Connect with us

प्रादेशिक

छात्रा ने क्लास में लगाई फांसी , वजह है हैरान करने वाली

Published

on

रायपुर/जगदलपुर। छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में एक स्कूली छात्रा ने कक्षा में ही फांसी लगाकर जान दे दी। घटना महारानी लक्ष्मीबाई कन्या शाला की बताई जा रही है। छात्रा के स्कूल में तिमाही परीक्षा चल रही थी। जगदलपुर एसपी आरिफ शेख ने कहा कि स्कूल में ऐसी घटना हुई है, लेकिन आत्महत्या का कारण क्या है इसकी जांच की जा रही है।

एसपी ने कहा कि पथरागुड़ा निवासी 15 वर्षीय छात्रा नकल करते पकड़े जाने के बाद से काफी परेशान थी। ऐसा माना जा रहा है कि उसकी इस हरकत की जानकारी घर पर लग जाने के बाद वह और भी परेशान हो गई और उसने फांसी लगाने जैसा कदम उठा लिया। छात्रा की बड़ी बहन भी इसी स्कूल में 12वीं में पढ़ाई कर रही है।

मृतिका की कक्षा शिक्षिका लक्ष्मी मिश्रा और प्राचार्य ज्योति श्रीवास्तव का कहना है कि वह पढ़ने में होशियार थी और सामान्य छात्रा नहीं थी। ऐसे में वह विज्ञान के पर्चे में गाइड लेकर क्यों पहुंची, यह समझ से परे है। इधर छात्रा की आत्महत्या के बाद स्कूल की प्राचार्या ज्योति श्रीवास्तव ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया है।

इधर मामले पर चर्चा करते हुए कलेक्टर धनंजय देवांगन ने कहा कि पूरी घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। स्कूलों में बच्चों पर निगरानी रखने के लिए नए सिरे से निर्देश निकाले जाएंगे। वहीं एसपी शेख ने कहा कि प्रशासन और पुलिस दोनों मिलकर मामले की जांच कर रहे हैं।

प्रादेशिक

आजम खान को हाई कोर्ट से झटका, बेटे की विधायकी हुई रद्द

Published

on

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने बड़ा झटका दिया है। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अब्दुल्ला आजम की विधायकी रद्द कर दी है।

आरोप है कि चुनाव लड़ते वक्त अब्दुल्ला आजम की उम्र पूरी नहीं थी और इसके लिए उन्होंने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया।

अब्दुल्ला आजम के खिलाफ यह शिकायत बसपा उम्मीदवार नवाब काजिम अली ने दर्ज कराई थी। बसपा प्रत्याशी का आरोप था थी 25 साल के न होने के बावजूद चुनाव लड़े थे।

इसी शिकायत पर सुनवाई के बाद इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 27 सितम्बर को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था, जिसके बाद जस्टिस एसपी केसरवानी की बेंच ने फैसला सुनाया है।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending