Connect with us

ऑफ़बीट

रावण दहन देखने गई लड़की को उठा ले गए राक्षस, किया गैंगरेप

Published

on

एक ओर जहां कल पूरे देशभर में दशहरा मनाया जा रहा था। हर तरफ बुराई पर अच्छाई की जीत के नारे लग रहे थे तो वहीँ दूसरी ओर कुछ राक्षस अपने अन्दर जागी हवस को अंजाम देने का काम कर रहे थे।

जी हाँ बिहार के मुजफ्फरपुर से एक ऐसा दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है जिसने सभी को खामोश कर ये सोचने पर मजबूर कर दिया की आखिर वो दिन कब आएगा जब इस देश की हर एक बेटी खुद को अकेले में भी सुरक्षित महसूस करेगी?

दरअसल, यहाँ कटरा थाना इलाके में मेला घूमने गई एक लड़की को अकेली पाकर चार युवकों ने उसका अपहरण कर लिया। युवकों ने एकांत में ले जाकर उसके साथ गैंग रेप किया।

किसी तरह भागी लड़की ने जब आपबीती बताई तो इस घटना की जानकारी सभी लोगों तक पहुंची। लड़की ने कटरा थाना में घटना की एफआइआर दर्ज करा दी है। फिलहाल आरोपित अभी भी फरार हैं।

ऑफ़बीट

इस गांव में कुंवारी लड़कियों को कपड़े उतारकर करना पड़ता हैं डांस, फिर प्रधान करता है उनके साथ….

Published

on

नई दिल्ली। दुनिया में कई ऐसे कई देश हैं जो अपने अजीबोगरीब प्रथा की वजह से फेमस हैं। आज हम आपको ऐसा ही एक देश के बारे में बताने जा रहे हैं जहां के अजब-गजब कानून के बारे में जानकर आप दंग रह जाएंगे।

हम बात कर रहे हैं स्वाजीलैंड की। स्वाजीलैंड एक अफ्रीकी देश है जो अपनी प्रथा की वजह से पूरी दुनिया में फेमस है। यहां हर साल अगस्त-सितंबर महीने में महारानी की मां के शाही गांव लुदजिजिनी में ‘उम्हलांगा सेरेमनी’ फेस्टिवल होता है।

इस त्योहार में 10 हजार से ज्यादा कुंआरी लड़कियां और बच्चियां शामिल होती हैं। इस अजीबोगरीब त्योहार में कुंआरी लड़कियों को राजा और वहां मौजूद जनता के सामने डांस करना होता है।

लेकिन हैरान कर देने वाली बात ये है कि लड़कियों को राजा के सामने कपड़े निकालकर डांस करना होता है। इस त्योहार को मनाने पीछे परंपराओं को बेहतर तरीके से समझने का हवाला दिया जाता है।

मीडिया रिपोट्स के मुताबिक अगर लड़कियां यहां शादी से पहले प्रेग्नेंट हो जाती हैं तो उनके परिवार को जुर्माना भी देना होता है। जुर्माने के तौर पर लोगों को एक गाय देनी होती है।

इस देश के राजा ने 14 शादियां की हुई हैं, जिससे उन्हें 25 बच्चे हैं। हाल ही में एक रिपोर्ट आई थी कि राजा ने आदेश दिया है कि यहां के लोग कम से कम दो शादियां करें, नहीं तो उन्हें जेल हो जाएगी। हालांकि राजा ने इस खबर को सिरे से खारिज किया है। उनका कहना है कि उन्होंने ऐसा कोई भी आदेश नहीं दिया है।

पिछले साल यहां के राजा मस्वाती तृतीय ने देश का नाम बदलकर ‘द किंगडम ऑफ इस्वातिनी’ रखा था। देश की आजादी के 50 साल पूरे होने पर यह अनोखी घोषणा की गई थी।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending