Connect with us

नेशनल

टीवी चैनल पर प्रकट हुईं हनीप्रीत, कई राज किए बेपर्दा, आज करेंगी सरेंडर

Published

on

नई दिल्ली। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सजा के बाद से फरार चल रही उनकी करीबी और बेटी हनीप्रीत इंसा आमने आ गई हैं। पुलिस को कई दिनों से चकमा दे रहीं हनीप्रीत मंगलवार को कुछ समाचार चैनलों पर नजर आईं।

हनीप्रीत ने कहा है कि वह अपना पक्ष पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के सामने रखेंगी। राम रहीम की बेहद करीबी रहीं हनीप्रीत ने कहा है वो इस पूरे मामले में कानूनी सलाह लेंगी। हनीप्रीत ने अपने और राम रहीम के रिश्ते पर भी सफाई दी। हनीप्रीत ने कहा कि उनका और राम रहीम का रिश्ता बेहद पवित्र था। बातचीत में हनीप्रीत ने खुद को बेकसूर बताया है। हनीप्रीत ने राम रहीम को पूरी तरह से निर्दोष बताया और साथ ही उनके साथ अपनी करीबियों पर भी काफी कुछ बातें कहीं।

इस बीच ये संभावनाएं भी बलवती हो गई हैं कि हनीप्रीत मंगलवार को पंचकूला में पुलिस के समक्ष सरेंडर कर सकती हैं। बता दें कि हनीप्रीत के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज है और वह 26 अगस्त से फरार है। पुलिस उसकी तलाश में नेपाल, राजस्थान और मुबंई सहित कई जगहों पर छापे मार चुकी है। पिछले दिनों उसने दिल्ली हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी, लेकिन कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया।

न्यूज चैनल पर प्रकट हुईं हनीप्रीत ने कहा कि उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा था कि वह क्या करें। उन्होंने बताया कि वह हरियाणा से किसी तरह दिल्ली गई। अब वह हरियाणा-पंजाब कोर्ट में जाऊंगी। सरेंडर के सवाल पर हनीप्रीत ने कहा कि वह कानूनी सलाह लेंगी। हनीप्रीत की मानें तो वह कभी भी नेपाल नहीं गईं और देश में ही रह रही थीं।

नेशनल

बडगाम में आतंकियों ने भाजपा नेता को उतारा मौत के घाट

Published

on

जम्मू| जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने भाजपा नेता की गोली माकर हत्या कर दी। मृतक अब्दुल हमीद नाजर बडगाम जिले के ओमपोरा इलाके में भारतीय जनता पार्टी के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) मोर्चा के जिलाध्यक्ष थे। अब्दुल हमीद नजर को आतंकवादियों ने रविवार की सुबह उनके घर के पास गोली मार दी थी। वह सुबह की सैर के लिए घर से निकले थे।

गोलियां लगने से गंभीर रूप से घायल हुए नजर को अस्पताल ले जाया गया जहां सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई। इस घटना को लेकर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।

आतंकी विशेष रूप से भाजपा नेताओं को निशाना बना रहे हैं। जून माह से अब तक चार भाजपा नेताओं पर हमले हो चुके हैं। 11 जुलाई को बांदीपोरा के पूर्व जिला अध्यक्ष वसीम बारी की उनके पिता और भाई समेत हत्या कर दी गई थी। इसके बाद 15 जुलाई को सोपोर में भाजपा नेता मेहराजुद्दीन मल्ला को अगवा किया गया था, हालांकि इन्हें दस घंटे में ही मुक्त करा लिया गया था। इसके बाद चार अगस्त को कुलगाम में पंच पीर आरिफ अहमद शाह को गोली मार दी गई थी,छह अगस्त को सज्जाद खांडे की हत्या कर दी गई।

Continue Reading

Trending