कूद

पूर्व क्रिकेटर कपिल देव को पड़ा दिल का दौरा, दिल्ली के अस्पताल में करवाई एंजियोप्लास्टी

Published

on

नई दिल्ली। भारत को 1983 का क्रिकेट वर्ल्ड कप दिलवाने वाले दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव को दिल का दौरा पड़ा है जिसके बाद उन्होंने दिल्ली के एक अस्पताल में एंजियोप्लास्टी करवाई है।

फिलहाल वह खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं और उनकी हालत स्थिर है। कपिल देव की यह खबर सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर उनके स्वास्थ्य लाभ को लेकर दुआओं का सिलसिला शुरू हो गया है। यूजर उनके जल्छ ठीक होने की कामना कर रहे हैं।

कपिल देव की कप्तानी में भारत ने 1983 में पहला वर्ल्ड कप जीता था। कपिल देव एक बेहतरीन ऑलराउंडर रहे हैं।

Continue Reading

Trending