Connect with us

बिजनेस

आईडीएसए के नए अध्यक्ष चुने गए विवेक कटोच

Published

on

नई दिल्ली, 4 अक्टूबर (आईएएनएस)| ओरिफ्लेम इंडिया के कारपोरेट अफेयर्स के निदेशक विवेक कटोच को इंडियन डायरेक्ट सेलिंग एसोसिएशन (आईडीएसए) का नया अध्यक्ष चुना गया है साथ ही हर्बललाइफ की रिनी सान्याल को उपाध्यक्ष चुना गया है। एसोसिएशन की 21वीं सालाना बैठक में कोषाध्यक्ष के रूप में एवन ब्यूटी प्रोडक्ट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के कानूनी और सरकारी मामलों के निदेशक जितेंद्र जगोता जबकि सचिव के रूप में एमवे इंडिया एंटरप्राइजेज के कॉपोर्रेट अफेयर्स के वीपी रजत बनर्जी को चुना गया है।

आईडीएसए की 27 सितम्बर 2017 को आयोजित सालाना आम बैठक में समिति के नए अध्यक्ष विवेक कटोच ने कहा, वर्ष 2016 उद्योग के लिए एक महत्वपूर्ण वर्ष था क्योंकि हमने उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय को डायरेक्ट सेलिंग के दिशानिर्देशों पर साथ आते देखा और आने वाले साल भी हमारे लिए समान रूप से महत्वपूर्ण होंगे।

आईडीएसए 1996 में स्थापित हुई थी और इसका मुख्यालय दिल्ली में स्थित है। आईडीएसए भारत में डयारेक्ट सेलिंग उद्योग के लिए एक स्वायत्त, स्व-नियामक संस्था है। एसोसिएशन भारत के प्रत्यक्ष बिक्री उद्योग के लिए सुविधा प्रदान करने वाली सरकार और नीति बनाने वाली संस्थाओं के बीच सेतु का कार्य करता है।

Continue Reading

नेशनल

लोगों की हुई बल्ले – बल्ले, ATM में 100 रुपए की जगह निकले 500 रुपए की नोट

Published

on

क्या आपके साथ भी कभी ऐसा हुआ है कि एटीएम से 100 रुपए के नोट निकालने जाएं लेकिन एटीएम आपको 500 रुपए की नोट दे। ऐसा ही कुछ राजस्थान के हनुमानंग स्टेशन के एटीएम में हुआ। वहां के सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम में लोगों ने 100 रुपए निकालने के लिए ट्रांजेक्शन किया तो 500 मिले। मतलब यह कि पांच सौ से कम रुपए निकालने पर भी लोगों को पांच सौ रुपए मिलते रहे। ऐसे में इस एटीएम पर नोट निकालने वालों की भीड़ लग गई। जब तक शाखा प्रबंधक को इस बात का पता चला तब तक इस से एटीएम से 156 लोग तीन लाख रुपए कैश निकाल ले गए।

बताया जाता है कि 21 जुलाई को बैंक के एटीएम में रुपए निकालने गए लोग उस समय हैरान रह गए जब सौ रुपए से चार सौ रुपए तक निकालने पर भी पांच सौ रुपए के नोट निकलते रहे। बैंक प्रबंधन का कहना है कि पिछले 21 जुलाई को 100 की कैसिट में पांच सौ के नोट डाले जाने की गलती से ऐसा हुआ है। फिलहाल, एटीएम से निकाले गए रुपए की रिकवरी के साथ जांच की जा रही है। वहीं एटीएम में कैश डालने वाले कर्मचारी से भी पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि सीएमएस कर्मचारी ने गलती से सौ रुपए के नोट की कैसिट में पांच सौ रुपए के नोट डाले जाने से ऐसा हुआ है। कैसिट में तीन लाख रुपए डाले गए थे।

 

प्राप्त जानाकरी के अनुसार, एटीएम में नोट भरते समय सीएमएस कर्मचारी ने गलती से 100 रुपए के कैसेट में 500 रुपए का नोट भर दिया था। इस कैसेट में कुल 3 लाख डाले गए थे। शुरूआती जांच में बैंक ने उन 156 लोगों का पहचान कर लिया है जिन्होंने इस गड़बड़ी का फायदा उठाते हुए एटीएम से पैसे निकाले थे। 20 से 25 लोगों से इसकी रिकवरी भी कर ली गर्इ है। इस पूरी गड़बड़ी का पता 10 दिन बात 31 जुलार्इ को पता चला। जिसके बाद कंपनी के कर्मचारी ने बैंक, शाखा प्रबंधक और जंक्शन थाना को इस बात की सूचना दी थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending