Connect with us

नेशनल

हनीप्रीत का सबसे बड़ा ‘राजदार’ बरामद, कई साजिशों से उठ सकता है पर्दा

Published

on

पंचकूला। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख और बलात्कार के मामलें में 20 साल की सजा काट रहे गुरमीत सिंह की सबसे खास राजदार हनीप्रीत और विपासना शुक्रवार को पुलिस थाने में आमने-सामने हो गईं। विपासना ने नौ घंटे की पूछताछ के बाद हनीप्रीत का सबसे बड़ा राजदार यानी उसका मोबाइल फोन पुलिस की एसआईटी को सौंप दिया। पुलिस को उम्मीद हैकि वह फोन की मदद से राम रहीम के कारनामों का पर्दाफाश कर सकेगी। इसमें राम रहीम के मददगार कई रसूखदार लोगों के नाम भी बेपर्दा होने की उम्मीद है।

पुलिस के सामने हनीप्रीत और विपासना में जमकर बहस हुई। चार घंटे 51 मिनट तक हुई पूछताछ के दौरान हनीप्रीत और विपासना के सामने 40 क्रॉस सवालों के जवाब में विपासना ने कुछ नहीं बताया। हनीप्रीत ने विपासना और पुलिस के सामने कहा कि 17 अगस्त की मीटिंग में विपासना भी मौजूद थी, लेकिन विपासना ने इस बात को सिरे से नकार दिया।

पुलिस ने हनीप्रीत का काले रंग का आईफोन जब्त किया है और अब उसके लैपटॉप की तलाश है। अंडरग्राउंड होने से पहले यह फोन हनीप्रीत विपासना को दे गई थी। विपासना से आइफोन पुलिस को सौंप दिया है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिकफोन के होम बटन पर फिंगर प्रिंट लॉक लगा हुआ है। इस फोन को टेक्निकल लैब में जांच के लिए भेजा जाएगा। फोन में पंचकूला हिंसा से पहले और तुरंत बाद के दिनों के कॉल रिकॉर्ड्स और पुराना डेटा होने का पता चला है। हनीप्रीत यही फोन इस्तेमाल करती थी।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक हनीप्रीत के मोबाइल फोन में कुछ भडक़ाऊ वीडियो हो सकते हैं। हनीप्रीत पर आरोप है कि उसने डेरा के लोगों द्वारा दिए गए भडक़ाऊ भाषण मंगवाकर उनको सोशल मीडिया पर वायरल किया था।

सूत्रों की माने तो विपासना ने कई अहम बातें पुलिस को कई चीजें सत्यापित कराई हैं। विपासना ने नौ घंटे की मैराथन पूछताछ के दौरान एसआईटी के सामने कई अहम राज खोले हैं।

नेशनल

पूछताछ के बाद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को ईडी ने किया गिरफ्तार

Published

on

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। बुधवार को पी चिदंबरम से पूछताछ करने पहुंची प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 30 मिनट तक केस से जुड़े सवाल पूछे और बाद में उन्हें औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर लिया।

आपको बता दें कि मंगलवार को राउज एवेंयू कोर्ट ने ईडी को पूछताछ करने के लिए 30 मिनट की अनुमति दी थी। अब चिदंबरम को हिरासत में लेने के लिए ईडी कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी।

इससे पहले तिहाड़ जेल में चिदंबरम से ईडी के तीन अफसरों ने पूछताछ की थी। ईडी की पूछताछ के दौरान पी चिदंबरम की पत्नी नलिनी और बेटे कार्ति भी मौजूद थे।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending