Connect with us

मुख्य समाचार

आखिर कौन है वो वकील? जो फांसी के 86 साल बाद भगत सिंह को दिला रहा इन्साफ

Published

on

एक अंग्रेज पुलिस अधिकारी की हत्या के मामले में स्वतंत्रता सेनानी शहीद भगत सिंह को फांसी पर लटकाने के 86 साल बाद उन्हें बेगुनाह साबित करने के लिए एक पाकिस्तानी वकील लाहौर हाई कोर्ट में कानूनी लड़ाई लड़ रहा है

वकील इम्तियाज राशिद कुरैशी ने अर्जी देकर याचिका पर जल्द सुनवाई का आग्रह किया।

बता दें कि, लाहौर हाई कोर्ट की बेंच ने फरवरी में चीफ जस्टिस से कुरैशी की याचिका पर सुनवाई के लिए बड़ी बेंच का गठन करने का आग्रह किया था। लेकिन इसके बावजूद अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी है।

कुरैशी लाहौर में भगत सिंह ममोरियल फाउंडेशन चलाते हैं। याचिका में कुरैशी ने कहा था कि भगत सिंह एक स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने बंटवारे से पहले के हिंदुस्तान की आजादी के लिए संघर्ष किया था।

याचिका में अदालत से फिर से विचार करने के सिद्धांतों का पालन करते हुए भगत सिंह की सजा रद्द करने और सरकार को उन्हें राजकीय सम्मान देने का आदेश देने की मांग की गयी है। भगत सिंह को 23 साल की उम्र में ब्रिटिश शासकों ने 23 मार्च 1931 को फांसी पर चढ़ा दिया था।

 

उत्तराखंड

चमोली सड़क हादसे में मृतक के परिजनों को सीएम त्रिवेंद्र ने 2-2 लाख रुपए देने का किया एलान

Published

on

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जनपद चमोली के तहसील थराली के देवाल के पास हुई वाहन दुर्घटना में मृतक परिजनों को 2-2 लाख रूपए व गम्भीर घायलों को 50-50 हजार रूपए की सहायता मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से दिए जाने के निर्देश दिए हैं।

उत्तराखंड में वलाण-देवाल मार्ग पर वाहन के कैल नदी में गिर जाने से वलाण गांव के आठ लोगों की मौत हो गई थी। हादसे में पांच लोग घायल हो गए जबकि एक लापता है।

दो घायलों को श्रीनगर रेफर कर दिया गया है। यह सभी लोग गांव के एक बुजुर्ग की अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए वलाण से देवाल आ रहे थे।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending