Connect with us

मुख्य समाचार

ऑस्ट्रेलिया में भगवान गणेश को लेकर जारी किया आपत्तिजनक विज्ञापन

Published

on

नई दिल्ली। पूरे देश में गणपति विसर्जन के पर्व के दौरान ऑस्ट्रेलिया में एक ऐसा विज्ञापन जारी हुआ है, जिसने भगवान गणेश के भक्तों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का काम किया है।

दरअसल इस विज्ञापन में एक टेबल पर भगवान गणेश और अन्य धर्मों के ईश्वरीय रूपों को मेमने के मांस के उपभोग को बढ़ावा देते हुए दिखाया गया है। इसके बाद से लोगों में उबाल है। ऑस्ट्रेलिया में रह रहे हिन्दू समुदाय ने इस विवादित विज्ञापन को तुरंत वापस लेने की मांग की है।

अब इस मामले को लेकर विवाद काफी बढ़ गया है। भारत ने ऑस्ट्रेलिया के सामने मांस खाते भगवान गणेश वाले विज्ञापन पर अपना कूटनीतिक विरोध दर्ज कराया है।

कैनबरा में भारतीय उच्चायोग ने ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्रालय, फूड डिपार्टमेंट के सामने शिकायत दर्ज करते हुए मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक्शन लेने की बात की है।

विज्ञापन में हिंदू देवता गणेश के अलावा यीशु, बुद्ध और थॉर को भी दिखाया गया है जो कि मेमने के मांस से सजी मेज के चारों ओर बैठे हैं। विज्ञापन कहता है कि मेमने को हम सब खा सकते हैं। इस विज्ञापन को मीट एंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया (एमएलए) ने जारी किया है। इसमें बताया गया है कि आप किसी भी धर्म को मानने वाले हों, चाहे जो आपका पृष्ठभूमि हो, लेकिन इस मीट के लिए सब एक हो जाते हैं।

इंडियन सोसाइटी ऑफ वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के प्रवक्ता नितिन वशिष्ठ ने कहा कि हिंदू देवता गणेश के ऊपर विज्ञापन बहुत सेंसेटिव मामला है। ऑस्ट्रेलिया में इस तरह के ऐड कंटेंट पर नजर रखने वाली एजेंसी ‘ऑस्ट्रेलियन स्टैंडर्ड्स ब्यूरो’ इसकी जांच कर रहा है।

लोगों ने इस विज्ञापन को लेकर सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा दिखाया है।

 

नेशनल

‘किसानों के बाद अब मोदी सरकार का मजदूरों पर वार’ – राहुल गांधी का सरकार पर वार

Published

on

By

मानसून सत्र में कृषि से जुड़े कई बड़े बिल पास हुए हैं, जिसको लेकर विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार पर हमलावर हैं। साथ ही उसे किसान और मजदूर विरोधी भी बताया जा रहा है।

एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत सिंह समेत 7 लोगों को समन जारी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी भी इस मुद्दे के खिलाफ सरकार लगातान निशाना साध रहे हैं। अब उन्होंने संसद में पास हुए उस बिल का विरोध किया है, जिसमें निजी कंपनियों को छंटनी की इजाजत दी गई है। कर्जमाफी के मुद्दे पर राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस ने जो कहा है वो किया है, बीजेपी के सारे वादे झूठे हैं।

राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि किसानों के बाद अब मोदी सरकार का मजदूरों पर वार। गरीबों का शोषण, ‘मित्रों’ का पोषण…यही है बस मोदी जी का शासन।साथ उन्होंने एक न्यूज पेपर की कटिंग भी पोस्ट की है, जिसमें छंटनी संबंधित बात कही गई है।

#Rahulgandhi #congress #monsoonsession #pmmodi

Continue Reading

Trending