Connect with us

मुख्य समाचार

आखिर कौन है वो वकील? जो फांसी के 86 साल बाद भगत सिंह को दिला रहा इन्साफ

Published

on

एक अंग्रेज पुलिस अधिकारी की हत्या के मामले में स्वतंत्रता सेनानी शहीद भगत सिंह को फांसी पर लटकाने के 86 साल बाद उन्हें बेगुनाह साबित करने के लिए एक पाकिस्तानी वकील लाहौर हाई कोर्ट में कानूनी लड़ाई लड़ रहा है

वकील इम्तियाज राशिद कुरैशी ने अर्जी देकर याचिका पर जल्द सुनवाई का आग्रह किया।

बता दें कि, लाहौर हाई कोर्ट की बेंच ने फरवरी में चीफ जस्टिस से कुरैशी की याचिका पर सुनवाई के लिए बड़ी बेंच का गठन करने का आग्रह किया था। लेकिन इसके बावजूद अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी है।

कुरैशी लाहौर में भगत सिंह ममोरियल फाउंडेशन चलाते हैं। याचिका में कुरैशी ने कहा था कि भगत सिंह एक स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने बंटवारे से पहले के हिंदुस्तान की आजादी के लिए संघर्ष किया था।

याचिका में अदालत से फिर से विचार करने के सिद्धांतों का पालन करते हुए भगत सिंह की सजा रद्द करने और सरकार को उन्हें राजकीय सम्मान देने का आदेश देने की मांग की गयी है। भगत सिंह को 23 साल की उम्र में ब्रिटिश शासकों ने 23 मार्च 1931 को फांसी पर चढ़ा दिया था।

 

प्रादेशिक

विकास दुबे की मौत की खबर सुनकर मां सरला देवी की ताबियत बिगड़ी

Published

on

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मुख्य आरोपी मोस्टवांटेड गैंगस्टर विकास दुबे गुरुवार को उज्जैन से गिरफ्तार किया गया। यूपी एसटीएफ उसे लेकर कानपुर आ रही थी कि तभी रास्ते में जिस गाडी में वो बैठा था वो पलट गई। इसके बाद उसने एसटीएफ के एक सिपाही से पिस्टल छीन भागने की कोशिश की लेकिन मुठभेड़ में वो मार गिराया गया।

विकास दुबे के मरने की खबर जब उनकी मां सरला देवी को पता चली, तो उन्होंने मीडिया से दूरी बना ली और अपने आप को अपने घर में बंद कर लिया। यह भी कहा जा रहा है कि उनकी तबीयत भी बिगड़ गई है। हालांकि इस बीच सरला देवी ने पुलिस से कहा कि बेटे विकास दुबे से उनका कुछ लेना-देना नहीं है।

इसके साथ ही मां सरला देवी ने पुलिस से कहना है कि वो कानपुर नहीं जाना चाहती है। उन्होंने कहा कि वो लखनऊ में हैं और वहीं रहना चाहती हैं। सरला दुबे अपने दूसरे बेटे दीप प्रकाश की पत्नी के साथ लखनऊ में कृष्णा नगर के इंद्रलोक कॉलोनी में रहती हैं।

#VIKASDUBEY #MOTHER #SARLADEVI

Continue Reading

Trending